औजारों के नाम Tools Name In Hindi And English

प्रमुख औजारों के नाम Name Of Tools In Hindi –

घरेलू या मिस्त्री उपयोग में आने वाले औजारों के नाम (Tools Name In Hindi And English) और सामान्य जानकारी इस आर्टिकल में देने का प्रयास है। इलेक्ट्रीशियन, मेकैनिक, प्लम्बर, कारपेंटर को विभिन्न उपयोगी कार्यो के लिए उपकरणों या औजारों की आवश्यकता होती है। इनके उपयोग में आने वाले मुख्य उपकरणों के नाम (Tools Ke Naam) और औजारों के प्रमुख कार्य इस पोस्ट में जानेंगे।

Tools Name In Hindi

(A) इलेक्ट्रीशियन के औजार के नाम –

1. पेंचकस (Screwdriver) – इस टूल की मदद से स्क्रू या पेंच को कसा या टाइट किया जाता है। पेंचकस के आगे के सिरे को स्क्रू पर बलपूर्वक घुमाते है। इसका हत्था बेलनाकार होता है जिसपर प्लास्टिक की कोटिंग की गई होती है।

2. पलास (Pliers) – पलास Electrician का एक प्रमुख औजार है। इसका मुख्य कार्य ऑब्जेक्ट को पकड़ना होता है। वायर कटिंग या ट्विस्टिंग भी पलास से होती है। Electrician के पलास का जबड़ा फ्लैट होता है।

3. हथौड़ा (Hammer) – हथोड़े का उपयोग Electrician बहुत करते है। इसका इस्तेमाल धातु पर चोट करने, कील ठोकने में किया जाता है। Electrician का हथौड़ा आकार में अन्य के मुकाबले छोटा होता है। हथौड़ा कास्ट आयरन या स्टील का बना होता है। जबकि इसका हत्था लकड़ी का होता है।

4. टेस्टिंग लैंप (Testing Lamp) – इस इलेक्ट्रिक टूल का इस्तेमाल उपकरण को चेक करने में किया जाता है। इस टूल में दो वायर होते है जो एक बल्ब से जुड़े होते है। विद्युत उपकरण में करंट का पता लगाने के लिए टेस्टिंग लैंप का उपयोग करते है। टेस्टिंग लैंप को करंट चेक करने के लिए उपकरण की सीरीज में लगाया जाता है।

उपकरणों के नाम Tools Ke Naam –

5. सोल्डरिंग आयरन (Soldering Iron) – इसका कार्य दो वायर्स को आपस में जोड़ने का होता है। PCB (Printed Circuit Board) पर किसी भी कंपोनेंट को सोल्डर करने के लिए “soldering iron” का इस्तेमाल किया जाता है। सोल्डरिंग के लिए रांगे का उपयोग करते है।

6. लाइन टेस्टर (Line Tester) – इसे फेज टेस्टर भी कहते है। न्यूट्रल और फेज वायर की पहचान करने के लिए फेज टेस्टर की आवश्यकता होती है। यह टेस्टर पेंचकस की भांति होता है जिसमें एक नियॉन बल्ब लगा होता है। इसकी लाइट इंडीकेट करती है कि फेज है या न्यूट्रल।

7. स्टैण्डर्ड वायर गेज (Standard Wire Gauge) – यह एक 25 MM मोटी गोलाकार प्लेट होती है। इसमें झिरिया कटी होती है जिसमें तार डालकर साइज का पता लगाया जाता है।

(B) मैकेनिक के औजार (Mechanical Tools Name In Hindi) –

मैकेनिक के औजारों में पेंचकस, हथौड़ा, पलास इत्यादि इलेक्ट्रिशन उपकरण भी काम आते है। मैकेनिक मिस्त्री हस्त औजारों का उपयोग करता है। अन्य मैकेनिक औजार के नाम –

1. पाना या रेंच (Wrench, Spanner) – इस टूल का मुख्य उपयोग नट बोल्ट को टाइट करने या खोलने में किया जाता है। हाथ से बल लगाकर नट बोल्ट को “spanner” से घुमाते है।

2. पाने के प्रकार – ज्यादातर उपयोग में आने वाले Spanner तीन प्रकार के होते है।

  • Open Jaw Spanner – इसके दोनों सिरे खुले होते है। ये दोनों सिरे U शेप में होते है।
  • Ring Spanner – इस पाने के दोनों सिरे रिंग के समान होते है। इस रिंग में समान कोणों पर झिर्रिया कटी होती है।
  • Combined Spanner – इसमें एक सिरा U शेप का और दूसरा रिंग आकार का होता है।

(C) प्लम्बर के औजार के नाम Plumber Tools –

Tools Name In Hindi – प्लम्बर का कार्य पाइप और नल फिटिंग का होता है। प्लम्बर के औजारों में पाने (Spanner) का सेट होता है। हथौड़ा भी प्लम्बर का एक प्रमुख औजार है। प्लम्बर के अन्य औजारों के नाम

1. आरी (Saw) – आरी का मुख्य कार्य पाइप कटिंग का होता है। इसमें मुख्य प्लंबिंग आरी Hacksaw और Holesaw होती है।

2. पाइप रेंच पाना (Pipe Wrench Spanner) – यह एक adjustable टूल है जो पाइप को कसने या लूज करने में उपयोग होता है। इस टूल में आगे का सिरा जबड़ेनुमा होता है। पिछला सिरा इसका हैंडल होता है।

3. चैनल लॉक पलास (Channel Lock Pliers) – इसका कार्य पाइप रेंच की तरह ही होता है।

4. पाइप ब्लेंडर (Pipe Blender) – पाइप में बेंड देने के लिए ब्लेंडर का इस्तेमाल करते है। मुड़ाव पर पाइप को शेप देने के लिए भी पाइप ब्लेंडर का उपयोग होता है।

5. मेटल फ़ाइल या रेती (Metal File) – इस उपकरण या टूल का उपयोग पाइप कटिंग के बाद सिरों को smooth करने में होता है।

6. मापन फीता (Steel Tape) – दूरी या लम्बाई मापने के लिए स्टील टेप का उपयोग किया जाता है।

(D) बढ़ई के औजारों के नाम (Carpenter Tools Name In Hindi) –

लकड़ी के दरवाजे, खिड़की, अलमारी इत्यादि बनाने के लिए बढ़ई कई सारे टूल्स का इस्तेमाल करता है। अन्य मिस्त्रियों की तरह ही कारपेंटर भी हथोड़े का इस्तेमाल करते है।

1. आरी (Saw) – प्लंबिंग की तरह ही आरी का इस्तेमाल बढ़ई के काम में बहुत होता है। लकड़ी को काटने के लिए आरी का उपयोग किया जाता है।

मुख्य आरी के प्रकार –

  • हस्थ आरी (Hand Saw), हैक आरी, रिप आरी, टेनन आरी इत्यादि। आरी का इस्तेमाल लकड़ी को चीरने के लिए किया जाता है।

2. मार्किंग टूल्स (Marking Punching Tools) – एक निश्चित माप के लिए जॉब पर मार्किंग पंच के द्वारा स्थायी निशान किये जाते है। इनमें सेंटर पंच, डॉट पंच इत्यादि आते है। इस टूल का एक सिरा नुकीला और तेज धार वाला होता है।

3. रन्दा (Jack Plane) – यह औजार लकड़ी का बना होता है जिसमें एक लोहे की शार्प ब्लेड लगी होती है। फर्नीचर बनाने के लिए लकड़ी को साफ, सीधा और स्मूथ बनाने में रन्दा उपयोग किया जाता है।

4. छेनी (Chisel) – छेनी का कार्य मुख्यत शीट कटिंग का होता है। लेकिन कारपेंटर भी छेनी का उपयोग करते है।

5. ड्रिल (Drill) – ड्रिल के द्वारा लकड़ी में छेद या होल किया जाता है। यह एक तरह का कटिंग टूल है जो छिद्र बनाने में उपयोग होता है। ड्रिल के द्वारा किसी भी धातु में आसानी से होल किया जा सकता है।

अन्य उपयोगी पोस्ट्स – 

Note – प्रमुख औजारों के नाम और उनके बारे में सामान्य जानकारी आपको कैसी लगी। यह पोस्ट Tools Name In Hindi And English अच्छी लगी हो तो इसे शेयर भी करे।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *