Information About Ashoka Tree In Hindi अशोक का पेड़

इस पोस्ट Information About Ashoka Tree In Hindi में अशोक का पेड़ की जानकारी, महत्व और फायदे पर सामान्य ज्ञान है। अशोक का पेड़ धार्मिक और स्वास्थ्य की दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण है। अशोक पेड़ पूरे भारतवर्ष में पाया जाता है। लोग घरों में अशोक के पेड़ को लगाना पसंद करते है। यह पेड़ दिखने में बेहद सुंदर होता है, इसलिए घर के आंगन की शोभा बढ़ाता है। अशोक का पेड़ एक सदाबहार वृक्ष है जो सालभर हरा रहता है। कहते है कि जहां अशोक होता है वहां पर कोई शोक नही होता है।

Information About Ashoka Tree In Hindi

अशोक का पेड़ की रोचक जानकारी Information About Ashoka Tree In Hindi

1. अशोक वृक्ष (Ashoka Tree) दक्षिण एशिया में खासकर पाया जाता है। भारत, नेपाल, श्रीलंका, बर्मा जैसे देशों में अशोक का पेड़ मुख्यतः मिलता है। भारत के हिमालय क्षेत्र में अशोक का पेड़ बहुतायत से मिल जाता है।

2. दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दे कि अशोक का पेड़ दो तरह का होता है। एक असली अशोक का पेड़ जबकि दूसरा नकली अशोक का पेड़ जो आमतौर पर आप बाग बगीचों में देखते है। वैसे दोस्तों नकली हो या असली दोनों को कहते अशोक ही है।

3. औषधीय उपयोग में केवल असली अशोक के पेड़ का इस्तेमाल किया जाता है। नकली अशोक का पेड़ केवल सजावटी होता है। इसलिए आर्युवेद में असली अशोक ट्री का उपयोग किया जाता है।

4. असली अशोक के पेड़ के पत्ते लंबे और हल्के ताम्र रंग के होते है। ताम्र रंग के पत्ते के कारण अशोक को ताम्रपल्लव भी कहा जाता है। इस पेड़ पर लाल नारंगी रंग के सुगन्धित फूल आते है। नकली अशोक के वृक्ष पर सफेद रंग के फूल आते है। इसके पत्ते हरे रंग के होते है।

5. अशोक के पेड़ पर फूल बंसन्त ऋतु के वक्त खिलते है। अप्रैल मास में लाल नारंगी रंग के फूल अशोक के पेड़ की शोभा बढ़ाते है। फूल गुच्छों के रूप में पेड़ पर लगते है। फूलों की सुंदरता के कारण अशोक को हेमपुष्पा भी कहा जाता है। आप की नॉलेज के लिए बता देते है कि अशोक वृक्ष का फूल उड़ीसा का राज्य पुष्प है।

अशोक वृक्ष का महत्व पर जानकारी

6. हिन्दू धर्म में भी अशोक के वृक्ष को पवित्र माना जाता है। ऐसी मान्यता है की अशोक का पेड़ शुभ सूचनाएं लाता है। हिन्दू धर्म के कार्यक्रमों में अशोक के पत्तो का उपयोग किया जाता है। ज्योतिष के मुताबिक अशोक के पेड़ को घर के आंगन में उत्तर दिशा की और लगाना चाहिए।

7. रामायण के अनुसार लंका में माता सीता को हरण के पश्चात अशोक वाटिका में ही रखा गया था। उस वाटिका का नाम अशोक पेड़ के नाम से ही था। क्योंकि अशोक वाटिका में अशोक के कई सारे पेड़ थे। यही भी एक कारण है कि हिन्दू धर्म में अशोक के पेड़ का धार्मिक महत्व है।

8. अशोक का अर्थ “कोई शोक ना होना” होता है। माना जाता है कि जिस घर में अशोक का पेड़ होता है, वहां किसी भी प्रकार का शोक नही होता है। अर्थात घर में प्रसन्नता और संपन्नता रहती है।

9. अशोक का पेड़ घना और छायादार होता है। इस पेड़ का तना एक दम सीधा और भूरे रंग का होता है। अपनी खास बनावट के कारण यह बाग बगीचों में विशेषतः लगाया जाता है। इस पेड़ की पत्तियां नुकीली और सघनता लिए होती है।

10. इस पेड़ की ऊंचाई ज्यादा से ज्यादा करीब 35 फ़ीट तक जाती है। इसलिए अशोक का पेड़ मध्यम ऊंचाई के पेड़ों की गिनती में आता है। इस पेड़ का फैलाव अधिक नही होता है क्योंकि शाखाएं अधिक नही फैली होती है।

अशोक का पेड़ Ashoka Plant In Hindi

11. अशोक के पेड़ का औषधीय महत्व भी है। इस पेड़ का तना, छाल, पत्ते और फूल सभी से दवाइयां बनाई जाती है। चर्म रोगों में भी अशोक का पेड़ लाभकारी है। अशोक के पेड़ की छाल को घिसकर मुंहासों पर लगाने से मुंहासे दूर होते है।

12. स्त्री रोगों में यह बेहद महत्वपूर्ण औषधीय पेड़ है। मासिक धर्म से संबंधित समस्याओं में अशोक का पेड़ लाभकारी है। स्वेत प्रदर जैसे स्त्री रोगों में भी अशोक का पेड़ लाभदायक है। अशोक का पेड़ आर्युवेद में काफी महत्व रखता है। इसी कारण भारत में अशोक का वृक्ष घरों में लगाया जाता है।

अन्य उपयोगी पेड़ –

Note – अशोक का पेड़ की जानकारी, महत्व (Importance Of Ashoka Tree In Hindi) और अशोक पेड़ के फायदे पर यह आर्टिकल Information About Ashoka Tree In Hindi कैसा लगा। यह पोस्ट “Ashok Ka Ped In Hindi” अच्छी लगी हो तो इसे शेयर भी करे।

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *