रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है Raksha Bandhan History In Hindi

रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है Raksha Bandhan Kyu Manaya Jata Hai

यह पोस्ट Raksha Bandhan History In Hindi रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है (Raksha Bandhan Kyu Manaya Jata Hai) और रक्षाबंधन का महत्व (Importance Of Raksha Bandhan) पर आधारित है। एक प्रश्न आपके मन में आता होगा कि रक्षाबंधन का त्यौहार क्यों मनाया जाता है। इस त्यौहार के पीछे की पौराणिक कथा या मान्यता क्या है। भाई और बहिन के प्रेम और रक्षा का यह उत्सव हर वर्ष धूमधाम से मनाया जाता है। रक्षाबंधन के त्यौहार का महत्व की चर्चा भी यहां करेंगे।

Raksha Bandhan History In Hindi

रक्षाबंधन का इतिहास Raksha Bandhan History In Hindi

Raksha Bandhan History In Hindi – यहां पर कुछ ऐतिहासिक कहानियां बताने का प्रयास है जो भाई बहिन के पवित्र रिश्ते को मजबूत करती है।

मुग़ल बादशाह हुमांयू और राजपूत रानी कर्णावती की कहानी भी काफी प्रसिद्ध है। जब गुजरात के सुल्तान बहादुर शाह ने चित्तौड़ राज्य पर आक्रमण किया था, तब रानी कर्णावती ने अपने राज्य की सुरक्षा के लिए बादशाह हुमांयू को राखी भेजी थी। एक और कहानी के मुताबिक सिकन्दर की पत्नी ने सम्राट पुरु को भी राखी भेजी थी और उनसे वचन लिया था कि वो सिकन्दर को ना मारे। इसलिए पुरु ने सिकन्दर पर कभी भी जानलेवा हमला नही किया था।

रक्षाबंधन मनाने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। इस पर्व को मनाने के पीछे कई पौराणिक कथाएं है। भविष्य पुराण की पौराणिक कथा के अनुसार एक बार देवताओं और राक्षसों के बीच भयंकर युद्ध हुआ था। बलि नामक राक्षस ने भगवान इंद्र को युद्ध में हरा दिया और अमरावती राज्य पर कब्जा कर लिया था। इंद्रदेव की पत्नी सची मदद मांगने भगवान विष्णु के पास गयी थी।

भगवान विष्णु ने सची को हाथ में बांधे जाने वाला रक्षा सूत्र दिया और कहा कि वह इस धागे को इंद्र की कलाई पर बांध दे। देवी सची ने ऐसा ही किया और इंद्र के विजय की कामना की। इसके बाद भगवान इंद्र ने राक्षस बलि को हराकर अमरावती को वापस जीत लिया था।

एक और कथा के मुताबिक महाभारत काल में भगवान श्रीकृष्ण और शिशुपाल के बीच में युद्ध हुआ था जिसमें श्रीकृष्ण की तर्जनी उंगली में चोट लगी थी। तब द्रौपदी ने अपने पल्लू को फाड़कर उनकी उंगली पर बांधा था। तब भगवान कृष्ण ने द्रौपदी को रक्षा का वचन दिया था। इसी वचन का पालन करते हुए चीरहरण के समय भगवान श्रीकृष्ण ने द्रौपदी की रक्षा की थी।

रक्षाबंधन का त्यौहार क्यों मनाया जाता है Raksha Bandhan Kyu Manaya Jata Hai –

Raksha Bandhan History In Hindi – विष्णु पुराण की एक प्रचलित कथा के अनुसार एक समय पृथ्वी पर राजा बलि का राज था। भगवान विष्णु वामन अवतार लेकर राजा बलि के समक्ष आते है। राजा बलि अपनी दानशीलता के लिए प्रसिद्ध था, उन्होंने वामन अवतार से दान मांगने को कहा। भगवान विष्णु ने बलि से तीन पग जमीन मांगी थी और विष्णु जी ने तीन पग में सारा ब्रह्मांड मापा लिया था। इससे राजा बलि का सारा राज्य छिन गया और उसे रसातल लोक में रहने को विवश होना पड़ा।

इसके बाद राजा बलि ने भगवान विष्णु को अपने रसातल लोक के महल में रहने के लिए आमंत्रित किया। इसके लिए उसने भगवान विष्णु से महल में रहने का वचन लिया। देवी लक्ष्मी महल में नही रहना चाहती थी, इसलिए भगवान विष्णु को वापस बैकुंठ ले जाने का उन्होंने प्रयत्न किया था। इसके लिये देवी लक्ष्मी ने राजा बलि को रक्षा सूत्र बांधा था। रक्षा सूत्र के बदले बलि ने देवी लक्ष्मी से उपहार मांगने को कहा। देवी लक्ष्मी ने उपहार में भगवान विष्णु को महल में रहने के वचन से मुक्ति मांगी थी। बलि ने इसको स्वीकार करके विष्णु जी को वचन मुक्त किया था।

यह सभी पौराणिक कथाएं है जो प्रचलित है। इससे आपको रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है, प्रश्न का जवाब मिल गया होगा। अब बात करते है कि भारत के इतिहास में रक्षा सूत्र का क्या महत्व है।

रक्षाबंधन का महत्व Importance Of Raksha Bandhan In Hindi –

रक्षाबंधन हिन्दू धर्म का प्रमुख पर्व है। प्रत्येक वर्ष श्रावण मास की पूर्णिमा को रक्षाबंधन का पवित्र त्यौहार मनाया जाता है। इस पावन पर्व पर बहिन अपने भाई को राखी बांधती है और अपनी रक्षा का वचन लेती है। राखी को रक्षा सूत्र भी कहते है। रक्षाबंधन का अर्थ एक बंधन जो रक्षा प्रदान करता है। राखी का पर्व केवल खून के रिश्ते तक सीमित नही है, यह हर उस रिश्ते में है जहां विश्वास है। बहिन अपने भाई को राखी बांधती है और भाई अपनी बहिन को सदा खुश रहने का आशीर्वाद देता है।

राखी वैसे तो केवल एक धागा है लेकिन इस धागे में भाई बहिन के प्रेम की शक्ति है। राखी एक विश्वास है जो एक बहिन अपने भाई के प्रति करती है। प्रेम और विश्वास के इस पर्व को मनाने के पीछे पौराणिक मान्यता बताई जाती है। तो आइए मित्रों, रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है (Raksha Bandhan Kyu Manaya Jata Hai), इस प्रश्न का जवाब जानने का प्रयास करते है।

प्राचीन समय में बहिन भाई को राखी बांधने से पहले पीपल के वृक्ष को राखी बांधती थी। यह प्रथा आजकल प्रचलन में नही है। रक्षा सूत्र का यह पावन पर्व वर्षो से भारत में मनाया जाता रहा है। रक्षाबंधन भाई और बहिन के पवित्र रिश्ते को बताता है।

अन्य पोस्ट्स –

Note – इस पोस्ट Raksha Bandhan History In Hindi में रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है (Raksha Bandhan Kyu Manaya Jata Hai) और रक्षाबंधन का महत्व (Importance Of Raksha Bandhan) आपको कैसा लगा। यह आर्टिकल “रक्षाबंधन का त्यौहार क्यों मनाया जाता है” आपको अच्छा लगा हो तो इसे शेयर भी करे।

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *