सीमेंट क्या है, प्रकार और खोज Cement In Hindi

सीमेंट क्या है What Is Cement In Hindi

सीमेंट की खोज किसने की (Cement Ki Khoj Kisne Ki)? यह प्रश्न अक्सर आपके दिमाग में आता होगा। इस प्रश्न के उत्तर के लिए हमे इतिहास के पन्नों को पलटना होगा। आप जानते ही है कि सीमेंट के बिना बिल्डिंग निर्माण नही होता है। रेत के साथ सीमेंट मिलाकर ऊंची ऊंची इमारतें बना दी जाती है। तो आइए दोस्तों सीमेंट क्या है (Cement Kya Hai), सीमेंट के प्रकार और इसका आविष्कार किसने किया था? इन प्रश्नों को हल करने का प्रयास करते है।

Cement In Hindi
Cement Ki Khoj Kisne Ki

सीमेंट की खोज किसने की Cement Ki Khoj Kisne Ki –

प्राचीन काल में ईसा पूर्व रोम देश में सीमेंट का आविष्कार या खोज हुई थी। खुदाई और गहन इतिहास अध्ययन से मिले तथ्य इस बात की और इशारा भी करते है। रोमनवासी ज्वालामुखी की राख के साथ चुना और बालू मिलाकर भवन निर्माण करते थे। “जॉन स्टीमन” नामक व्यक्ति ने चुना पत्थर का उपयोग मिट्टी के साथ किया था। यह एक प्रकार का सीमेंट (Cement) ही था।

इसके बाद वर्ष 1824 में “जोसेफ आस्पडीन” नामक शख्श ने पोर्टलैंड चुने का इस्तेमाल करके इस सीमेंट को और अधिक अच्छा बनाया। आजकल भवन निर्माण में पोर्टलैंड सीमेंट का ही उपयोग किया जाता है। सबसे अधिक प्रचलित सीमेंट पोर्टलैंड ही है। इसलिए सीमेंट की खोज और आविष्कार का श्रेय जोसेफ को ही जाता है। सीमेंट की खोज (Cement Ki Khoj) आधुनिकता की जरूरत थी। वैसे आपकी जानकारी के लिए बता दे कि पोर्टलैंड सीमेंट का नाम ब्रिटेन के पोर्टलैंड स्थान पर पड़ा है। क्योंकि पोर्टलैंड में ही सीमेंट का आविष्कार किया गया था।

सीमेंट क्या है What Is Cement In Hindi –

सीमेंट क्या है (Cement Kya Hai) और इसे कैसे बनाते है? इन प्रश्नों पर भी प्रकाश डालना जरूरी है। भवन, पुलिया आदि पक्के निर्माण में उपयोग होने वाली सामग्री को सीमेंट कहते है। ईंट के साथ चुनाई में यह बेहतर रहती है। इसमें कैल्शियम, एल्युमिनियम, आयरन, सिलिकॉन इत्यादि तत्व होते है। इन तत्वों की मात्रा निश्चित अनुपात में होती है। एक तरह से कहे तो सीमेंट में सिलिकेट और ऐल्युमिनेट के योगिक होते है।

सीमेंट में चुने की मात्रा 60 से 70 फीसदी होती है। चुना पत्थर और मृतिका मिट्टी को शुद्ध करके बारीक पीस लिया जाता है। इस मिश्रण को उच्च तापमान पर भट्टी में गर्म किया जाता है। इसके बाद इस मिश्रण में जिप्सम मिलाया जाता है। इसे महीन बारीक पीसा जाता है और अंत में पोर्टलैंड सीमेंट प्राप्त होता है। वर्तमान में उपयोग होने वाला पोर्टलैंड सीमेंट स्लेटी कलर का होता है। यह सीमेंट पानी के संपर्क में आकर पत्थर जितना कठोर हो जाता है। यह सीमेंट का सबसे बेहतर रूप है।

सीमेंट के मुख्य प्रकार Types Of Cement In Hindi –

  • ऑर्डिनरी पोर्टलैंड सीमेंट (OPC)
  • रैपिड हार्डनिंग सीमेंट
  • हाई एलुमिना सीमेंट
  • कलर सीमेंट, सफेद सीमेंट
  • हाइड्रोफोबिक सीमेंट

इत्यादि मुख्य प्रकार की सीमेंट है। दुनियाभर में सबसे अधिक इस्तेमाल OPC सीमेंट का होता है।

सीमेंट की जानकारी Cement Kya Hota Hai –

सीमेंट कई क्वालिटी में आता है। छूने पर ठंडा लगना एक अच्छे सीमेंट की पहचान है। अच्छी क्वालिटी का सीमेंट पानी में डूबता नही है। मार्केट में नकली सीमेंट भी मिलती है जिससे सावधान रहना जरूरी है। सीमेंट का इस्तेमाल करने से पूर्व कारीगर की राय जरूर लेवे। क्योंकि यह आपके मजबूत घर का मामला है।

दुनिया में सीमेंट के अत्यधिक इस्तेमाल के कारण सीमेंट उद्योग बहुत ज्यादा फला फुला है। भारत देश में तमिलनाडु राज्य सीमेंट उत्पादन की दृष्टि से नम्बर 1 है। भारत में सीमेंट की मुख्य कम्पनियों में बिरला सीमेंट, अम्बुजा सीमेंट, अल्ट्राटेक, वंडर सीमेंट इत्यादि मुख्य है।

पुराने जमाने में लकड़ी और पत्तियों से बनी झोपड़ी होती थी। उसके बाद कच्चे मकानों ने उनकी जगह ली। वर्तमान में पक्के घर बनाये जा रहे है। पक्के घरों के निर्माण में सीमेंट प्रयुक्त होता है। सीमेंट लोहा सरिया और कंक्रीट के साथ मिलकर मजबूत इमारत बनाता है। सीमेंट की कई किस्में होती है जिनमें रंगीन और सफेद सीमेंट मुख्यतः आती है। सफेद सीमेंट आम सीमेंट से महंगी होती है। बढ़ते आधुनिकरण के चलते मकानों का निर्माण तेजी से हो रहा है। इसलिये दुनियाभर में सीमेंट की बहुत अधिक मांग है।

अन्य खोज सबंधित पोस्ट्स – 

Note – इस पोस्ट What Is Cement In Hindi में सीमेंट क्या है (Cement Kya Hai), सीमेंट की खोज किसने की (Cement Ki Khoj Kisne Ki) और सीमेंट के प्रकार पर जानकारी आपको कैसी लगी। यह आर्टिकल “Cement History Aur Avishkar In Hindi” अच्छा लगा हो तो इसे फेसबुक और ट्विटर पर शेयर जरूर करे।

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *