चावल की जानकारी, प्रकार व फायदे Information About Rice In Hindi

चावल की जानकारी, प्रकार व फायदे Information About Rice In Hindi – विश्व में चावल (Rice) का उपयोग खाने में सदियों से होता रहा है। विश्वभर में चावल की खेती बहुतायत से की जाती है। चावल अनाज है जिसे धान भी कहते है। चावल खाने के फायदे (Rice Benefits In Hindi), नुकसान, प्रकार व जानकारी पोस्ट में आगे दी गई है।

Information About Rice In Hindi

चावल की जानकारी Information About Rice In Hindi

1. चावल को अंग्रेजी में “Rice” कहते है। तमिल भाषा में चावल को अरिसी कहते है। उड़िया में चावल को चाऊल, तेलुगु में वडुलु, मराठी में तांदुल कहते है।

2. चावल के पौधे की ऊंचाई बहुत कम होती है। इसे धान का पौधा भी कहते है। इस पौधे के बीज से ही प्रोसेस करके चावल निकाला जाता है। बीज का ऊपरी छिलका हटाकर इसे चमकाते है। चावल की तासीर ठंडी प्रकृति की होती है।

3. चावल की खेती करने के लिए पानी की अत्यधिक आवश्यकता रहती है। करीब 1 किलो चावल की पैदावार के लिए 2 हजार लीटर पानी चाहिए। चावल की खेती ऐसी जगह पर की जाती है जो पानी से भरी हो। चावल का पौधा पानी में ही रोपा जाता है।

4. चावल के पोषक तत्व

चावल में कई पोषक तत्व पाये जाते है। इस खाद्य पदार्थ में विटामिन भरपूर मात्रा में होते है। चावल में विटामिन B कॉम्प्लेक्स पाया जाता है। विटामिन के अलावा कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन भी अच्छी खासी मात्रा में पाये जाते है। इसमें फास्फोरस, कैल्शियम, मैगनीज, मैग्नीशियम इत्यादि कई मिनरल्स होते है। चावल आयरन का भी रिच सोर्स है। इस खाद्य प्रदार्थ में फाइबर भी प्रचुर होता है।

5. चावल को पकाकर भात बनाई जाती है। भात भारत में खानपान का मुख्य व्यंजन है। शादी समारोह हो या फिर घर में सामान्य खाना बनाना हो, भात मुख्य व्यंजन होता है। खासकर दक्षिण भारत, बंगाल में चावल की भात सर्वोधिक पसंद की जाती है। भात को मांस, दाल, सब्जी, दही या मछली के साथ खाया जाता है।

6. चावल से खिचड़ी भी बनती है। खिचड़ी स्वास्थ्यवर्धक व्यंजन है। चावल की बिरयानी भी काफी प्रसिद्ध है। इससे खीर भी बनाई जाती है।

7. भारत के लगभग प्रत्येक राज्य में चावल की भात मशहूर है। दक्षिण भारत, उड़ीसा, असम, बंगाल, बिहार जैसे इलाके चावल की दृष्टि से प्रसिद्ध है। इन राज्यों में चावल अत्यधिक खाया जाता है।

8. चावल की हजारों किस्में है जो प्रसिद्ध है। बासमती चावल किस्म विश्वभर में फेमस है। यह चावल लम्बा और खुशबूदार होता है। यह चावल की सबसे उन्नत किस्मों में से एक है।

9. धान की खेती विश्व में मक्का अनाज के बाद सर्वोधिक होती है। एशिया महाद्वीप धान का सबसे बड़ा उत्पादक है।

चावल के प्रकार Types Of Rice In Hindi

चावल सफेद, पिला, भूरा, लाल इत्यादि रंगों में मिलता है।

  • सफेद चावल में कैलोरी ज्यादा होती है। यह चावल ज्यादा चमकदार होता है। कम समय में ही सफेद चावल बनकर तैयार हो जाता है।
  • भूरे चावल सबसे ज्यादा लाभदायक होते है। इस प्रकार के चावल में फाइबर अधिक होता है।
  • सफेद और भूरे चावल के अलावा लाल चावल भी होते है। इस चावल में आयरन अधिक मात्रा में होता है।
  • उसना भी चावल का एक खास प्रकार है। इस प्रकार के चावल में पोषक तत्व भी भरपूर होते है।
  • चावल काले रंग के भी होते है। यह सबसे अधिक फायदेमंद किस्म है। इस चावल में अधिक फाइबर, कम फैट होता है।

भारत चावल उत्पादन की दृष्टि से नम्बर 2 पर है। सबसे ज्यादा चावल का उत्पादन चीन में होता है। इंडोनेशिया भी चावल का एक बड़ा उत्पादक देश है। भारत में सबसे अधिक चावल उत्पादन पश्चिम बंगाल में होता है। निर्यात के मामले में भी भारत सबसे आगे है।

चावल खाने के फायदे Chawal Khane Ke Fayde Hindi Mein

1. चावल में फाइबर की मात्रा अधिक होने से पेट साफ जल्दी होता है। कब्ज जैसी पेट की समस्या से निजात मिलती है। चावल पचने में भी आसान होते है।

2. चावल खाने से ऊर्जा तुरन्त मिलती है। शरीर में स्फूर्ति रहती है क्यूंकि चावल में कार्बोहाइड्रेट ज्यादा होता है।

3. वैसे तो चावल खाने से वजन बढ़ता है लेकिन भूरे रंग के चावल खाने से वजन कम हो सकता है। इसका कारण भूरे चावल में फाइबर अधिक होना है।

4. ब्राउन राइस खाने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा संतुलित रहती है। इस कारण दिल सबंधी बीमारियां दूर रहती है। चावल खाने से हाई ब्लड प्रेशर से निजात मिलती है।

5. लाल चावल खाने से खून की कमी दूर होती है। इसमें आयरन अधिक मात्रा में होता है जिससे शरीर में खून की मात्रा बढ़ती है।

6. चावल को पकाने के बाद मांड निकलता है। इसका उपयोग दस्त को सही करने में किया जाता है। दही मिलाकर चावल खाने से भी दस्त में आराम मिलता है।

7. चावल खाने से पेट के कीड़े भी मरते है। चावल को रात के समय भूनकर पानी में भिगो दें। सुबह पानी को छानकर पीने से पेट के कीड़े मर जाते है।

चावल खाने के नुकसान Rice Information In Hindi

1. अधिक मात्रा में चावल खाने से अपच या गैस की समस्या हो सकती है। जिन लोगो को मधुमेह की समस्या है, उन्हें चावल खाने से परहेज करना चाहिए। अस्थमा रोगियों को भी चावल का परहेज जरूरी है।

2. कई लोगो का मानसिक डर होता है कि चावल अधिक खाएंगे तो वजन बढ़ जाएगा। इसका मुख्य कारण चावल में कैलोरी की मात्रा अधिक होना है।

3. अगर किसी व्यक्ति को गम्भीर बीमारी है तो बिना डॉक्टर की सलाह के चावल का सेवन ना करे। डॉक्टर के परामर्श से ही चावल का सेवन करना बेहतर है। चावल का सेवन करना फायदेमंद है लेकिन अत्यधिक खाने से पेट में समस्या हो सकती है।

अन्य उपयोगी पोस्ट्स –

Note – इस पोस्ट Information About Rice In Hindi में चावल की जानकारी, चावल के प्रकार व चावल खाने के फायदे (Chawal Khane Ke Fayde Hindi Mein) दिए गये है। यह पोस्ट “Rice Information In Hindi” अच्छी लगी हो तो इसे शेयर भी करे।

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *