सर आइज़क न्यूटन की जीवनी | Biography Of Isaac Newton In Hindi

Biography Of Isaac Newton In Hindi

स्कूल की किताबो में आइज़क न्यूटन का जिक्र बहुत बार आया है। इस पोस्ट Information And Biography Of Isaac Newton In Hindi में आइज़क न्यूटन का जीवन परिचय और आविष्कार के बारे में जानने का प्रयास करेंगे। आप जानते हो की न्यूटन ने गुरुत्वाकर्षण बल को समझाया था। दुनिया के सबसे महान वैज्ञानिकों में न्यूटन पहले नंबर पर आते है। विज्ञान के क्षेत्र में न्यूटन का योगदान कभी भुलाया नही जा सकता है।

आइज़क न्यूटन का जीवन परिचय Biography Of Isaac Newton In Hindi

न्यूटन का जन्म महान वैज्ञानिक गैलेलियो की मृत्यु के वर्ष में हुआ था। 25 दिसम्बर 1642 को क्रिसमस के दिन Newton का जन्म लकाशयर इंगलेंड में हुआ था। न्यूटन का पूरा नाम सर आइज़क न्यूटन (Sir Isaac Newton) था।

न्यूटन का मन हमेशा से ही गणित में लगता था। वे हमेशा ब्रह्माण्ड के अनसुलझे रहस्यो के बारे में सोचते रहते थे। न्यूटन धार्मिक प्रवृत्ति के इंसान थे और उनका विश्वास ईश्वर में था। न्यूटन के समय केप्लर और गैलेलियो के नियम पढ़ाये जाते थे।

जब तक दुनिया रहेगी न्यूटन को उनके गुरुत्वाकर्षण की खोज के लिए हमेशा याद रखा जाएगा। न्यूटन की इस खोज ने उनका नाम विज्ञान जगत में हमेशा के लिए अमर कर दिया।

न्यूटन की खोज गुरुत्वाकर्षण बल

एक दिन न्यूटन एक सेब के पेड़ के नीचे बैठे हुए थे कि तभी उनके ऊपर एक सेब आकर गिरा, वेसे तो यह एक साधारण बात थी लेकिन इस धटना से न्यूटन गहन चिंतन में डूब गए और उन्होंने सोचा कि यह सेब नीचे ही क्यों गिरा? और ऊपर की तरफ क्यों नही गया?

धुन के पक्के न्यूटन इसके बाद इस पर रिसर्च करने में लग गए की ऐसी कोनसी शक्ति है जिसकी वजह से सेब धरती की तरफ नीचे आया ना कि आसमान की तरफ ऊपर गया।

कई साल न्यूटन ने इस पर गुरुत्वाकर्षण शोध किया और पता लगाया कि हमारी धरती में एक शक्ति है जो हर चीज को अपनी और खिंचती है। न्यूटन ने इस शक्ति को गुरुत्वाकर्षण बल का नाम दिया। यही एक बल है जिसके कारणवश पृथ्वी सूर्य के चारो तरफ चक्कर लगा रही है और चन्द्रमा अपनी धरती के चारो और चक्कर लगा रहा है।

न्यूटन ने अपने शोध में यह भी बताया कि यह बल दूरी बढ़ने के साथ घटता जाता है। गुरुत्वाकर्षण बल ही है जो ब्रह्माण्ड में स्थिरता प्रदान करता है। इसी बल की वजह ब्रह्माण्ड में तारों की उत्पत्ति हुई और आकाशगंगाऐ बनी। हर ग्रह अपने सूर्य की परिक्रमा इसी बल की वजह से करता है।

यह भी पढ़े – गुरुत्वाकर्षण बल क्या है?

सर आइज़क न्यूटन की खोज (Isaac Newton Discovery Information In Hindi)

1. गुरुत्वाकर्षण की महान खोज के अलावा भी कई ऐसी खोजे थी जिनका श्रेय न्यूटन को जाता है। इनमे से एक खोज प्रकाश के रंगों की थी। न्यूटन ने बताया कि प्रकाश कई रंगों से मिलकर बनता है।

2. न्यूटन के गति के सम्बंध में दिए गए तीन नियम को कौन नही जानता है। गति के यह तीन नियम आधुनिक भोतिकी के आधार स्तम्भ है।

यह भी पढ़े – न्यूटन के गति के नियम

3. आपने गणित में समाकलन और अवकलन तो पढे ही होंगे और आपकी जानकारी के लिये बता देता हु की इन कैलकुलस की खोज न्यूटन ने ही कि थी।

4. न्यूटन ने ही बताया था कि पृथ्वी गोल नही अंडाकार घूमती है और हाँ भारत के महान गणितज्ञ आर्यभट ने भी यही बताया था।

5. Binomial Theorem तो आपने गणित के विषय मे जरूर पढ़ी होगी, यह प्रमेय न्यूटन की ही देन है।

दुनिया के इस महान वैज्ञानिक का निधन 20 मार्च 1727 को लन्दन में हुआ था। न्यूटन की खोज आज भी प्रासंगिक है और उनका आज भी उतना ही महत्त्व है जितना उस समय था। गुरुत्वाकर्षण बल को जानने के बाद ही ब्रह्माण्ड को समझ पाए है।

दोस्तों, यह लेख आइज़क न्यूटन की जीवनी Biography Of Isaac Newton In Hindi आपको कैसी लगी? अगर यह पोस्ट “Information About Isaac Newton In Hindi” अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरुर करना। “न्यूटन के आविष्कार और न्यूटन की जीवनी” पर आपके विचारो का स्वागत है।

महान वैज्ञानिको का जीवन परिचय –

About the Author: Knowledge Dabba

नॉलेज डब्बा ब्लॉग टीम आपको विज्ञान, जीव जंतु, इतिहास, तकनीक, जीवनी, निबंध इत्यादि विषयों पर हिंदी में उपयोगी जानकारी देती है। हमारा पूरा प्रयास है की आपको उपरोक्त विषयों के बारे में विस्तारपूर्वक सही ज्ञान मिले।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *