आवर्त सारणी क्या है, इतिहास और जानकारी Periodic Table In Hindi

आधुनिक आवर्त सारणी क्या है, मेंडलीफ की आवर्त सारणी (Mendeleev Periodic Table) और इसका इतिहास पर यह पोस्ट What Is Periodic Table In Hindi आधारित है। रसायन विज्ञान में आवर्त सारणी का बहुत उपयोग है। आवर्त सारणी में रासायनिक तत्वों के नाम दिए गए है। इसे सारणी इसलिए कहते है क्योंकि इसमें रासायनिक तत्वों को क्रमबद्ध तरीके से जमाया गया है।

आवर्त सारणी को अंग्रेजी में “Periodic Table” कहते है। तो आइए दोस्तों, आवर्त सारणी क्या है? आवर्त सारणी की खोज और सामान्य जानकारी जानने का सामान्य प्रयास इस पोस्ट “Modern Periodic Table In Hindi” में करते है।

Modern Periodic Table In Hindi

आधुनिक आवर्त सारणी क्या है – What Is Periodic Table In Hindi

आधुनिक आवर्त सारणी (Periodic Table) में रासायनिक तत्वों को परमाणु क्रमांक (Atomic Number) के बढ़ते क्रम में रखा गया है। परमाणु क्रमांक नाभिक पर उपस्थित प्रोटॉन की संख्या होती है। आवर्त सारणी में तत्वों को उनके समान गुणधर्मों के साथ सारणीबद्ध किया गया है। तत्वों का सारणी में सूचीबद्ध करना आवर्त नियम के अंतर्गत आता है। आवर्त सारणी में तत्व बांये से दांये की और Listed है।

आवर्त सारणी में आवर्त और वर्ग होते है। इसमें Horizontal Raw को आवर्त (Periodic) जबकि Vertical Column होते है जिन्हें वर्ग (Group) कहा जाता है। आधुनिक सारणी में आवर्त की संख्या 7 होती है जबकि 18 की संख्या में वर्ग होते है।

Periodic Table के किसी भी वर्ग में मौजूद तत्वों के परमाणु की इलेक्ट्रॉन संख्या सबसे बाहरी कक्षा (Outer Shell) में समान होती है। इसलिए एक ही वर्ग के तत्वों के भौतिक और रासायनिक गुण भी समान होते है।

आधुनिक आवर्त सारणी में ब्लॉक कितने होते है?

रासायनिक तत्वों के इलेक्ट्रॉन विन्यास के आधार पर Periodic Table में चार ब्लॉक बनाये गए है। इन ब्लॉक को s, p, d और f कहते है। s ब्लॉक में वर्ग 1 और 2 होते है जबकि p ब्लॉक में वर्ग 13 और 18 होते है। d ब्लॉक में वर्ग 3 से 12 होते है। f ब्लॉक में केवल लैंथेनाइड और एक्टिनाइड तत्व है। लैंथेनाइड ब्लॉक में परमाणु क्रमांक 57 से 71 तक के तत्व है। एक्टिनाइड में परमाणु क्रमांक 89 से 103 तक के तत्व है।

S और P ब्लॉक में सामान्य तत्वों को जगह दी गई है। आवर्त सारणी के d ब्लॉक में संक्रमण तत्व और f ब्लॉक में दुर्लभ तत्वों को रखा गया है।

आवर्त सारणी में 118 रासायनिक तत्वों को सारणीबद्ध किया गया है। या यूं कहिए कि 118 तत्वों की जगह है। सारणी में तत्वों के नाम के साथ प्रतीक (Symbol), द्रव्यमान संख्या (Mass Number) और परमाणु क्रमांक (Atomic Number) भी बताया गया है।

द्रव्यमान संख्या किसी भी परमाणु के नाभिक पर मौजूद प्रोटोन और न्यूट्रॉन का योग होती है।

आवर्त सारणी का इतिहास और खोज Periodic Table History In Hindi

मेंडलीफ की आवर्त सारणी और आधुनिक आवर्त सारणी में अंतर है। मेंडलीफ की आवर्त सारणी तत्वों के बढ़ते परमाणु भार जबकि आधुनिक आवर्त सारणी तत्वों के बढ़ते परमाणु क्रमांक पर आधारित है।

आवर्त सारणी का आविष्कार वर्ष 1869 में रूसी रसायन शास्त्री दमित्री मेंडलीफ (Dmitri Mendeleev) ने किया था। उन्होंने रासायनिक तत्वों को बढ़ते परमाणु भार के अनुसार सारणी के रूप में क्रमबद्ध किया था। मेंडलीफ ने आवर्त सारणी के कुछ नियम भी प्रतिपादित किये थे।

मेंडलीफ का आवर्त नियम क्या है?

मेंडलीफ ने तत्वों को बढ़ते परमाणु भार के आधार पर रखा था। उन्होंने एक नियम बताया कि रासायनिक तत्वों के भौतिक और रासायनिक गुण तत्वों के परमाणु भार के आवर्ती फलन होते है। अर्थात समान गुणधर्म वाले तत्वों की पुनरावृत्ति होती है, यदि तत्वों को बढ़ते परमाणु भार के अनुसार रखा जाए। इस नियम को मेंडलीफ का आवर्त नियम कहते है।

शुरुआत में आवर्त सारणी के तत्वों की संख्या आज के मुकाबले कम थी। इसका कारण कई तत्वों की खोज ना होना था। मेंडलीफ की आवर्त सारणी में तत्वों की संख्या 63 ही थी। परन्तु उन्होंने आवर्त सारणी में नए तत्वों के लिए कुछ रिक्त स्थान छोड़े थे। मेंडलीफ की आवर्त सारणी में 8 वर्ग और 7 आवर्त थे।

आधुनिक आवर्त सारणी का आविष्कार किसने किया?

आधुनिक आवर्त सारणी का इन्वेंशन हेनरी मोजले (Henry Moseley) ने वर्ष 1913 में किया था। उन्होंने तत्वों को परमाणु क्रमांक के बढ़ते क्रम में सारणीबद्ध किया था। उन्होंने आधुनिक आवर्त सारणी के नियम भी प्रतिपादित किये थे। आधुनिक आवर्त नियम के अनुसार तत्वों के भौतिक और रासायनिक गुण तत्वों के परमाणु क्रमांक के आवर्ती फलन होते है। अर्थात समान गुणधर्म वाले तत्वों की पुनरावृत्ति होती है, यदि तत्वों को बढ़ते परमाणु क्रमांक के अनुसार रखा जाए।

आवर्त सारणी के बारे में जानकारी Avart Sarani Information in Hindi

1. हाइड्रोजन तत्व (H) की परमाणु संख्या 1 है, इसी कारण यह आवर्त सारणी में पहले नम्बर पर आता है।

2. प्रथम आवर्त में केवल दो तत्वों के नाम है। हाइड्रोजन (H) और हीलियम (He)।

3. अक्रिय गैसों (Inert Gas) को आवर्त सारणी के वर्ग 18 में रखा गया है। ये गैसे रासायनिक दृष्टि से निष्क्रिय होती है। इन गैसों का नाम हीलियम (He), नियॉन(Ne), ऑर्गन (Ar), क्रिप्टन (Kr), जीनान (Xe) और रेडॉन (Rn) है।

4. वर्ग 4 में मौजूद कार्बन तत्व को आवर्त सारणी में 6 नम्बर पर रखा गया है।

5. आवर्त सारणी में मौजूद वर्ग 1 का तत्व Francium (Fr) पृथ्वी पर मौजूद दुर्लभ तत्व है। इस तत्व का परमाणु क्रमांक 87 है।

6. आवर्त सारणी के प्रथम वर्ग में क्षारीय धातु को रखा गया है। सोडियम, पोटैशियम जैसी धातुए इसी वर्ग में आती है।

7. वर्ग 2 में क्षारीय मृदा धातुओं मैग्नेशियम, कैल्शियम जैसी धातुएं है।

8. आवर्त सारणी में अधातुओं को वर्ग 13, 14, 15, 16 और 17 में रखा गया है ।

9. वर्ष 2016 में आवर्त सारणी में 4 और तत्वों को जोड़ा गया था। 113 (निहोनियम Nh), 115 (मोस्कोवियम Mc), 117 (टेनेसाइन Ts) और 118 (ऑगेनेशन Og) नम्बर के रासायनिक तत्वों को टेबल में जगह दी गयी है।

अन्य महत्वपूर्ण पोस्ट्स –

Note – इस पोस्ट What Is Periodic Table In Hindi में आधुनिक आवर्त सारणी क्या है (Modern Periodic Table), मेंडलीफ की आवर्त सारणी (Mendeleev Periodic Table In Hindi), नियम और इसका इतिहास पर जानकारी आपको कैसी लगी। यह आर्टिकल “Avart Sarani Information in Hindi” अच्छा लगा हो तो इसे शेयर भी करे।

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *