Salmon Fish In Hindi सालमन मछली की जानकारी

Salmon Fish In Hindi

इस पोस्ट Salmon Fish In Hindi में सालमन मछली के बारे में जानने का प्रयास करेंगे। मछली एक पोष्टिक फ़ूड है जो जल में पायी जाती है। सालमन मछली भी इनमे से एक है। यह मछली स्वादिष्ट होने के साथ ही फायदेमंद भी है। मांसाहार करने वाले लोगो के लिए यह बेहतर भोजन है। तो आइए दोस्तों, सालमन मछली की जानकारी पर बात करते है।

सालमन मछली की जानकारी Salmon Fish In Hindi

1. सालमन मछली (Salmon Fish In Hindi) ताजे और खारे दोनों प्रकार के पानी में पाई जाती है। यह फिश पूरी दुनिया में मिलती है। खासकर महासागरों में सालमन मछली मिलती है। पूरी दुनिया में इसे बड़े ही चांव से खाया जाता है।

2. इस मछली की मुख्य विशेषता यह है की सालमन अपने अंडे पानी के मुहाने पर देती है। इन अंडों से ही बच्चे निकलते है और आमतौर पर अंडे देने के बाद सालमन फिश मर जाती है।

3. सालमन मछली का रंग हल्का गुलाबी होता है। दिखने में यह मछली सफेद रंग की होती है। वैसे कुछ सालमन नीली और लाल भी होती है। इनका रंग आयु और पानी के अनुसार चेंज हो जाता है। इस मछली का आकार 20 इंच से लेकर करीब 5 फ़ीट होता है। चेरी सालमन मछली सबसे छोटी सालमन है जबकि चिनूक सालमन सबसे बड़ी सालमन है।

4. सालमन मछली में ओमेगा 3 एसिड पाया जाता है। इस एसिड के कई फायदे है। यह दिल, त्वचा, दिमाग के स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी है। इसके अलावा विटामिन ए और डी भी पाया जाता है। सालमन मछली प्रोटीन का भी रिच सोर्स है।

5. यह मछली माइग्रेट भी करती है। मीठे पानी से खारे पानी की और यह प्रवास करती है। समुद्र में भी दूर दूर तक सालमन फिश प्रवास करती है। ताजे पानी में सालमन मछली पैदा होती है लेकिन खारे पानी की और प्रवास करती है। सालमन उन मछलियों में आती है जो खारे और ताजे दोनों प्रकार के पानी में रह सकती है।

Life Cycle Of Salmon In Hindi –

6. सालमन फिश (Salmon Fish) की Life Cycle उनके अंडे से निकलते हुए शुरू हो जाती है। अंडे से निकले इस बच्चे के साथ योक लगा होता है। सालमन की यह स्टेज एल्विन कहलाती है। कुछ हफ़्तों तक योक उसके शरीर से लगा रहता है और मछली योक से न्यूट्रिशन लेती है। कुछ बड़ी होने पर सालमन फिश बाहरी भोजन लेने लग जाती है। इस समय की अवस्था को सालमन फ्राई कहते है।

कुछ और बड़ी होने पर यह मछली ट्रेवल करती है और दूर समुद्र में जाती है। एल्विन से लेकर वयस्क होने तक केवल 10 फीसदी सालमन ही जिंदा रह पाती है। वयस्क सालमन मछली वापस अपने घर ताजे पानी में लौटती है जो एक रिसर्च का विषय है। कैसे सालमन को अपने घर का रास्ता पता होता है।

Salmon Machli In Hindi सालमन फिश –

7. इन मछलियों की शिकारी मछलियां भी होती है। बड़ी मछलियां छोटी को खा जाती है। सालमन को व्हेल, डॉल्फिन, भालू इत्यादि खाते है। सालमन फिश का मुख्य भोजन छोटी मछली, झींगा इत्यादि जलीय जीव होते है।

8. मछलियों में Spawning नामक क्रिया होती है जिसमे नर और मादा मछली अंडे और स्पर्म रिलीज करती है। सालमन मछली भी यह प्रोसेस करती है लेकिन ज्यादातर सालमन इस क्रिया के बाद जिंदा नही रहती है। मादा सालमन पानी के नीचे की तह में अंडों को डालती है और नर इन अंडों को स्पर्म से ढक देता है। एक जगह या घोंसले में करीब 5 हजार अंडे होते है। सालमन मछली ऐसा कई बार करती है।

9. इस मछली का खून ठंडा होता है। इसकी पूरी बॉडी पर स्कैल्प होती है। यह मछली भी बाकी मछलियों की तरह गलफड़ों से सांस लेती है। सालमन फिश में सूंघने और महसूस करने की शक्ति होती है।

10. सालमन मछली (Salmon Fish) का औसत जीवनकाल 3 से 7 वर्ष के करीब होता है। ज्यादातर मछलियां शिकारियों द्वारा खा ली जाती है।

यह भी पढ़े – 

Note – इस पोस्ट Salmon Fish In Hindi में सालमन मछली (Salmon Machli) की जानकारी आपको कैसी लगी। यह पोस्ट “Salmon In Hindi” अच्छी लगी हो तो इसे शेयर भी करे।

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *