कार का आविष्कार किसने किया Car History In Hindi

कार का इतिहास पर जानकारी Car History In Hindi –

दोस्तों, कार का आविष्कार किसने किया (Car Ka Avishkar Kisne Kiya) और कार का इतिहास क्या है (Car History In Hindi)? ये प्रश्न आपके दिमाग में हमेशा आते होंगे। आवाजाही और यात्रा के लिए प्राचीन काल से ही तरह तरह के वाहन इस्तेमाल होते आ रहे है। समय के साथ बैलगाड़ी, ऊंटगाड़ी, साइकिल इत्यादि का उपयोग वाहन के रूप में होता रहा है। परंतु मोटरकार के आविष्कार ने दुनिया बदलने का कार्य किया था। यह आर्टिकल “Car Information In Hindi” कार के इतिहास और आविष्कार के बारे में है।

Car History In Hindi

कार का आविष्कार किसने किया (Car Ka Avishkar Kisne Kiya) –

कार का इतिहास (Car History In Hindi) बड़ा ही रोचक है। इसका कारण यह है की कार के आविष्कार का दावा समय समय पर कई लोगों ने किया है। कार के आविष्कार में कई वैज्ञानिकों का योगदान है। वैसे अगर किसी एक व्यक्ति का नाम ले तो कार्ल बेंज ने सर्वप्रथम एक तीन पहिये की कार बनाई थी। कार्ल बेंज ने डेमलर के साथ मिलकर कार निर्माण कम्पनी की शुरुआत की थी। यह दुनिया की सबसे पहली कार निर्माता कंपनी थी।

आम लोगों के लिए कार खरीदना हेनरी फोर्ड ने सम्भव किया। उन्होंने फ़ोर्ड मोटर कम्पनी की शुरुआत की थी। फ़ोर्ड ने मध्यम वर्ग के लिए कारे लांच की थी। आज भी हैनरी फ़ोर्ड की कम्पनी कार बनाती है।

इनके अलावा भी इतिहास में ऐसे कई लोग है जिन्होंने कार के विकास में योगदान दिया था। पेट्रोल इंजन की कार का आविष्कार अमेरिकी चार्ल्स ढुरेया ने किया था। यह दुनिया की पहली ऐसी कार थी जो पेट्रोल की मदद से चलती थी। वर्तमान में ऑटोमोबाइल मुख्यतः पेट्रोल और डीज़ल से चलती है।

मोटर कार या इसके जैसे दिखने वाले वाहन का आइडिया सबसे पहले मशहूर चित्रकार लेओनार्दो दा विंसी को आया था। यह वर्ष 1500 का समय था जब उन्होंने इसका डिजाइन किया था।

कार के बारे में जानकारी Car Information In Hindi –

कार का इतिहास Car History In Hindi – वर्ष 1769 में भाप से चलने वाले वाहन का निर्माण हुआ था। निकोलस जोसेफ नामक व्यक्ति ने इस वाहन का आविष्कार किया था। यह इंजन बहुत कम पॉवर का था जिससे इसकी गति एक पैदल यात्री से भी कम थी। जेम्स वाट ने भाप के इंजन का आविष्कार किया था। भाप इंजन के आविष्कार ने ही गाड़ी या कार के निर्माण की नींव रखी थी। भाप इंजन की मदद से ही रेलगाड़ी का आविष्कार हुआ था। ऑटोमोबाइल के लिए डीज़ल इंजन का आविष्कार रुडोल्फ डीज़ल ने किया था।

ऑटोमोबाइल इतिहास पर चर्चा पहिये के आविष्कार के बिना अधूरी है। पहिये की खोज ने ही वाहन की नींव रखी थी। इससे पहले इंसान पैदल या घोड़े, ऊंट आदि जानवरों पर यात्रा करता था। पहिये की गाड़ी को ऊंट, बैल और घोड़े से जोड़कर वाहन का रुप दिया गया था। इनका उपयोग प्राचीनकाल से ही होता आ रहा है।

भारत देश में कार का आगमन 19 वीं सदी में हुआ था। भारत में अंग्रेजी शासन के समय ऑटोमोबाइल आया था। उस समय केवल खास लोग ही कार का उपयोग कर पाते थे। आम लोगो के लिए कार खरीदना आसान नही था। आजादी के पहले और बाद में नेताओं के लिए एम्बेसडर कार का चलन भी था।

कार चार पहियों के वाहन को कहते है जो ईंधन से चलती है। कार ईंधन के रूप में पेट्रोल, डीजल, एलपीजी गैस का उपयोग किया जाता है। वैसे आजकल इलेक्ट्रिक कार भी प्रचलन में है। परिवहन के लिए कार का उपयोग व्यापक रूप से किया जाता है।

ऑटोमोबाइल का इतिहास और आविष्कार –

Car History In Hindi – भारत की प्रमुख कार कम्पनियों में मारुति, टाटा, महिंद्रा इत्यादि आती है। दुनिया की महंगी कार निर्माताओं में रोल्स रॉयल का नाम आता है। विज्ञान ने मोटर कार को सफल बनाया है क्योंकि पहले यह एक सपने की तरह था। ईंधन की शक्ति से किसी वाहन को खींचना सम्भव हुआ है। कार ने शहरों और गांवों की दूरियों को कम किया है। वर्तमान में कार के अलावा बस, ट्रक इत्यादि वाहन भी आया गए है।

अन्य आविष्कार का इतिहास –

Note – इस पोस्ट में कार का आविष्कार किसने किया (Car Ka Avishkar Kisne Kiya) और कार का इतिहास (Car History In Hindi) क्या है? प्रश्नो के बारे में जानकारी आपको कैसी लगी। यह आर्टिकल “ऑटोमोबाइल का इतिहास और आविष्कार Car Information In Hindi” आपको अच्छा लगा हो तो इसे फेसबुक और ट्विटर सोशल मीडिया पर शेयर भी करे।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *