Neem Tree In Hindi नीम का पेड़ की जानकारी व फायदे

Neem Tree In Hindi

Neem Tree In Hindi पोस्ट में नीम का पेड़ की जानकारी (Information About Neem Tree In Hindi) और नीम के फायदे (Neem Ke Fayde) है। नीम का वृक्ष भारतीय मूल का पेड़ है। कई आर्युवेदिक गुणों से भरपूर नीम स्वास्थ्यवर्धक है। इस वृक्ष का हर एक भाग आर्युवेद में इस्तेमाल किया जाता है। नीम की छाल, पत्तियां, जड़ इत्यादि से औषधि बनती है। नीम एक छायादार वृक्ष है। तो आइए दोस्तों, नीम का पेड़ के बारे में जानकारी, फायदे बताने का प्रयास इस पोस्ट “Neem Information In Hindi” में है।

नीम का पेड़ की जानकारी Information About Neem Tree In Hindi

1. नीम (Neem Tree) तेजी से बढ़ने वाला पर्णपाती वृक्ष है। नीम हर मौसम में पाया जाने वाला सदाबहार वृक्ष है। पत्तियां पूरे वर्ष पेड़ पर रहती है जबकि फल केवल बसंत ऋतु में ही लगते है। यह पेड़ हवा को शुद्ध करता है और ज्यादा ऑक्सीजन पैदा करता है।

2. यह वृक्ष छायादार और घना होता है जिसकी लम्बाई करीब 30 फुट से लेकर 80 फुट तक होती है। इसके तने की मोटाई करीब 4 फुट होती है। आज यह वृक्ष भारतीय उपमहाद्वीप के अलावा भी अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और एशिया के बाकी हिस्सों में पहुंच गया है।

3. नीम का तना लम्बाई में छोटा और लगभग सीधा होता है। इसके तने पर छाल पायी जाती है जिसका आर्युवेदिक महत्व है। छाल कठोर और दरार युक्त होती है। छाल के बाहरी ऊतक मृत होते है जबकि आंतरिक ऊतक जीवित होते है। बाहरी छाल का रंग भूरा, घुसर होता है। आंतरिक छाल का रंग लाल होता है जो वायु के संपर्क में आते ही भूरे रंग की हो जाती है।

4. इस वृक्ष के तने से कई शाखाएं लगी होती है। इन शाखाओं पर भी छाल होती है। बड़ी और मजबूत शाखा पर टहनियां होती है। इन टहनियों पर हरे रंग की पत्तियां होती है। पत्तियां दांतेदार और स्वाद में कड़वी होती है। नीम का पेड़ प्रकाश संश्लेषण का कार्य इन्ही पत्तियों के द्वारा करता है। नीम की हरी पत्तियों में हरित लवक पाया जाता है।

नीम की जानकारी Neem Information In Hindi –

5. Information About Neem Tree In Hindi – नीम के वृक्ष पर फूल भी लगते है। ये फूल सफेद रंग के गुच्छों के रूप में होते है। अंडाकार या गोलाकार आकार में निम्बोली नामक फल इन्ही फूलों से पनपता है। निम्बोली का रंग पकने पर पीला हो जाता है। यह फल गूदेदार और स्वाद में कड़वा मीठा होता है। इस फल के अंदर गुठलियां होती है जो नीम के बीजारोपण में जरूरी है।

6. नीम की जड़ मुसलादार प्रवर्ति की होती है। यह मजबूत और फैली हुई होती है। इनकी जड़ों से कई छोटी जड़े भी निकलती है। जड़ों का मुख्य कार्य नीम के वृक्ष को आधार देना होता है। प्रकाश संश्लेषण के लिए पानी की आपूर्ति जड़े ही करती है। ये जमीन के भीतर से जल को अवशोषित करके तने तक पहुँचाती है।

7. शक्ति की उपासना और पूजा करने में नीम की पत्तियों का उपयोग आमतौर पर किया जाता है। ज्योतिष में नीम के वृक्ष का सबन्ध शनि देव से माना गया है।

8. नीम के वृक्ष को छाया और ताजी हवा पाने के लिए घरों के आसपास लगाते है। तेज धूप और गर्मी से निजात पाने के लिए गांवों में नीम के पेड़ के नीचे लोग आराम करते है। घर में नीम का पेड़ होना शुभ माना जाता है।

9. नीम की फूलों से मधुमक्खी रसपान करती है। इस पेड़ से प्राप्त शहद बहुत फायदेमंद होता है। इन फूलों का उपयोग एरोमा थैरेपी में भी करते है। नीम की लकड़ी का इस्तेमाल ईंधन के रूप में भी होता है। नीम की पत्तियां जानवरों के चारे में उपयोग होती है। नीम की पत्तियों को जलाने से मच्छर दूर भागते है। नीम का तेल भी मच्छरों को दूर करता है क्योंकि इस तेल की गंध कड़वी होती है।

नीम के फायदे Benefits Of Neem In Hindi –

Neem Ke Fayde (Information About Neem Tree In Hindi) – नीम की पत्तियां, छाल, टहनियां, जड़, गुठली इत्यादि भागों का उपयोग और फायदे है।

1. नीम का तेल (Neem Oil) भी निकालता है जो इसकी गुठली से बनाया जाता है। नीम का तेल कीटनाशक प्रकृति का होता है। त्वचा संबंधित रोगों में नीम का तेल उपयोगी है। इस तेल का उपयोग साबुन, शैम्पू इत्यादि प्रोडक्ट्स बनाने में भी करते है। मार्केट में नीम के साबुन, शैम्पू बहुतायत से मिल जाते है। नीम से बना शैम्पू और साबुन बालों में लगाने से डेंड्रफ दूर होता है। बालों का झड़ना कम करने में नीम का तेल फायदेमंद है। बालों में जूं को खत्म करने में भी नीम फायदेमंद है। कान के दर्द में नीम का तेल लाभकारी होता है।

2. नीम की पत्तियों का उपयोग औषधि के रूप में सदियों से होता रहा है। नीम की नई पत्तियों को चबाने से पेट के कीड़े साफ होते है। चर्म रोग होने पर नीम की पत्तियों को पानी में उबालते है। पानी को ठंडा करके नहाने पर चर्म रोग दूर होता है। नीम की पत्तियों के अर्क से टूथपेस्ट, लोशन, फेसवाश इत्यादि बनाये जाते है। चेहरे से कील मुंहासों को खत्म करने में नीम की पत्तियां लाभकारी है। दाद, खुजली होने पर नीम का इस्तेमाल करना बेहतर है।

3. नीम की पत्तियों से बनी चाय स्वास्थवर्धक होती है। नीम की चाय रक्त को शुद्ध, अल्सर को कम और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है। वैसे नीम की पत्तियों से बनी चाय को पीने से पहले किसी चिकित्सक की सलाह अवश्य ले। क्योंकि नीम की पत्तियों को आंतरिक रूप से लेना आपके लिए अच्छा नही है। बाह्य रूप से नीम का उपयोग सुरक्षित है।

नीम का पेड़ के फायदे Neem Tree Ke Fayde In Hindi –

4. नीम की टहनी का इस्तेमाल खासकर भारत में दांतुन के रूप में होता है। नीम की टहनी को चबाने और दांतों पर ब्रश करने से कीटाणु नष्ट होते है। इससे मसूड़े मजबूत होते है।

5. नीम की छाल में एंटीबैक्टीरियल गुण होते है। चोट लगने पर घाव हो जाता है। अगर नीम की छाल का लेप घाव पर किया जाए तो राहत मिलती है। मलेरिया बुखार में नीम की छाल से बनी दवाई लाभदायक है।

Information About Neem Tree In Hindi – नीम (Neem Ka Ped) के उत्पादों का सेवन गर्भवती औरतों और बच्चों को नही करना चाहिए। इसके सेवन से गर्भपात हो सकता है। नीम को गर्भनिरोधक के रूप में इस्तेमाल भी किया जाता है।

यह भी पढ़े – 

Note – इस पोस्ट Neem Tree In Hindi में नीम का पेड़ की जानकारी (Information About Neem Tree In Hindi) और नीम के फायदे (Neem Ke Fayde) आपको कैसे लगे। यह आर्टिकल “Neem Information In Hindi” अच्छा लगा हो तो इसे शेयर भी करे।

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *