सॉफ्टवेयर के प्रकार की जानकारी | Types Of Software In Hindi

सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं? (Types Of Software In Hindi) इस प्रश्न का उत्तर लेख में समझाने का पूरा प्रयास किया गया है। कंप्यूटर बिना सॉफ्टवेयर के रन नही कर सकता है। कंप्यूटर के प्रत्येक सॉफ्टवेयर का एक निश्चित कार्य होता है। Software Developer जावा, सी ++ इत्यादि हॉइ लेवल भाषाओं से कंप्यूटर और मोबाइल के लिए सॉफ्टवेयर बनाता है। आगे इस आर्टिकल में कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के प्रकार “Computer Software Ke Prakar In Hindi” और उपयोग पर चर्चा करेंगे।

Types Of Software In Hindi

सॉफ्टवेयर के प्रकार – Types Of Software In Hindi

Software कंप्यूटर या मोबाइल का वह भाग होता है जिसे हम देख सकते है लेकिन छू नही सकते। सॉफ्टवेयर कई प्रोग्राम्स का एक समूह होता है। Software यूजर और कंप्यूटर हार्डवेयर के बीच इंटरफेस प्रोवाइड करता है। सॉफ्टवेयर पर कार्य करके Data Process किया जाता है। Software ना केवल कंप्यूटर के लिए होते है बल्कि स्मार्टफोन में भी महत्वपूर्ण होते है।

सॉफ्टवेयर के बिना मोबाइल या कंप्यूटर की कल्पना भी नही कर सकते है। Computer का हर एक कार्य Software से ही होता है। सॉफ्टवेयर के बिना कंप्यूटर हार्डवेयर जैसे कि माउस, कीबोर्ड इत्यादि काम नही करते है। कंप्यूटर सॉफ्टवेयर क्या है?, इस बारे में हम पहले के आर्टिकल में पढ़ चुके है। अब आइये दोस्तों, कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के प्रकार के बारे में पढ़ते है।

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं? (How Many Types Of Computer Software)

Different Types Of Computer Software In Hindi – कंप्यूटर सॉफ्टवेयर मुख्यतः दो प्रकार के होते है।

1. सिस्टम सॉफ्टवेयर

2. एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर

1. सिस्टम सॉफ्टवेयर (System Software)

System Software को कंप्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम भी कह सकते है। वैसे सिस्टम सॉफ्टवेयर में Operating System के अलावा असेम्बलर, कम्पाइलर, इंटरप्रेटर इत्यादि सॉफ्टवेयर भी आते है। इन सॉफ्टवेयर का कार्य “High Level Or Low Level Language” को मशीनी भाषा में ट्रांसफर करना है। System Software को प्रोग्राम्स का समूह भी कह सकते है।

यह कंप्यूटर का अनिवार्य सॉफ्टवेयर है जिसके बिना कंप्यूटर Run नही कर सकता। आम भाषा में इसे ‘Window’ भी कहते है। ऑपरेटिंग सिस्टम को कंप्यूटर की हार्डडिस्क में इंस्टॉल किया जाता है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर में यूटिलिटी सॉफ्टवेयर भी आते है। ज्यादातर यूटिलिटी सॉफ्टवेयर Operating System के साथ ही आते है जबकि कुछ को अलग से Install करना पड़ता है। इनमें विंडो डिफेंडर, फ़ायरवॉल, डिस्क डी फ्रैगमैंट इत्यादि आते है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर के प्रकार (System Software Types In Hindi)

  • ऑपरेटिंग सिस्टम (Operating System) – विंडो 7, 8, 10, लिनक्स, एंड्राइड, ios इत्यादि। मोबाईल में एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम होता है।
  • सिस्टम यूटिलिटी (System Utility) – विंडो डिफेंडर, फ़ायरवॉल, डिस्क डीफ्रैगमैंट, बैकअप इत्यादि। इनका मुख्य कार्य कंप्यूटर में रखरखाव का होता है।
  • डिवाइस ड्राइवर (Device Driver) – ग्राफिक्स, ऑडियो और वीडियो ड्राइवर, यूएसबी ड्राइवर इत्यादि। किसी भी डिवाइस को कंप्यूटर से कनेक्ट करने के लिए Device Driver सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होती है। उदाहरण के तौर पर कंप्यूटर में प्रिंटर को इंस्टॉल करने के लिए ड्राइवर Software की आवश्यकता होती है।

सिस्टम सॉफ्टवेयर का कार्य (System Software Functions)

  • कंप्यूटर को बूट करने के लिए System Software आवश्यक होता है। बिना इसके Computer नही चल सकता है।
  • सिस्टम सॉफ्टवेयर का मुख्य कार्य कंप्यूटर के विभिन्न हार्डवेयर को Manage और Control करना है।
  • बिना सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर में Install किये Application Software रन नही कर सकता है। इसका अर्थ यह है कि ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर या मोबाइल का अति आवश्यक अंग है।

2. एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर (Application Software)

Application Software कंप्यूटर के बेसिक सॉफ्टवेयर है जो एक निश्चित कार्य को करने के किये उपयोग किये जाते है। एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर को विशेष कार्य या उद्देश्य के लिए बनाया जाता है। इसे “एंड यूजर सॉफ्टवेयर” भी कहते है। यूजर Application Software की मदद से Computer में विभिन्न कार्य करता है। जैसे कि डॉक्यूमेंट, एक्सेल शीट, प्रेजेंटेशन इत्यादि बनाने के लिए माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस एप्लिकेशन पैकेज का इस्तेमाल किया जाता है।

मुख्य एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर और उनके कार्य (Main Application Software)

1. माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस (MS Office) –  इसमें माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, एक्सेल, पॉवरपॉइंट इत्यादि सॉफ्टवेयर आते है। इनका कार्य डॉक्यूमेंट, शीट, प्रेजेंटेशन इत्यादि तैयार करना होता है।

2. वेब ब्राउज़र (Web Browser) – वेब ब्राउज़र का कार्य इंटरनेट एक्सेस करना होता है। WWW (World Wide Web) पर मौजूद वेबपेजों को Web Browser की सहायता से ही ओपन किया जाता है। मुख्य वेब ब्राउज़र में गूगल क्रोम, इंटरनेट एक्सप्लोरर, मोज़िला फायरफाक्स इत्यादि आते है।

3. फोटोशॉप सॉफ्टवेयर (Photoshop Software) – इन सॉफ्टवेयर की मदद से इमेज को एडिट और क्रिएट किया जा सकता है। एडोब फोटोशॉप इस प्रकार के Software में मुख्यतः इस्तेमाल किया जाता है।

4. ऑडियो और वीडियो प्लेयर (Audio And Video Player) – इनकी मदद से Computer में ऑडियो और वीडियो देख और सुन सकते है। इनमें VLC Player, विंडोज मीडिया प्लेयर इत्यादि आते है।

5. एंटीवायरस (Antivirus) – एंटीवायरस Software का कार्य कंप्यूटर को बाहरी आघातों से सुरक्षित रखना है। इंटरनेट एक्सेस करते वक्त वायरस आ जाता है जो डाटा फाइल्स को करप्ट कर सकता है।

सॉफ्टवेयर के प्रकार Computer Software Ke Prakar In Hindi {Conclusion}

Types Of Software In Hindi – ऑनलाइन सॉफ्टवेयर मार्केटप्लेस में कुछ Software प्रोडक्ट्स फ्री होते है जबकि कुछ सॉफ्टवेयर को Purchase करना पड़ता है। जैसे गूगल क्रोम Web Browser यूजर के लिए एकदम फ्री है जबकि फोटोशॉप के सॉफ्टवेयर के लिए कुछ चार्ज देना होता है। कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के अलावा मोबाइल सॉफ्टवेयर भी आते है। मोबाइल सिस्टम Software में एंड्राइड, iOS प्रमुख है।

स्मार्टफोन के एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर में जीमेल, गूगल क्रोम, फेसबुक एप्प, कैमरा एप्प, गूगल प्ले इत्यादि बहुत सारी एप्लिकेशन इसी के अंतर्गत आती है। ब्लॉग के इस आर्टिकल से आप कंप्यूटर सॉफ्टवेयर के प्रकार जान गए होंगे।

इस लेख Different Types Of Software In Hindi में सॉफ्टवेयर कितने प्रकार के होते हैं? (Computer Software Ke Prakar) के बारे में जानकारी आपको कैसी लगी? यह आर्टिकल “सॉफ्टवेयर के प्रकार Computer Software Types In Hindi” पसंद आया हो तो इसे फेसबुक और ट्विटर पर शेयर जरूर करे।

यह भी पढ़े – 

About the Author: Knowledge Dabba

नॉलेज डब्बा ब्लॉग टीम आपको विज्ञान, जीव जंतु, इतिहास, तकनीक, जीवनी, निबंध इत्यादि विषयों पर हिंदी में उपयोगी जानकारी देती है। हमारा पूरा प्रयास है की आपको उपरोक्त विषयों के बारे में विस्तारपूर्वक सही ज्ञान मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *