स्वतंत्रता दिवस पर निबंध Essay On Independence Day In Hindi

Essay On Independence Day In Hindi

यह पोस्ट Essay On Independence Day In Hindi स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (Swatantrata Diwas Par Nibandh) के बारे में है। स्वतंत्रता दिवस पर निबंध लेखन प्रतियोगिता का आयोजन विद्यालयों में होता रहता है। अंग्रेजों की गुलामी से आजादी का दिन 15 अगस्त, 1947 है। हजारों स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान और प्रयास से भारत देश को आजादी मिली थी। हमें आजादी का महत्व पता होना चाहिए। स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (Essay On Freedom Day In Hindi) में आजादी का महत्व और इतिहास के बारे में बात करेंगे।

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध Essay On Independence Day In Hindi

स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) आजादी का उत्सव है। इस दिन देशप्रेम की भावना प्रबल होती है। वर्ष 15 अगस्त, 1947 के दिन भारत देश को 200 सालों के लम्बे शासन के बाद अंग्रेजो से आजादी मिली थी। ब्रिटिश भारत अब आजाद भारत हो गया था। पंडित जवाहर लाल नेहरू आजाद भारत के प्रथम प्रधानमंत्री निर्वाचित किये गए। इस दिन भारत देश आजाद तो हुआ लेकिन अपने साथ यह दिन बंटवारा लेकर भी आया। भारत से अलग होकर पाकिस्तान मुल्क अस्तित्व में आया था। अंग्रेजो की फुट डालो राज करो की यह नीति आजादी तक रही।

सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है,
देखना है जौर कितना बाजुएं कातिल में है।

स्वतंत्रता दिवस का महत्व और इतिहास Importance Of Independence In Hindi –

Essay On Independence Day In Hindi – आजादी आसानी से नही मिली है। इसके पीछे क्रांतिकारियों का बहा खून है जिसने आजादी की मशाल प्रज्वलित की थी। महात्मा गांधी, सुभाषचंद्र बोस, भगतसिंह, सरदार वल्लभभाई पटेल, पंडित नेहरू जैसे कई स्वतंत्रता सेनानियों ने आजादी के महायज्ञ में अपना योगदान दिया था। अंग्रेजो के जुल्म और अत्याचार सहकर भी ये लोग पीछे नही हटे। आजादी मिलने तक अपनी आखिरी सांस तक लड़ते रहे। अंग्रेज भारत व्यापार करने आये थे लेकिन कुशासन करने लगे। इसी कुशासन से हमें आजादी मिली थी। आजादी की मशाल वर्ष 1857 में ही जल चुकी थी। रानी लक्ष्मीबाई, बहादुर शाह जफर, तात्या टोपे, टीपू सुल्तान जैसे वीरों ने प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में प्राणों की आहुति दी थी।

हर वर्ष 15 अगस्त को आजादी का यह उत्सव बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। इस उत्सव को मनाने के पीछे का कारण आजादी की खुशी का इजहार करना है। साथ ही साथ आने वाली पीढ़ियों को भी आजादी का महत्व और राष्ट्र के लिए कुर्बानियां याद रहे। 15 अगस्त, 1947 आज इतिहास है लेकिन इतिहास ही हमें वर्तमान में जीना सिखाता है।  इस दिन दिल्ली के लाल किला मैदान पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम होते है।

भारत की थल, जल और वायु सेना के करतब दिखाए जाते है। भारत के प्रत्येक राज्य की झांकिया भी 15 अगस्त के इस पावन पर्व पर निकाली जाती है। लाल किले पर भारत के प्रधानमंत्री तिरंगा झंडा फहराते है। लाल किला पर आयोजित इस समारोह का सीधा प्रसारण दूरदर्शन पर होता है। कई विदेशी मेहमान भी इस समारोह में आमंत्रित होते है। 15 अगस्त की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति का देश के नाम सन्देश भी जारी होता है। प्रधानमंत्री राष्ट्र के नाम भाषण भी देते है। राष्ट्रगान जन गण मन के साथ स्वंतत्रता दिवस का समापन होता है।

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध Swatantrata Diwas Par Nibandh –

Essay On Independence Day In Hindi – वन्देमातरम की बुलंद आवाज के साथ इस दिन की सुबह होती है। देश के बच्चे बच्चे के दिल में देशप्रेम की भावना होती है। इस दिन देशभक्ति गीत बजते है और हम भारतीय इन गीतों के स्वरों में गर्व की अनुभूति करते है। इस दिन कोई भी हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख या ईसाई ना रहकर केवल भारतीय रहता है। विपरीत विचारधाराओं के लोग भी इस दिन को साथ मिलकर मनाते है। राष्ट्रीय एकता की भावना देश के लोगों में कुट कूटकर भरी हुई है। दोस्तों, हमें सबसे पहले और आखिर में केवल भारतीय ही रहना चाहिए। यही सच्चा देशप्रेम है।

देश के सभी विद्यालय, मदरसा और कॉलेज में झंडा रोहण होता है। इस दिन स्कूली बच्चे ज्यादा उत्साहित होते है। बच्चे भारत माता की जय के नारों के साथ रैली निकालते हुए कार्यक्रम स्थल तक पहुंचते है। समारोह स्थल पर परेड निकलती है जिसमें तिरंगा को सलामी दी जाती है। स्कूली बच्चे कई सांस्कृतिक और देशभक्ति वाले कार्यक्रम करते है।

बच्चे तिरंगा झंडा लिए अपनी खुशी का इजहार करते है। स्वतंत्रता दिवस के दिन होनहार विद्यार्थियों को पुरस्कार वितरण किया जाता है। समारोह के आखिर में बच्चों को मिठाईयां दी जाती है। स्वतंत्रता के इस दिन पूरे देश में सार्वजनिक अवकाश रहता है।

वैसे तो साल के 365 दिन देश के नाम होने चाहिए। हर दिन देश से प्यार करना चाहिए। हम लोग स्वतंत्रता दिवस के दिन केवल एक देशभक्ति का व्हाट्सअप या फेसबुक स्टेटस डालकर देश के प्रति जिम्मेदारी से मुक्त हो जाते है। देश के प्रति जिम्मेदार प्रत्येक नागरिक ईमानदार होता है। स्वतंत्रता दिवस के दिन हमें कर्तव्यों के निर्वाह की जिम्मेदारी लेनी होगी।

आजादी का महत्व पर निबंध Essay On Freedom Day in Hindi –

सारे जहां से अच्छा हिन्दुस्तां हमारा।
हम बुलबुले है इसके, ये गुलसितां हमारा।

अनेकता में एकता वाला यह महान देश आजादी की बेला का उत्साह के साथ आनन्द लेता है। हमें आजादी का महत्व समझना चाहिए। आजादी का महत्व उन परिंदों से पूछो जो पिंजरों में बंद है। भारत को आजाद हुए 70 सालों से ज्यादा का समय हो चुका है। वर्तमान के ज्यादातर भारतीयों ने गुलामी नही देखी है। इसलिए उनको स्वतंत्रता का महत्व नही मालूम है।

हमें आजादी (Independence Day) की कद्र करनी होगी और उन तमाम स्वतंत्रता सेनानियों को याद करना होगा जिनके प्रयास से आजादी मिली थी। कसम खाते है कि हम देश के प्रति ईमानदार रहेंगे। हमें कसम खानी होगी कि देश में कोई भी भूखा नही रहेगा। जय जवान, जय किसान।
जय हिंद।

अन्य निबंध – 

Note – इस पोस्ट Essay On Independence Day In Hindi में स्वतंत्रता दिवस पर निबंध (Swatantrata Diwas Par Nibandh) कैसा लगा। यह पोस्ट “Essay On Freedom Day In Hindi” अच्छी लगी हो तो इसे शेयर भी करे।

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *