बीटल कीट की रोचक जानकारी Beetle Insect In Hindi

बीटल कीट “Beetle Insect In Hindi” दुनियाभर में पाया जाने वाला मुख्य कीट है। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि दुनिया का हर चौथा जानवर बीटल कीट है। इस कीड़े की कई प्रजातियां मिलती है जिनकी इस आर्टिकल “Information About Beetle Insect” में चर्चा करेंगे।

Beetle Insect In Hindi

बीटल कीट की जानकारी Beetle Insect In Hindi –

1. बीटल कीट (Beetle Insect) दुनिया के लगभग हर हिस्से पर मिलता है। केवल पृथ्वी के ध्रुवों और खारे पानी के महासागरों में यह कीड़ा प्रजाति नही मिलती है।

2. बीटल कीट कोइलोप्टेरा गण का कीट है। दुनियाभर में बीटल इंसेक्ट की लाखों प्रजातीयां पायी जाती है। एक अनुमान के अनुसार करीब 3 लाख बीटल कीड़े की प्रजाति इस दुनिया में है। अभी भी बीटल की अन्य प्रजातियों की खोज जारी है।

3. वयस्क बीटल कीट के दो पंखों के सेट होते है। इनका पहला जोड़ा पंख सख्त और मोटा होता है जबकि दूसरे जोड़े विंग्स इसे उड़ने में समर्थ करते है।

4. इस कीट के अन्य कीटो की तरह 6 पैर होते है। यह कीट कई रंगों में आता है लेकिन मुख्यतः इनका रंग काला या भूरा होता है। बीटल इंसेक्ट के आगे की और एक एंटीना होता है जिससे यह गंध और वाइब्रेशन महसूस करता है।

5. बीटल कीट के शरीर की खोल या आवरण सख्त होती है। इनका आकार करीब 6 इंच तक होता है। एलीफैंट बीटल प्रजाति करीब 3 इंच तक बढ़ती है। कुछ प्रजातियां इंच के सोलहवें हिस्से जितनी छोटी होती है। दुनिया की सबसे भारी बीटल गोलिएथ बीटल है जो करीब 115 ग्राम होती है। हरक्यूलिस बीटल दुनिया की सबसे बड़ी बीटल है जिसका आकार करीब 6 इंच होता है।

Information About Beetle Insect बीटल कीट –

6. मादा बीटल कीट एक बार में सैकड़ो अंडे देती है। जी हां आपने सही सुना, यह कीट कई सौ अंडे देता है।

7. कुछ संस्कृति में बीटल को मारना गलत माना जाता है। लेडी बग बीटल को भी कई कल्चर्स में शुभ माना जाता है। लेडी बग को गुड लक भी मानते है और इस कीट को नुकसान पहुंचाना बुरा माना जाता है।

8. बीटल कीट पर्यावरण या मानव के लिए अच्छा भी है और बुरा भी है। कुछ बीटल प्रजाति पर्यावरण को नुकसान पहुंचाती है, तो कुछ लाभदायक होती है। कुछ प्रजाति फसल को नुकसान देते है जबकि कुछ कीड़े फसल या पौधों को फायदा देते है। डंग बीटल फूलों के परागण में भी सहायक होते है।

9. यह कीड़ा हर प्रकार के वातावरण में रह सकता है। यह गंदे पानी से लेकर स्वच्छ पानी तक में रह लेता है। बीटल जमीन पर भी रह लेता है। आमतौर पर बीटल कीट भोजन की उपलब्धता वाली जगह रहता है।

10. बीटल कीट पौधों की पत्तियां, बीज और फल खाता है। कुछ बड़े आकार के बीटल दूसरे छोटे कीटों को भी खाते है। कुछ बीटल प्रजाति लकड़ी और पौधे की छाल भी खाते है।

बीटल कीट का जीवन चक्र Life Cycle Of Beetle –

11. बीटल कीट (Beetle Insect In Hindi) की Life Cycle चार स्टेज की होती है। इस कीट की लाइफ बसन्त ऋतु में शुरू होती है। मादा बीटल इसी ऋतु में अंडे देती है। कुछ समय बाद इन अंडों का लार्वा में परिवर्तन होता है। लार्वा को भोजन जमीन से मिलता है। इसके बाद लार्वा प्यूपा स्टेज में जाता है। इसी स्टेज में बीटल के शरीर, पांव और पंख बनते है। कुछ महीने बाद बीटल की चौथी स्टेज आती है। इस स्टेज में पूर्ण वयस्क बीटल बनता है। बीटल कीट के जीवन चक्र को मेटामोरफोसिस कहते है।

बीटल कीट की जानकारी Beetle Insect Facts In Hindi –

12. Beetle Insect In Hindi – ज्यादातर बीटल कीट प्रजाति रात को एक्टिव रहती है जबकि कुछ प्रजातियां दिन के समय भी एक्टिव रहती है। कई बीटल कीट प्रजातियां प्रवास भी करती है। बीटल का यह प्रवास भोजन की खोज के लिए होता है।

13. बीटल कीट के कई शिकारी भी है जो लार्वा और वयस्क बीटल का शिकार करते है। पक्षी, छिपकली, मछली, चींटी, ड्रैगनफ्लाई इत्यादि जानवर और पक्षी बीटल इंसेक्ट को खाते है।

14. यह कीड़ा देखने में असमर्थ होता है जिससे बीटल वाइब्रेशन या आवाज से आपस में संचार करते है। कुछ प्रजाति के बीटल इंसेक्ट किसी प्रकार का रसायन छोड़ते है जिससे ये आपस में कम्यूनिकेट करते है।

15. कुछ महत्वपूर्ण बीटल प्रजाति में कार्पेट बीटल, पाउडर पोस्ट बीटल, लेडी बग बीटल, टाइगर बीटल, एलीफैंट बीटल, बार्क बीटल इत्यादि आते है।

16. इंसानों के लिए कई बीटल प्रजाति नुकसानदेह होती है। कुछ बीटल एसिड छोड़ती है जिससे त्वचा जल सकती है। अफ्रीका में मिलने वाली एक प्रजाति काफी जहरीली होती है।

17. बीटल कीड़े (Beetle Insect) का जीवनकाल ज्यादा से ज्यादा 1 वर्ष होता है। परन्तु कुछ बीटल प्रजाति इससे ज्यादा भी जी जाती है।

यह भी पढ़े – 

 नोट – इस पोस्ट Beetle Insect In Hindi में बीटल कीट के बारे में जानकारी आपको कैसी लगी। यह आर्टिकल “Information And Facts About Beetle Insect” पसंद आया हो तो इसे फेसबुक और ट्विटर पर शेयर जरूर करे।

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *