संज्ञा किसे कहते हैं, प्रकार और उदाहरण What Is Noun In Hindi

संज्ञा किसे कहते हैं? संज्ञा के प्रकार क्या है (Types Of Noun In Hindi)? उदाहरण सहित इन प्रश्नों का उत्तर इस पोस्ट What Is Noun In Hindi में दिया गया है। भाषा में संज्ञा बहुत महत्वपूर्ण होती है। किसी भी नाम को संज्ञा कहते है। अंग्रेजी में संज्ञा को “Noun” कहते है। तो आइये दोस्तों, संज्ञा क्या है (Noun Kise Kahate Hain)? जानने का प्रयास करते है।

What Is Noun In Hindi

संज्ञा किसे कहते हैं What Is Noun In Hindi

संज्ञा किसी भी वस्तु, स्थान या व्यक्ति के नाम को कहते है। सामान्य शब्दों में कहे तो किसी व्यक्ति (Person), गुण (Quality), वस्तु (Thing), स्थान (Place), दशा (Condition) तथा कार्य (Work) के नाम को ही संज्ञा (Noun) कहते है।

दोस्तों, संज्ञा किसी भी वाक्य का मुख्य अंग होती है। संज्ञा के बिना किसी भी वस्तु या व्यक्ति की पहचान नही होती है। संज्ञा को अंग्रेजी भाषा में “Noun” कहते है। संज्ञा को उदाहरण से समझा जा सकता है।

संज्ञा का उदाहरण Example Of Noun In Hindi

  • रमेश (Ramesh) – किसी व्यक्ति (Person) का नाम है।
  • जयपुर (Jaipur) – किसी जगह (Place) का नाम है।
  • ईमानदार (Honest) – यह किसी व्यक्ति का गुण (Quality) है।
  • कुर्सी (Chair) – किसी वस्तु (Thing) का नाम।
  • बीमार (Illness) – व्यक्ति की दशा (Condition) का नाम।

गाय, दूध, पानी, बहादुर इत्यादि भी संज्ञा ही है। अतः वाक्य में मौजूद कोई भी नाम (Name) संज्ञा (Noun) होता है।

दोस्तों, अब वाक्य (Sentence) के उदाहरण से संज्ञा किसे कहते हैं? के बारे में विस्तृत जानकारी लेने का प्रयास करते है।

वाक्य 1 – रमेश विद्यालय जाता है। (Ramesh Went to School) –

इस वाक्य में रमेश (Person) और विद्यालय (Place) दोनों ही संज्ञा है। रमेश व्यक्तिवाचक (Proper Noun) जबकि विद्यालय जातिवाचक संज्ञा (Common Noun) है।

वाक्य 2 – गाय दूध देती है। (Cow Gives Milk) –

इसमें गाय एक व्यक्तिवाचक संज्ञा (Proper Noun) है जबकि दूध द्रव्यवाचक संज्ञा (Material Noun) है।

दोस्तों, आपने पढ़ा कि संज्ञा किसे कहते हैं (What Is Noun In Hindi)? अब बात करते है कि संज्ञा के प्रकार कितने है।

संज्ञा के प्रकार Types Of Noun In Hindi

संज्ञा को गणनीय (Countable) और अगणनीय संज्ञा (Uncountable) दो प्रकार से बांटा जा सकता है।

1. गणनीय संज्ञा (Countable Noun) –

इस प्रकार की संज्ञा को गिना जा सकता है। जैसे कि अमर, कार, टीवी, फल इत्यादि गिनती योग्य संज्ञा है। इन सभी नामों को गिनने योग्य संज्ञा कहते है। क्योंकि इन्हें गिनकर इनकी संख्या बताई जा सकती है। इस प्रकार की संज्ञा को गणनीय संज्ञा (Countable Noun) कहते है।

2. अगणनीय संज्ञा (Uncountable Noun) –

इस प्रकार की संज्ञा की गिनती नही की जा सकती है। जैसे पानी, महान, दूध इत्यादि सभी अगणितीय संज्ञा कहलाती है। पानी या दूध को गिनकर संख्या नही बताई जा सकती है। किसी भी व्यक्ति के गुण को Count नही किया जा सकता है।

संज्ञा को प्राणीवाचक और अप्राणीवाचक संज्ञा में भी विभाजित किया जाता है।

1. प्राणीवाचक संज्ञा –

जीव जंतुओं और मनुष्य नाम प्राणीवाचक संज्ञा में आते है। सभी सजीव के नाम इसके अंतर्गत आते है। जैसे की तोता, मुकेश, आदमी, पक्षी इत्यादि।

2. अप्राणीवाचक संज्ञा –

इसमें सभी निर्जीव वस्तुओं के नाम आते है। जैसे कि घर, कुर्सी, बस इत्यादि।

संज्ञा कितने प्रकार की होती हैं Noun Types In Hindi

मूलतः संज्ञा के 5 प्रकार होते है। संज्ञा को पांच भागो में बांटा गया है।

संज्ञा के प्रकार के नाम (Sangya Ke Prakar In Hindi) –

1. व्यक्ति वाचक संज्ञा (Proper Noun)

इस प्रकार की संज्ञा किसी भी एक व्यक्ति या जीव विशेष के नाम को बताती है। यह संज्ञा एक वस्तु, गुण, दशा, स्थान के नाम को दर्शाती है। जैसे कि सुनील, रमेश, जयपुर, कुर्सी इत्यादि सभी एक वस्तु, स्थान और व्यक्ति विशेष के नाम है जिन्हें व्यक्तिवाचक संज्ञा (Proper Noun) कहते है।

व्यक्तिवाचक संज्ञा (Common Noun) का उदाहरण –

  • सुनील (Sunil) – एक व्यक्ति विशेष का नाम।
  • जयपुर (Jaipur) – एक विशेष जगह का नाम।
  • कुर्सी (Chair) – एक वस्तु का नाम।

वाक्य सहित व्यक्तिवाचक संज्ञा का उदाहरण –

वाक्य 1 – सुनील जयपुर में रहता है। (Sunil Lives In Jaipur) –

इस वाक्य में सुनील (व्यक्ति) और जयपुर (स्थान) दोनों ही व्यक्तिवाचक संज्ञा है।

वाक्य 2 – श्याम केला खाता है। (Shyam Eats Banana) –

इसमें श्याम (व्यक्ति) और केला (वस्तु) दोनों व्यक्तिवाचक संज्ञा (Proper Noun) है।

2. जातिवाचक संज्ञा (Common Noun)

इस प्रकार की संज्ञा में किसी भी जीव, वस्तु और जगह की जाति का नाम आता है। इसमें व्यक्ति विशेष का नाम, स्थान, वस्तु ना बताकर उसकी पूरी जाति को दर्शाया जाता है। जैसे कि आदमी, लड़की, शहर, कॉमिक्स, नदी, पहाड़, पशु इत्यादि सभी नाम एक जाति विशेष का बोध करवाते है।

जातिवाचक संज्ञा (Common Noun) का उदाहरण –

  • व्यक्तिवाचक संज्ञा (Proper Noun) “सुनील, प्रकाश, अजय” किसी एक विशेष व्यक्ति का नाम है। परंतु ये सभी “Common” जाति लड़का (Boy) के अंतर्गत आते है।
  • गाय, भैंस, बकरी तीनों व्यक्तिवाचक संज्ञा (Proper Noun) है जो एक जातिवाचक संज्ञा (Common Noun) “पशु” के अंतर्गत आते है।

वाक्य सहित जातिवाचक संज्ञा का उदाहरण –

वाक्य – पशु चारा खाते है। –

“पशु” एक जातिवाचक संज्ञा है। “पशु” नाम किसी विशेष जानवर का ना होकर जाति विशेष का है। “पशु” शब्द से यह प्रतीत नही होता कि वह घोड़ा, बकरी, भैंस इत्यादि है। इस नाम से केवल जाति का पता चलता है।

3. समूह वाचक संज्ञा (Collective Noun)

इस प्रकार की संज्ञा किसी व्यक्ति, स्थान, वस्तु के समूह के नाम को बताती है। इसलिए इसे समूहवाचक संज्ञा (Collective Noun) कहते है। जैसे कि क्रिकेट टीम, आर्मी की टुकड़ी, पुस्तकालय, जानवरों का झुंड, लोग, समाज इत्यादि सभी नामों में एक समूह की बात हो रही है। इसे समुदायवाचक संज्ञा भी कहते है।

वाक्य सहित समूहवाचक संज्ञा का उदाहरण –

वाक्य  – भारतीय क्रिकेट टीम विश्व में सर्वश्रेष्ठ है। –

इस वाक्य में “क्रिकेट टीम” शब्द एक समूहवाचक संज्ञा (Collective Noun) है। क्रिकेट टीम में खिलाड़ियों के समूह की बात हो रही है।

व्यक्तिवाचक (Proper Noun), जातिवाचक (Common Noun) और समूहवाचक संज्ञा (Collective Noun) को इस उदाहरण से आसानी से समझा जा सकता है।

संज्ञा उदाहरण –

जैसे कि कौवा, कुत्ता, सियार, हाथी इत्यादि सभी जानवरों के नाम है। ये नाम सभी विशेष जानवर को दर्शा रहे है। इसलिए इन्हें व्यक्तिवाचक संज्ञा (Proper Noun) कहते है। परंतु “जानवर” शब्द किसी विशेष जानवर को ना बताकर उनकी जाति को बता रहा है। इसलिए “जानवर” एक जातिवाचक संज्ञा (Common Noun) है। “जानवरों का झुंड” समूहवाचक संज्ञा (Collective Noun) है। यहां पर झुंड या समूह की बात हो रही है, इसी कारण समूहवाचक संज्ञा है।

4. भाववाचक संज्ञा (Abstract Noun)

भाववाचक संज्ञा उसे कहते है जो किसी भी गुण, दशा और कार्य के नाम को बताती है। एक तरह से कहे तो यह भाव को दर्शाती है। जैसे कि स्वतंत्रता, ईमानदारी, मानवता, गर्मी, खुशी, थकान, प्रेम इत्यादि सभी नाम भाववाचक संज्ञा (Abstract Noun) है। इस संज्ञा के द्वारा किसी व्यक्ति विशेष या वस्तु के गुणों को बताया जाता है।

वाक्य सहित भाववाचक संज्ञा का उदाहरण –

वाक्य 1 – ईमानदारी सर्वश्रेष्ठ नीति है। –

इस वाक्य में “ईमानदारी” शब्द भाववाचक संज्ञा है। क्योंकि ईमानदारी एक भाव या गुण है जो महसूस किया जाता है।

वाक्य 2 – रमेश शक्तिशाली है। –

इस वाक्य में रमेश को शक्तिशाली की भाववाचक संज्ञा दी गयी है। जबकि रमेश खुद एक व्यक्तिवाचक संज्ञा है।

जातिवाचक संज्ञा से भाववाचक संज्ञा भी बनती है। जैसे कि मनुष्य एक जातिवाचक संज्ञा है जिससे “मनुष्यता” भाववाचक संज्ञा का निर्माण होता है। मनुष्य के आगे “ता” लगाने से भाववाचक संज्ञा बनी है।
इसी तरह से मित्र+ता = मित्रता बनती है। भाववाचक संज्ञा का निर्माण सर्वनाम, विशेषण इत्यादि से भी किया जा सकता है।

5. द्रव्यवाचक संज्ञा (Material Noun)

इस प्रकार की संज्ञा में किसी भी प्रदार्थ (ठोस, द्रव्य, गैस) के नाम को दर्शाया जाता है। जैसे कि पानी, तेल, सोना, एल्युमिनियम इत्यादि सभी द्रव्यवाचक संज्ञा है।

वाक्य सहित द्रव्यवाचक संज्ञा का उदाहरण –

वाक्य – महिलाएं सोने के आभूषण पहनती है। –

इस वाक्य में “सोने” शब्द द्रव्यवाचक संज्ञा है। सोना एक प्रदार्थ है जिस कारण यह द्रव्यवाचक संज्ञा (Material Noun) है।

संज्ञा का पद परिचय क्या है?

वाक्य में संज्ञा शब्दों को वर्णित करना पद परिचय के अंतर्गत आता है। इसके अलावा वाक्य में प्रयुक्त संज्ञा का प्रकार, वचन, लिंग, कारक इत्यादि भी संज्ञा के बताए जाते है।

संज्ञा (Noun) शब्द का पद परिचय उदाहरण –

वाक्य – राम खेलने जाता है। –

राम व्यक्तिवाचक संज्ञा है, पुल्लिंग, एकवचन, कर्ताकारक।

यह भी पढ़े – 

Note – इस पोस्ट What Is Noun In Hindi में संज्ञा किसे कहते हैं, संज्ञा के प्रकार क्या है (Types Of Noun In Hindi) और संज्ञा के उदाहरण पर जानकारी आपको कैसी लगी। यह आर्टिकल “संज्ञा क्या है (Noun Kise Kahate Hain)” अच्छा लगा हो तो इसे शेयर भी करे।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *