Essay On Save Water In Hindi जल संरक्षण पर निबंध

इस निबंध Essay On Save Water In Hindi में जल संरक्षण का महत्व पर निबंध (Jal Sanrakshan Par Nibandh) लेखन का प्रयास है। जल जीवन रूपी अमृत है जो धरती पर जीवों के लिए अनिवार्य है। ईश्वर ने हमें जीवन के लिए जल दिया लेकिन हम इसकी कद्र नही करते है। जब जल सकंट आता है, तब हमें इसका मूल्य समझ आता है। जल संरक्षण की आवश्यकता क्यों है? इस प्रश्न का उत्तर देने का प्रयास है। इस पोस्ट “Importance Of Water Conservation Essay In Hindi” में जल संरक्षण का महत्व और उपाय पर विस्तृत चर्चा करेंगे।

Essay On Save Water In Hindi
Water Conservation Essay In Hindi

जल संरक्षण पर निबंध Essay On Save Water In Hindi

जल ही जीवन है का मूलमंत्र हमें जीवन में उतारने की आवश्यकता है। जल के बिना जीवन की कल्पना करना भी बेमानी है। जल संरक्षण क्या है? यह प्रश्न भी महत्वपूर्ण है क्योंकि हमें जल संरक्षण का अर्थ जानना जरूरी है। जल संरक्षण का अर्थ है – जल को संरक्षित रखना अर्थात जल को बचाना। जितने पानी की आवश्यकता है, केवल उतना ही पानी खर्च करना जल संरक्षण कहलाता है। जल संरक्षण में जल को प्रदूषित होने से रोकना भी है। सुनियोजित तरीके से जल प्रबंधन करना जल संरक्षण कहलाता है।

दुनिया में 71 फीसदी जल है लेकिन इस जल का 97 फीसदी पीने योग्य नही है। करीब 2 फीसदी जल ग्लेशियरों के रूप में है। बाकी रहा 1 फीसदी जल ही पीने योग्य है। धरती पर जल का एक बहुत बड़ा भाग महासागरों के रूप में है। यह महासागरीय जल स्वाद में खारा है जो पीया नही जा सकता है।

उपयोगी मीठे जल की सीमित मात्रा नदियों, तालाबों, कुंवो और झीलों के रूप में मौजूद है। मीठे पानी के इन सोर्सस में कमी के कारण जल संकट आता है। इन स्रोतों में जल की कमी का मुख्य कारण वर्षा का नही होना है। इसलिए वर्तमान समय में जल को संरक्षित करने की आवश्यकता है। जल संरक्षण पर निबंध (Essay On Save Water In Hindi) में इसका महत्व महत्वपूर्ण है। पीने योग्य साफ पानी हर मनुष्य का अधिकार है। इस पानी का बेवजह अत्यधिक दोहन होता है।

जल संरक्षण का महत्व पर निबंध Jal Sanrakshan Par Nibandh –

वर्तमान में कई देश जल संकट से गुजर रहे है। इन देशों में पीने योग्य पानी की भयंकर कमी है। ये धरती के वो इलाके है जहां बारिश बहुत कम होती है। अफ्रीका के कई देश भयंकर जल संकट से गुजर रहे है। ऑस्ट्रेलिया में भी बारिश की कमी से जल संकट की स्थिति उत्पन्न हो रखी है। भारत देश भी जल संकट से अछूता नही है, यहां भी कई राज्य सूखे से प्रभावित है। दुनिया में ज्यादातर जल संकट रेगिस्तानी इलाकों में होता है लेकिन ग्लोबल वार्मिंग और घटते जंगलों के कारण अन्य इलाके भी सूखे की चपेट में आये है।

भारत देश के कई इलाकों में इतनी जबरदस्त जल समस्या है कि लोगों को दूर दराज इलाकों में पानी लाने जाना पड़ता है। कई मिलों पैदल चलकर एक घड़ा पानी लाने के लिए काफी मशक्कत होती है। नहाने या कपड़े धोने के लिए तो छोड़िए पीने के लिए पानी नही मिलता है। लोग जल की कमी के कारण गंदगी वाला पानी पीने को मजबूर है। पानी की कमी से कृषि नही होती जिससे रोजी रोटी के लिए संघर्ष करना पड़ता है।

एक दुनिया यह है जो अभी आपने पढ़ी है जो जल के लिए संघर्ष कर रही है। एक दूसरी दुनिया भी है जहां पानी की कोई कमी नही है। ये लोग पानी की बर्बादी करते है क्योंकि इन्हें पानी का महत्व नही पता है। जितनी हमें पानी की जरूरत होती है, उससे भी कई गुना पानी बर्बाद होता है। हमें स्वच्छ जल संरक्षण की आवश्यकता है।

जल संरक्षण की आवश्यकता क्यों है Importance Of Water Conservation Essay In Hindi –

जल मनुष्य जीवन में एक महत्वपूर्ण कारक है। कई प्रकार के कार्यो के लिए जल की आवश्यकता होती है। कुछ महत्वपूर्ण कार्यो के बारे में यहां पर बताने का प्रयास है –

1. जीवित रहने के लिए शरीर को नित्य पानी पीने की जरूरत होती है। इसलिए पीने योग्य पानी के लिए जल संरक्षण की आवश्यकता है।

2. कृषि के लिए जल संरक्षण की आवश्यकता है। विभिन्न प्रकार की फसलों के उत्पादन के लिए जल सिंचाई की जरूरत होती है। सिंचाई के लिए जल तालाबों, नहरों और नदियों से मिलता है।

3. दैनिक जरूरतों जैसे नहाना, कपड़े धोना इत्यादि के लिए भी जल आवश्यक है। बिना जल के यह सम्भव नही है। गंदगी को दूर करने के लिए जल एकमात्र उपाय है।

4. भोजन बनाने के लिए भी जल की आवश्यकता होती है। सभी प्रकार के खाद्य पदार्थ को पकाने के लिए पानी चाहिए। स्वच्छ जल की आवश्यकता भोजन में जरूरी है।

5. केवल मनुष्य ही नही दूसरे जीव जंतुओं को भी पानी की आवश्यकता होती है। जल के बिना इनकी जिंदगी भी नामुमकिन है। धरती पर पाये जाने वाले समस्त जीवों के लिए जल अमृत समान है।

6. पेड़ पौधों के विकास और पनपने के लिए भी जल अति आवश्यक है। बिना जल के वृक्षों का जीवन नामुमकिन है। पेड़ पौधे हमें ऑक्सीजन, फल, जड़ी बूटी, औषधि, सब्जियां इत्यादि देते है।

7. उधोगों में भी पानी की आवश्यकता होती है। कच्चे माल से प्रोडक्ट बनाने के लिए लाखों गैलन पानी चाहिए। बिना पानी के औधोगिक उत्पादन सम्भव नही है। यहां तक कि भवन निर्माण में शुरू से लेकर अंत तक पानी की आवश्यकता होती है। कागज उधोग में भी लुगदी बनाने के लिए जल महत्वपूर्ण है।

जल की कमी के कारण Save Water Essay In Hindi –

पानी की कमी के कई कारण है जिनमें से कुछ महत्वपूर्ण कारकों पर प्रकाश डालना जरूरी है। एक बात गौर करने लायक है कि जल समस्या आपके या हमारे गांव की ही नही है, यह एक वैश्विक समस्या है। जल समस्या से निजाद पाने के लिए जल की कमी के कारण जानना जरूरी है।

  • जल की कमी का सबसे महत्वपूर्ण कारक बारिश का ना होना है। रेगिस्तानी इलाकों में तो वैसे भी बारिश बहुत कम होती है। इसलिए यहां पर जल संकट हमेशा रहता है। वर्तमान समय में कई और इलाकों में भी बारिश नही है जिससे वहां भी जल संकट गहरा जाता है। बारिश होने से ही तालाब, झीलें जल से भर जाती है। भूमिगत जल का स्तर भी बारिश के कारण ही बढ़ता है। बारिश ना होने से भूमिगत जल स्तर बहुत नीचे चला जाता है। इससे खासकर गांवों में हैंडपंप सूखे पड़े है। कुँए भी भी पानी नही होने से सुख गए है।

जल की कमी के कारण –

  • स्वच्छ जल की कमी का दूसरा मुख्य कारण जल प्रदूषण है। जल प्रदूषण के कारण पानी दुषित हो जाता है जिससे वह पीने योग्य नही रहता है। जल संरक्षण की सफलता के लिए आवश्यक है कि हम जल को प्रदूषित होने से बचाये। जल प्रदूषण के कई कारण है, इसकी अधिक जानकारी के लिए यह पोस्ट पढ़े – जल प्रदूषण पर निबंध
  • वृक्षों की अंधाधुंध कटाई के चलते भी जल समस्या में बढ़ौतरी हुई है। हम यह जानते ही है कि पेड़ बारिश के लिए जिम्मेदार होते है। आजकल इंसान लालच में आकर जंगलों को काट रहा है। इस कारण जंगल कई किलोमीटर सिकुड़ गए है। वृक्षों का महत्व पर अधिक जानकारी के लिए यह पोस्ट पढ़े – वृक्षों का महत्व पर निबंध
  • जनसंख्या व्रद्धि भी पीने योग्य जल की कमी का एक बड़ा कारण है। प्रति व्यक्ति जल की खपत भी बढ़ी है। भुजल स्तर में लगातार गिरावट भी जल की कमी की समस्या उत्पन्न करता है। जल की कमी होने के पीछे जागरूकता का अभाव होना भी है।

जल संरक्षण के उपाय Water Conservation Essay In Hindi –

जल संरक्षण पर निबंध Essay On Save Water In Hindi – जल की कमी के कारण होने वाली भयंकर आपदा को रोकने के लिए जल संरक्षण आवश्यक है। जल संरक्षण के कुछ उपाय अपनाने से काफी हद तक जल की कमी को दूर किया जा सकता है।

1. स्वच्छ जल संरक्षण के लिए पर्यावरण प्रदूषण को रोकना होगा। जल प्रदूषण वर्तमान की गम्भीर समस्या है जो जल को प्रदूषित करती है। स्वच्छ पीने योग्य जल को संरक्षित करने के लिए जल प्रदूषण को रोकना होगा।

2. जल संरक्षण में दूसरा मुख्य उपाय है बारिश के जल को स्टोर करना। जिन इलाकों में बारिश कम होती है, वहां पर वर्षा जल को पोंड या होद बनाकर भविष्य के लिए स्टोर किया जा सकता है। ग्राम पंचायत स्तर पर भी योजना बनाकर उचित क्रियान्वयन के द्वारा जल संरक्षण किया जा सकता है। वर्षा के जल को छत से पाइप के जरिये उतारकर उसे होद में संरक्षित करना भी एक महत्वपूर्ण उपाय है।

3. हमें पानी का दुरुपयोग रोकना होगा। हमारे कुछ छोटे प्रयास जल संरक्षण में उपयोगी साबित हो सकते है। बिना उपयोग के पानी को खर्च मत करो। नल को बेवजह खुला छोड़ना भी जल की कमी को पैदा करता है। जहां जितने पानी की आवश्यकता है, उतना ही जल लेना चाहिए। हमें सुनियोजित जल प्रबंधन करना चाहिए जिससे जल संरक्षण सफल होगा।

4. शॉवर से नहाने के बजाए बाल्टी में पानी भरकर नहाना चाहिए। इससे भी पानी की बहुत बचत हो सकती है। कार, बाइक इत्यादि वाहनों को पानी के पाइप से नही धोना चाहिए क्योंकि इससे पानी की बर्बादी होती है। बाल्टी से ही इन वाहनों को धोना बढ़िया विकल्प है।

Jal Sanrakshan Par Nibandh जल संरक्षण पर निबंध –

5. रोजमर्रा के कामों में जल की कम से कम खपत हो, यह सुनिश्चित करे। कपड़े धोना या बर्तन धोना हो, पानी की बर्बादी ना करे। शौच के लिए भी पानी कम इस्तेमाल करे। भोजन पकाने में भी जितना हो सके, उतना कम पानी उपयोग करे। अगर पानी के पाइप से किसी भी तरह से जल रिसाव हो रहा है तो उसे तुंरत ठीक करे।

6. कृषि कार्यों में सिंचाई के लिए बून्द बून्द वाली सिंचाई करना उपयोगी है। बून्द बून्द सिंचाई से पानी की कम बर्बादी होती है। जितने पानी की आवश्यकता आपकी फसल को है, उतना ही पानी सिंचाई में इस्तेमाल करे।

7. जल संरक्षण को सफल बनाने का सबसे कारगर उपाय सामाजिक जागरूकता है। समाज में जल की उपयोगिता को समझाने के लिए शिक्षा की आवश्यकता है। बच्चों को स्कूल में जल संरक्षण के बारे में शिक्षित करना भी जरूरी है। इसी कड़ी में जल संरक्षण पर निबंध (Essay On Save Water In Hindi) लेखन महत्वपूर्ण है।

Essay On Save Water In Hindi – आने वाली पीढ़ी के भविष्य के लिए जल संरक्षण की आवश्यकता है। अगर जल संरक्षण के उपाय नही किये गए तो भविष्य में जल के लिए विश्वयुद्ध हो सकता है। जल की कमी एक गंभीर समस्या है जिससे निजात पाने के लिए हमें गम्भीर रूप से विचार करना होगा।

यह भी पढ़े – 

Note – इस पोस्ट Essay On Save Water In Hindi में जल संरक्षण पर निबंध (Jal Sanrakshan Par Nibandh), जल संरक्षण का महत्व, जल की कमी के कारण, जल संरक्षण की आवश्यकता और जल संरक्षण के उपाय आपको कैसे लगे। यह आर्टिकल “Importance Of Water Conservation Essay In Hindi” पसंद आया हो तो शेयर भी करे।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *