हिंदी भाषा का महत्व पर निबंध Essay On Hindi Language

हिंदी भाषा का महत्व पर निबंध Essay On Hindi Language Importance

दोस्तों, हिंदी भारत की सबसे आम बोलचाल भाषा है। हिंदी भाषा उत्तर भारत में ज्यादातर बोली जाती है। वैसे तो भारत देश में तमिल, तेलुगु, मलयालम, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, उर्दू इत्यादि कई भाषाएं है जो एक खास राज्य में विशेषकर बोली जाती है। परंतु हिंदी भाषा का अपना एक विशेष महत्व है। संस्कृत से निकली हिंदी ने कई भाषाओं से शब्दों को ग्रहण किया है। चाहे वो भाषा विदेशी हो या फिर क्षेत्रीय, हिंदी ने सभी भाषाओं से शब्दों को लिया है। तो मित्रों हिंदी भाषा का महत्व पर निबंध (Hindi Bhasha Par Nibandh Hindi Me) में इसकी महत्वत्ता पर चर्चा करते है।

Essay On Hindi Language

हिंदी भाषा का महत्व पर निबंध Essay On Hindi Language –

हिंदी (Hindi Language) का उदय संस्कृत भाषा से हुआ है। देवनागरी लिपि में हिंदी भाषा लिखी जाती है। यह दुनिया की सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषाओं में से एक है। हिंदी भारत देश की राजभाषा भी है। भोजपुरी, मारवाड़ी इत्यादि भाषाएं हिंदी से ही निकली है। वर्तमान में हिंदी अपने मूल देश में ही अपना महत्व खोती जा रही है।

वर्तमान में दुनिया के लगभग हर कोने में हिंदी भाषी लोग मिल जाते है। भारत में मुख्य हिंदी भाषी राज्यों में राजस्थान, उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, बिहार इत्यादि आते है। वैसे दोस्तों हिंदी गुजरात, महाराष्ट्र, पंजाब, पश्चिम बंगाल इत्यादि राज्यों में भी बोली जाती है। इन राज्यों में हिंदी आम बोलचाल की प्रथम भाषा नही है। फिर भी हिंदी यहां पर समझी और बोली जाती है।

हिंदी भाषा भारत को एकता के सूत्र में बांधती है। भारत में हिंदी के अलावा तेलुगु, तमिल, मलयालम, गुजराती, मराठी, बंगाली, असमी, उर्दू इत्यादि भाषाएं बोली जाती है। इतनी सारी भाषाओं के बावजूद हिंदी का खास महत्व है। क्योंकि गैर हिंदी भाषी राज्यों के लोग हिंदी सीखते है। हिंदी उत्तर भारतीयों की मातृभाषा है। दक्षिण भारतीयों के लिए हिंदी समझना मुश्किल होता है। इसका मुख्य कारण है कि हिंदी उनकी मातृभाषा नही है। दक्षिण भारत के लोग हिंदी सीखते है। भारत में विभिन्न भाषाओं का बोले जाना विविधता है। भारत में विविधता में ही एकता है।

हिंदी भाषा का महत्व Hindi Language Importance –

Essay On Hindi Language – संस्कृत भाषा से हिंदी का उदगम हुआ है। यह विश्व की प्राचीन भाषा है। हिंदी भाषा में कालांतर में काफी बदलाव भी हुआ है। समय समय पर कई भाषाओं का प्रभाव हिंदी पर रहा है। वर्तमान में बोली जाने वाली हिंदी भाषा शुद्ध नही है। भारत में प्रान्त, राज्य, स्थान पर हिंदी बोली बदल जाती है।

हिंदी की विशेषता यह भी है कि दूसरी भाषाओं के शब्द भी इसमें आसानी से समाहित हो जाते है। जैसे कि “बटन” एक अंग्रेजी भाषा का शब्द है लेकिन हिंदी में आमतौर पर इस्तेमाल किया जाता है। हिंदी शब्द का उद्गम सिंधु शब्द से हुआ है। ईरान के लोग “स” शब्द को “ह” कहते थे। इससे सिंधु का हिन्दू हुआ और हिन्दू से भाषा “हिंदी” कहलाई।

हिंदी भाषा की ग्रामर बहुत सरल है जिसे समझना बहुत आसान है। हिंदी में जैसा लिखा होता है, वैसा ही बोला जाता है। किसी भी भाषा की सुंदरता, उसकी सरलता होती है। भाषा जितनी सरल होगी, उतनी ही सुंदर होगी। हिंदी की व्याकरण में सभी तरह के भावार्थ है। मानवीय विचारों को भाषा के रूप में प्रकट करने के लिए हिंदी में काफी शब्दावली है।

भारतीय हिंदी भाषा में वर्णों की संख्या 52 है। इनमें 11 स्वर और और 41 कि संख्या में व्यंजन है –

  • हिंदी भाषा में स्वर – अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ए, ऐ, ओ, औ।
  • हिंदी भाषा में व्यंजन – क, ख, ग, घ …… क्ष, त्र, ज्ञ इत्यादि होते है।

भारतीय हिंदी भाषा पर निबंध Hindi Bhasha Par Nibandh –

हिंदी भाषा (Hindi Language) भारत के अलावा विदेशों में भी बोली जाती है। नेपाल, मॉरीशस, फिजी इत्यादि देशों में हिंदी अधिकतर बोली जाती है। मंदारिन और अंग्रेजी भाषा के बाद “हिंदी” तीसरी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। वर्तमान में गूगल और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म भी हिंदी कंटेंट को बढ़ावा दे रहे है। ऑनलाइन सर्वर पर लाखों की संख्या में हिंदी वेबसाइट है। आपका अपना नॉलेज डब्बा ब्लॉग भी हिंदी भाषा में है।

14 सितम्बर को हर वर्ष हिंदी दिवस मनाया जाता है। इस तिथि को हिंदी दिवस मनाने के पीछे का कारण 14 सितम्बर, 1949 में हिंदी को आधिकारिक राजभाषा के रूप में स्वीकार होना था। हिंदी दिवस के दिन विद्यालयों में कई कार्यक्रम आयोजित किये जाते है। इस दिन हिंदी भाषा का महत्व पर चर्चा की जाती है। हिंदी भाषा पर निबंध, विचार और कविता लेखन होता है। हिंदी दिवस के अवसर पर भारत सरकार राजभाषा कीर्ति पुरस्कार देती है।

भारतवासियों को हिंदी भाषा का सम्मान करना चाहिए। हिंदी को सम्मान देना, हमारे लिए गर्व और स्वाभिमान का विषय है। भाषा किसी भी राष्ट्र के लिए उसकी सांस्कृतिक पहचान होती है। हिंदी भारत की पहचान और हमारी संस्कृति है।

यह भी पढ़े – 

Note – प्यारे दोस्तों, हिंदी भाषा का महत्व पर निबंध (Essay On Hindi Language) आपको अच्छा लगा होगा। हिंदी का महत्व (Hindi Language Importance) और भाषा के बारे में जानकारी आपके लिए ज्ञानवर्धक साबित हुई होगी। इस पोस्ट “Hindi Bhasha Par Nibandh” को शेयर भी अवश्य करे।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *