बटेर पक्षी की जानकारी Quail Bird In Hindi

इस पोस्ट Quail Bird In Hindi में बटेर पक्षी की जानकारी देने का प्रयास है। बटेर पक्षी जमीन पर ही रहता है। इस पक्षी की उड़ान लम्बी दूरी की नही होती है। यही कारण है कि बटेर जमीन पर घोंसला बनाता है। बटेर पालन पूरे भारतवर्ष में मांस और अंडे के लिए किया जाता है। बटेर पक्षी की रोचक जानकारी (Bater Bird Information In Hindi) जानने का प्रयास करते है।

Quail Bird In Hindi

बटेर पक्षी की जानकारी Quail Bird In Hindi

1. बटेर पक्षी (Quail Bird) एशिया, अमेरिका, अफ्रीका और यूरोप में मुख्यतः पाये जाते है। भारत देश में भी बटेर बहुतायात से मिल जाते है।

2. बटेर की कुछ प्रजाति प्रवासी होती है और एक जगह से दूसरी जगह मौसम के अनुसार आती जाती रहती है। कुछ प्रजाति एक ही जगह पर अपना पूरा जीवन बिता देती है।

3. बटेर की करीब 32 प्रजाति पूरी दुनिया में मिलती है। बटेर एक छोटे आकार का पक्षी है। इन प्रजातियों में रंग और आकार में भिन्नता होती है। इनके पंख प्रजाति के मुताबिक भूरे, सफेद, काले रंग में होते है।

4. इस पक्षी की लम्बाई 5 से 8 इंच के करीब है। बटेर का वजन 70 ग्राम से 140 ग्राम तक होता है।

5. बटेर के पैर लम्बे और मजबूत होते है। इनका रंग भूरा होता है। इनकी चोंच छोटी और मुड़ी हुई काले रंग की होती है।

6. इस पक्षी के पंख होते है। बटेर ज्यादा ऊंचाई और दूरी तक उड़ नही पाता है। यह पक्षी जमीन पर ही विचरण करता है।

7. बटेर पक्षी (Quail Bird) रात और दिन दोनों समय सक्रिय रहते है। ये कभी भी भोजन की तलाश में निकल पड़ते है। वैसे ये दिन या रात में कब सक्रिय होंगे, यह इनकी प्रजाति पर भी निर्भर करता है।

8. बटेर सर्वाहारी पक्षी है। यह पेड़ पौधों के बीज, फल, पत्तियां, अनाज, बैरी खाने के साथ ही कीड़े मकोड़ो को भी खाता है।

Bater Bird Information In Hindi बटेर पक्षी –

9. यह पक्षी कीटों से छुटकारा पाने के लिए मिट्टी या धूल में नहाता है। इससे उसके पँखो में छिपे कीट बाहर आ जाते है।

10. यह पक्षी जंगलों में मुख्यतः पाया जाता है। यह मैदानो में, झाड़ियों के पास, खेतों भी मिलता है। बटेर अपना घोंसला भी जमीन पर झाड़ियों में बनाता है।

11. बटेर पक्षी झुंड में रहता है। कुछ पक्षी अकेले भी रहते है। सबन्ध बनाने के वक्त जोड़ा बनाता है। इनके झुंड में करीब 20 पक्षी होते है।

12. बटेर पक्षी सबन्ध बनाने के वक्त जोड़े में रहता है। मादा बटेर एक बार मे करीब औसतन 6 से 8 अंडे देती है। कभी कभी 1 या 15 अंडे भी दे देती है। अंडा सफेद रंग का होता है जिस पर काले या भूरे रंग के चकते होते है।

13. करीब 23 दिनों तक अंडों को सेहने के बाद उनमें से बच्चे निकलते है। बच्चे जन्म से ही चलने लायक होते है। करीब 50 दिन तक मादा बच्चो का ख्याल रखती है।

14. बटेर के शिकारी जानवरों में लोमड़ी, बिल्ली, कुत्ता, चील, उल्लू इत्यादि जानवर होते है। कुछ जानवर इनके अंडों का शिकार करते है तो कुछ जानवर बटेर के मांस के लिए इनका शिकार करते है।

15. शिकारी जानवर को आता देखकर बटेर भागने का प्रयास करती है। यह ऊंची या तेज गति से उड़ नही पाती है लेकिन फिर भी बचने का प्रयास करती है। ज्यादातर मौको पर यह पक्षी छिप जाता है।

16. इंसान भी मांस और अंडों के लिए बटेर का शिकार करता है। कई प्रजातियां तो शिकार के कारण विलुप्ति की और है। आजकल बटेर पालन भी किया जाता है।

Quail Bird Information In Hindi बटेर के बारे में –

17. ये पक्षी आपस में ऊंची आवाज में कम्यूनिकेट करते है। यह आवाज आसानी से सुनी जा सकती है।

18. बटेर पक्षी (Quail Bird) का औसत जीवनकाल 4 वर्ष का होता है।

यह भी पढ़े  – 

Note – बटेर पक्षी Quail Bird In Hindi की जानकारी पर यह आर्टिकल Quail Bird Information In Hindi आपको कैसा लगा। यह पोस्ट “Bater Bird Information In Hindi” पसंद आयी हो तो इसे शेयर भी करे।

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *