ATM क्या है, फुल फॉर्म, एटीएम से पैसे कैसे निकाले? और फायदे

इस पोस्ट What Is ATM In Hindi में एटीएम क्या है (ATM Information), एटीएम का फुल फॉर्म और एटीएम से पैसे कैसे निकाले? इत्यादि के बारे में जानकारी है। दोस्तों, टेक्नोलॉजी ने मानव जीवन को आसान बनाया है। टेक्नोलॉजी आज की जरूरत भी है। ATM मशीन भी टेक्नोलॉजी का ही एक बेजोड़ नमूना है। एटीएम के माध्यम से धनराशि निकालना आसान हो गया है। बैंकों की लम्बी लाइनों के झंझट से एटीएम ने निजात दिलवाई है।

दोस्तों, एटीएम देश और दुनिया के हर छोटे बड़े शहर में आसानी से मिल जाता है। जिस शहर या गांव में बैंक है, वहां पर उस बैंक का एटीएम जरूर होता है। ATM क्या है? एटीएम का फुल फॉर्म क्या है (ATM Full Form In Hindi)? एटीएम से पैसे कैसे निकाले? और एटीएम के फायदे क्या है? ऐसे सभी प्रश्नों के उत्तर यहां पर दिए गए है।

ATM Kya Hai In Hindi

एटीएम क्या है – What Is ATM In Hindi

ATM एक Banking Transaction मशीन है जिसका कार्य Money Withdrawal और Account Balance Check करना होता है। Money Withdrawal का अर्थ धनराशि निकालना है। एटीएम एक Automatic Electronic मशीन है जो कि कंप्यूटर की भांति कार्य करती है। एटीएम यूजर के निर्देशों का पालन करके धनराशि Withdraw करता है। जितनी राशि आपने Enter की है, उतनी ही राशि एटीएम के माध्यम से बाहर निकलती है। सामान्य शब्दों में कहे तो ATM बैंकों की और से दी जाने वाली Chargeable सुविधा है।

एटीएम मशीन में मुख्यतः Monitor, Keyboard और Software होता है। एटीएम मशीन बैंक के सिस्टम सर्वर से इंटरनेट के माध्यम से Connect होती है। इंटरनेट की सुविधा ISP (Internet Service Provider) से मिलती है। जब ग्राहक एटीएम में नगदी प्राप्त करने के लिए निर्देश (Instructions) देता है तब इन निर्देशों को होस्ट प्रोसेसर बैंक के सर्वर के साथ साझा करता है। अगर निर्देश सही पाये जाते है तो एटीएम से नगद राशि निकलती है।

बैंक और मिनी बैंक एटीएम की सुविधा उपलब्ध करवाते है। ATM की खासियत यह है कि बिना किसी मदद के आप Self Money Withdrawal कर सकते है। Money Withdraw करने के लिए Bank जाने की आवश्यकता नही रहती है। एटीएम मशीन मुख्यतः दो प्रकार की होती है। एक वह होती है जिससे नगद धनराशि निकाली जाती है। दूसरी एटीएम मशीन केवल धनराशि जमा करती है।

एटीएम का फुल फॉर्म क्या है – ATM Full Form In Hindi

ATM नाम आपने बहुत सुना है लेकिन क्या आप जानते है कि ATM Full Form क्या है? आप में से ज्यादातर लोग एटीएम की फुल फॉर्म नही जानते होंगे। आपकी जानकारी के लिए बता देता हूं कि ATM Ka Full Form “Automatic Teller Machine” है। हिंदी भाषा में इसे “स्वचालित टेलर मशीन” कहते है।

ATM क्या है, ATM Ka Full Form इत्यादि विषयों पर आपको जानकारी प्राप्त हुई है। अब बात करते है कि एटीएम का इतिहास क्या है?

ATM का इतिहास – एटीएम का आविष्कार किसने किया?

जॉन शेफर्ड बैरोन (John Shepherd Barron) नामक वैज्ञानिक ने एटीएम का आविष्कार किया था। वर्ष 1960 में ATM Machine का आविष्कार किया गया था। सर्वप्रथम वर्ष 1967 में ब्रिटेन के ब्रोकरेले नामक बैंक ने एटीएम का इस्तेमाल शुरू किया था। शेपर्ड को ही 4 अंकों का एटीएम पिन शुरू करने का श्रेय है। आपकी नॉलेज के लिए बता देते है कि जॉन शेपर्ड का जन्म वर्ष 1925 में भारत के मेघालय में ही हुआ था।

भारत देश में 20 साल बाद वर्ष 1987 में बैंकिंग प्रणाली में एटीएम की शुरुआत हुई थी। यह एटीएम HSBC नामक बैंक ने मुंबई में लगाया था।

एटीएम के बारे में जानकारी – ATM Information In Hindi

ATM के द्वारा Transaction करने के लिए ATM Card की आवश्यकता होती है। इसे डेबिट कार्ड भी कहते है। एटीएम कार्ड के बिना धनराशि नही निकली जा सकती है। एटीएम कार्ड बैंक जारी करता है। अगर आपके पास बैंक खाता है तो ATM Card जारी करवाया जा सकता है। बैंक खाता ना होने की स्थिति में एटीएम कार्ड नही मिलता है। इसके लिए सबसे पहले बैंक में खाता Open करवाना जरुरी है। ATM Card एक प्लास्टिक कार्ड होता है जिसके पीछे की Black Magnetic Strip में आपकी Banking Information होती है।

प्रत्येक User के ATM Card का एक PIN होता है। यह पिन 4 Digit अंकों का एक Password है जिसके बिना नकद निकासी सम्भव नही होती है। इसलिए ATM PIN को हमेशा Secure रखे और इसे किसी अन्य के साथ कभी भी शेयर ना करें। एटीएम पिन को आप कभी भी बदल सकते है। एटीएम मशीन की सहायता से एटीएम पिन आसानी से बदला जा सकता है।

दोस्तों आप यह तो जानते ही होंगे कि बैंक एटीएम कार्ड जारी करने का कुछ चार्ज लेता है। एटीएम से नगद निकासी की सीमा Fixed होती है। यह बैंक Decide करता है कि नगद निकासी की लिमिट कितनी रखनी है।

एटीएम के मुख्य Component और कार्य – ATM Kya Hai

आप पढ़ चुके है कि एटीएम एक Electronic Machine है जो कि कंप्यूटर की तरह Work करता है। ATM Machine में मुख्यतः 4 Output Device और 2 Input Device होते है। इसके इनपुट उपकरणों में कीबोर्ड और कार्ड स्लॉट या कार्ड रीडर आते है। कीबोर्ड Data Type करने में इस्तेमाल होता है। कार्ड रीडर ATM Card को पढ़ता है और फिर Authenticate करता है।

आउटपुट उपकरणों में डिस्प्ले मॉनिटर, प्रिंटर, कैश डिस्पेंसर और स्पीकर आते है। Screen Monitor एटीएम सॉफ्टवेयर को डिस्प्ले करता है। Cash Dispenser का कार्य नगदी रखना और बाहर निकालना होता है। कीबोर्ड Key दबाने पर Speaker से बीप की ध्वनि आती है। प्रिंटर का कार्य Transaction के बाद Receipt प्रिंट करना होता है।

कई ATM Machine में टच स्क्रीन भी होती है। कंप्यूटर की तरह ही एटीएम में एक System Software (Window) और Processor होता है।

अगर आप एटीएम कार्ड धारक है तो किसी भी बैंक के ATM से Money Withdraw कर सकते है। एटीएम से Money Withdraw करना बहुत आसान है, बस आपको कुछ Steps Follow करने है। तो आइए जानते है कि एटीएम से पैसे कैसे निकाले?

एटीएम से पैसे कैसे निकाले – How To Withdraw Money From ATM In Hindi

देश के सभी बैंकों के एटीएम से धनराशि निकालने की प्रक्रिया लगभग समान होती है। यहां पर ATM से Money Withdraw करने की सामान्य प्रोसेस दी गई है।

1. Money Withdraw करने के लिए नजदीकी ATM Machine पर विजिट करे। दोस्तों हो सके तो जिस बैंक का एटीएम कार्ड आपके पास है, उसी बैंक की एटीएम मशीन का उपयोग करना बेहतर है। इससे Other Bank ATM का चार्ज नही लगता है।

2. एटीएम कार्ड को मशीन के ATM Slot में Insert करे। इन्सर्ट करते वक्त ध्यान रखे कि एटीएम कार्ड सही तरह से Insert हो। अगर सही प्रकार से Insert नही होगा तो ATM Machine कार्ड Read नही कर पायेगी।

3. कार्ड Insert करने के बाद ATM Monitor पर भाषा चयन (Select) करने का Option आता है। आप स्क्रीन पर उपलब्ध अंग्रेजी और हिंदी भाषा में से आपकी सुविधानुसार भाषा का चयन करें।

4. भाषा का चयन करने के पश्चात Monitor पर एटीएम पिन दर्ज करने का Option आता है। अब आप 4 अंकों का अपना ATM PIN दर्ज करें।

एटीएम का उपयोग कैसे करे

5. पिन Enter करने के बाद Account Type चयन करने का Option आता है। Saving और Current Account में से आपके बैंक Account Type का चयन करें।

6. Account सेलेक्ट करने के बाद Cash Withdrawal, Fast Cash, Balance Enquiry, Mini Statement जैसे Options आते है। खाते में जमा राशि पता करने के लिए Balance Enquiry बटन पर क्लिक करते है। नगद निकासी करने के लिए Cash Withdrawal Option पर क्लिक करें।

7. इसके बाद आप जितने रुपये बैंक से निकालना चाहते है, उतनी ही राशि की संख्या दर्ज करें। जैसे कि अगर आपको 2000 हजार रुपये निकालने है तो “2000” संख्या को दर्ज करें। धनराशि की संख्या हमेशा 100 के गुणांक में ही Enter करें।

8. राशि दर्ज करने के बाद “Ok” या Confirm Now बटन पर क्लिक करें। इसके बाद एटीएम से नगद राशि निकलती है। नगद धनराशि के साथ ही एक कागज की पर्ची भी निकलती है। इस पर्ची में बकाया बैलेंस और आपके द्वारा निकाली गयी धनराशि की सँख्या दर्ज होती है। ATM पर Transaction Slip प्रिंट करने का Yes Or No का Option भी आता है।

9. Money Withdrawal होने के बाद एटीएम मशीन Keypad पर Clear बटन पर क्लिक जरूर करें।

एटीएम के फायदे – ATM Ke Fayde Kya Hai

एटीएम के कई सारे फायदे है क्योंकि इसने बैंकिंग को सरल और आसान बना दिया है। तो आइए दोस्तों एटीएम के फायदे क्या है? जानने का प्रयास करते है।

1. ATM से धनराशि निकालने के अलावा बकाया राशि भी पता की जा सकती है। Mini Statement के जरिये पिछले लेन देन को भी प्रिंट लिया जा सकता है।

2. एटीएम के जरिये Bank Account से धनराशि निकाली जाती है। एटीएम ने नगद निकासी को आसान बना दिया है। आमलोगों के लिए एटीएम मशीन ने बैंक का कार्य आसान कर दिया है।

3. ATM की मदद से कभी भी, कही से भी नकद निकासी की जा सकती है। पैसा निकालने के लिए बैंक जाने की भी आवश्यकता नही है। चाहे आप देश के किसी भी शहर या गांव में मौजूद हो, एटीएम की सहायता से नकद राशि प्राप्त कर सकते है।

4. एटीएम 24×7 सुविधा है। यानिकि ATM का लाभ दिन के 24 घण्टे और सप्ताह के सातों दिन लिया जा सकता है। रविवार को बैंक हॉलीडे रहता है परंतु एटीएम की मदद से रविवार को भी Money Withdrawal किया जा सकता है।

एटीएम के लाभ

5. ATM की सुविधा शहरों के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में भी उपलब्ध है। इससे ग्राहकों को सुविधा रहती है। बैंक किसी भी शहर में हो, अगर ATM Machine आपके गांव में मौजूद है तो नगद निकासी की जा सकती है।

6. एटीएम आने से पूर्व बैंकों में पैंसा निकालने के लिए लम्बी लाइने लगती थी। परंतु ATM ने बैंक की लाईनों को कम किया है। Customer बैंक ना जाकर एटीएम से ही धनराशि प्राप्त कर लेता है।

7. एटीएम की सहायता से Money Transfer भी किया जा सकता है। बैंक जाकर किसी अन्य Bank Account में नगद राशि जमा करने की आवश्यकता नही है। बस एटीएम जाकर आसानी से पैंसा ट्रांसफर कर सकते है।

8. वर्तमान में कुछ ATM Machine की सहायता से नकद राशि भी Deposit की जा सकती है। इन एटीएम मशीनों पर केवल Money जमा करने की सुविधा होती है।

एटीएम के बारे में जानकारी और सावधानियां

दोस्तों कई लोगों के मन में यह प्रश्न भी आता है कि क्या एटीएम सुरक्षित है? यह आप पर निर्भर करता है कि ATM सुरक्षित है या नही। एटीएम PIN और Card की जानकारी बेहद गोपनीय होती है। इसलिए यह जानकारी किसी के भी साथ साझा ना करें। एटीएम पिन को कही पर भी लिखकर ना रखे और इसे याद कर लेना चाहिए।

एटीएम का इस्तेमाल करते वक्त सावधानी रखें। एटीएम पिन दर्ज करते वक्त भी सुनिश्चित करे कि कोई आपका PIN नही देखा रहा है। कई लोग अनजाने और लापरवाही में साइबर क्राइम का शिकार हो जाते है। एटीएम कार्ड खो जाने पर तुरन्त अपने बैंक में सपर्क करें। कुछ सावधानियां रखकर आप Secure हो सकते है।

यह भी पढ़े –

Note – एटीएम क्या है (What Is ATM In Hindi), एटीएम का फुल फॉर्म, एटीएम से पैसे कैसे निकाले? और एटीएम के फायदे के बारे में जानकारी आपके लिए ज्ञानवर्धक रही होगी। यह आर्टिकल “एटीएम के बारे में जानकारी ATM Information In Hindi” अच्छा लगा हो तो इसे शेयर भी करे।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *