मुगल वंशावली, मुग़ल बादशाहों की सूची (Mughal Vansh List) In Hindi

Mughal Vansh And Emperor Name In Hindi – मुगल वंशावली, मुग़ल साम्राज्य के बादशाहों की सूची और उनके बारे में सामान्य जानकारी देने का प्रयास यहां पर है। मुगलकाल भारतीय इतिहास का एक बड़ा हिस्सा रहा है। बादशाह बाबर से शुरू हुआ मुगल साम्राज्य बहादुर शाह जफर तक रहा था।

मुगल वंशावली (Mughal Vansh (Family) Tree In Hindi) के प्रत्येक बादशाह का एक इतिहास रहा है। उनके द्वारा किये गए कार्य,युद्ध, निर्माण आज भी इतिहास में पढ़ाये जाते है। तो आइए दोस्तों, मुग़ल वंश के शासकों के नाम (Mughal Emperor Vansh Name In Hindi) पढ़ते है।

Mughal Vansh In Hindi

मुग़ल बादशाहों की सूची Mughal Emperor List In Hindi

1. मुगल बादशाह बाबर (King Babur) – First Emperor Of Mughal Vansh

शासन का समय – वर्ष 1526 से 1530 तक।

प्रथम मुगल बादशाह बाबर था। इनको तैमूर लंग का वंशज भी माना जाता है। बाबर ने भारत में दिल्ली सल्तनत के आखिरी सुल्तान इब्राहिम लोदी को हराकर मुगल साम्राज्य की शुरुआत की थी। वर्ष 14 फरवरी 1483 को बाबर का जन्म हुआ था जबकि मृत्यु 26 दिसम्बर 1530 को हुई थी। बाबर के पिता का नाम उमर शेख मिर्ज़ा था।

यह भी पढ़े – मुग़ल बादशाह बाबर का इतिहास

2. मुगल बादशाह हुमायूँ (King Humayun)

शासन का समय – वर्ष 1530 से 1540 तक और वापस 1555 से 1556 तक।

बादशाह बाबर का पुत्र हुमायूँ था। हुमायूँ का पूरा नाम नसीरुद्दीन हुमायूँ था जिनका पुत्र अकबर था। इनका जन्म काबुल में वर्ष 17 मार्च 1508 को हुआ था। हुमायूँ शेरशाह सूरी से युद्ध में भी पराजित हुआ था। परन्तु वो वापस लौटा और जीता। हुमायूँ का शासन अधिक समय नही रहा और 4 मार्च 1556 को उसकी मृत्यु हो गई थी।

यह भी पढ़े – बादशाह हुमायूँ का इतिहास

3. मुगल बादशाह अकबर (Akbar The Great)

शासन का समय – वर्ष 1556 से 1605 तक।

जलाउद्दीन मोहम्मद अकबर मुगलकाल का सबसे शक्तिशाली शासक था। हुमायूँ के पुत्र अकबर को अकबर महान भी कहा जाता है। वह एक धर्मनिरपेक्ष शासक था जिसने अपने दरबार में सभी धर्मो के लोगों को जगह दी थी। अकबर अपने दरबार के नवरत्नों के कारण भी प्रसिद्ध है। अकबर का जन्म सिंध के अमरकोट में वर्ष 14 अक्टूबर 1542 को हुआ था। उसकी मृत्यु वर्ष 27 अक्टूबर 1605 को आगरा में हुई थी। आगरा का किला और फतेहपुर सीकरी में बुलंद दरवाजा का निर्माण अकबर ने बनवाया था।

यह भी पढ़े – बादशाह अकबर की जीवनी

4. बादशाह जहांगीर (King Jahangir)

शासन का समय – वर्ष 1605 से 1627 तक)।

बादशाह अकबर के पुत्र जहांगीर उर्फ शहजादा सलीम के नाम से भी मशहूर है। उनका पूरा नाम नूरुद्दीन मोहम्मद जहांगीर था। जहांगीर को मुगलकाल का इंसाफ पसंद बादशाह भी कहा जाता है। जहांगीर का जन्म फतेहपुर सीकरी में वर्ष 31 अगस्त, 1569 को हुआ था जबकि मृत्यु वर्ष 28 अक्टूबर, 1627 को हुई थी। कश्मीर के शालीमार बाग का निर्माण जहांगीर ने ही करवाया था।

यह भी पढ़े – जहांगीर का इतिहास और जीवनी

5. मुग़ल बादशाह शाहजहां (King Shahjahan)

शासन का समय – वर्ष 1627 से 1658 तक।

जहांगीर के पुत्र खुर्रम मिर्ज़ा उर्फ शाहजहाँ का जन्म वर्ष 5 जनवरी, 1592 को हुआ था। जहांगीर को इतिहास में कई बेहतरीन इमारतों के निर्माण के लिए भी जाना जाता है। शाहजहां ने मुमताज की याद में ताजमहल का निर्माण करवाया था। दिल्ली का लाल किला, जामा मस्जिद दिल्ली का निर्माण भी इसी काल में हुआ था। शाहजहां के काल को मुगलकाल का स्वर्णकाल कहा जाता है। उनकी मृत्यु आगरा में वर्ष 22 जनवरी, 1966 को हुई थी।

यह भी पढ़े – बादशाह शाहजहां का इतिहास

6. बादशाह औरंगजेब (King Aurangzeb)

शासन का समय – वर्ष 1658 से 1707।

औरंगजेब ने मुगल साम्राज्य को और अधिक विस्तार दिया था। औरंगजेब का जन्म वर्ष 14 अक्टूबर, 1618 को गुजरात में हुआ था। शाहजहाँ के पुत्र औरंगजेब को इतिहास में मुगल साम्राज्य का दक्षिण भारत में विस्तार के लिए जाना जाता है। औरंगजेब की मृत्यु वर्ष 3 मार्च, 1707 को हुई थी।

यह भी पढ़े – बादशाह औरंगजेब का इतिहास

इन 6 मुग़ल बादशाहों का शासन अधिक समय तक रहा है। इतिहास में इन्ही के बारे में ज्यादा हिस्सा हैं। औरंगजेब के बाद के बादशाह मुगल साम्राज्य को बचाने में नाकामयाब रहे थे। इतिहास में आता है कि बाद के बादशाहों में काबिलियत का अभाव था। औरंगजेब के बाद मुग़ल साम्राज्य का पतन शुरू हुआ था जो बहादुर शाह जफर द्वितीय तक रहा है। पतन के दौरान मराठा साम्राज्य का भी शासन रहा था। मराठा साम्राज्य के बाद ब्रिटिश शासन रहा था।

Mughal Vansh List In Hindi – अब जानते है कि औरंगजेब के बाद किन किन मुगल बादशाहों ने शासन किया था।

मुगल वंशावली और अन्य मुगल शासकों के नाम Mughal Vansh In Hindi

7. बहादुर शाह जफर प्रथम (वर्ष 1707 से 1712 तक) – यह औरंगजेब का दूसरे नम्बर का पुत्र था। मुगल शासक बनने के वक्त बहादुर शाह जफर की आयु 63 वर्ष थी।

8. जहांदार शाह (वर्ष 1712 से 1713 तक) – यह बहादुर शाह प्रथम का पुत्र था। जहांदार शाह को इतिहास में नाकाबिल शासक के रूप में जाना जाता है।

9. फर्रुखसियर (वर्ष 1713 से 1719 तक) – इस शासक ने ही अंग्रेजो को भारत में कही पर भी व्यापार करने की अनुमति दी थी। फरखुसीयर ने जहांदार शाह को मारकर दिल्ली की सत्ता हासिल की थी।

10. मोहम्मद शाह (वर्ष 1720 से 1748 तक) – मोहम्मद शाह को मुगल साम्राज्य का सबसे कमजोर बादशाह माना जाता है। इसी के शासनकाल में नादिरशाह भारत आया था जो तख्ते ताउज और कोहिनूर हीरा लूटकर ले गया था। इसके शासनकाल में मुग़ल साम्राज्य बहुत कमजोर हो गया था।

11. अहमद शाह बहादुर (वर्ष 1748 से 1754 तक) – यह मोहम्मद शाह का पुत्र था। अहमद शाह एक कमजोर बादशाह था जिसके काल में मुगल साम्राज्य कमजोर ही हुआ था।

12. आलमगीर द्वितीय (वर्ष 1754 से 1759 तक) – आलमगीर द्वितीय जहांदार शाह का पुत्र था जो अहमद शाह को कैद करके खुद शासक बन बैठा था।

13. शाह आलम (वर्ष 1759 से 1806 तक)

14. अकबर शाह (वर्ष 1806 से 1837 तक)

15. बहादुर शाह जफर द्वितीय (वर्ष 1837 से 1857 तक) – ये अंतिम मुगल बादशाह थे जिन्होंने दिल्ली की गद्दी सम्भाली थी। परन्तु नाममात्र के बादशाह थे क्योंकि शासन ब्रिटिशों का था। वर्ष 1857 की क्रांति के बाद उन्हें पद से निर्वासित करके बर्मा भेज दिया गया था।

मुगल साम्राज्य के शासक Mughal Vansh (Family) Tree In Hindi

मुगल बादशाह फर्रुखसियर और मोहम्मद शाह के शासन के बीच में भी कुछ मुगल बादशाहों का शासन था। परंतु इन बादशाहों का शासन महज अल्प अवधि का था। तो आइए इन बादशाहों का नाम (Mughal Vansh Emperor Name) भी जानते है-

  • रफीउदराजात (वर्ष 1719 में केवल 4 माह का शासन था।)
  • रफीउद्दौला (वर्ष 1719 में 4 माह का शासन था।)
  • नेकसियर (वर्ष 1719 में कुछ दिनों का शासन)
  • मुहम्मद इब्राहिम (वर्ष 1719 में कुछ दिनों का शासन)

तो मित्रों आपके लिए मुग़ल बादशाहों की सूची (Mughal Vansh Emperor List In Hindi) या एक तरह से कहे तो मुगल वंशावली ज्ञानवर्धक रही होगी। इतिहास से संबंधित विषयों में “Mughal Family Tree In Hindi” के कई सवाल अक्सर विभिन्न प्रतियोगिताओं में पूछे जाते है। यहां पर मुगल साम्राज्य के शासकों के नाम और उनकी सामान्य जानकारी उपयोगी रही होगी।

अन्य महत्वपूर्ण इतिहास की पोस्ट्स –

तो दोस्तों आर्टिकल मुगल वंशावली (Mughal Vansh In Hindi) पसंद आया हो तो कमेंट करे और शेयर करे सोशल मिडिया पर और आगे भी ज्ञानवर्धक आर्टिकल पढ़ने के लिए हमे सब्सक्राइब भी करे।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *