Humayun Tomb History In Hindi हुमायूँ का मकबरा का इतिहास

यह पोस्ट Humayun Tomb History In Hindi हुमायूँ का मकबरा (Humayun Ka Maqbara) के इतिहास और जानकारी पर आधारित है। मुग़ल बादशाह हुमायूँ का मकबरा मुग़ल काल में बनी उत्कर्ष इमारत है। भारत की राजधानी दिल्ली में बना यह मकबरा मुग़ल स्थापत्य कला का अद्भुत नमूना है। वर्ष 1556 में हुमायूँ की मृत्यु के बाद उनकी पत्नी ने यह मकबरा बनाया था। भारत में बाग शैली में बना हुमायूँ का मकबरा अपनी तरह का पहला था। तो आइए हुमायूँ का मकबरा का रोचक इतिहास और जानकारी लेने का प्रयास करते है।

Humayun Tomb History In Hindi

हुमायूँ का मकबरा का इतिहास Humayun Tomb History In Hindi –

1. हुमायूँ का मकबरा (Humayun Tomb) यमुना नदी के किनारे बसा हुआ है। दिल्ली के पुराने किले के पास यह मकबरा मौजूद है।

2. हुमायूँ का मकबरा मुग़ल बादशाह अकबर के शासनकाल में बना था। अकबर के समय में बना यह मकबरा सुंदर कला को समेटे हुए है।

3. हुमायूँ का मकबरा का निर्माण हुमायूँ की बेगम “हमीदा बानो बेगम” ने करवाया था। इनको हाजी बेगम नाम से भी इतिहास में जाना जाता है क्योंकि वो मक्का से हज करके आयी हुई थी। हुमायूँ की मृत्यु के कई वर्ष बाद इस मकबरे का निर्माण शुरू हुआ था।

4. इस मकबरे का निर्माण वर्ष 1565 ईसवी में शुरू हुआ था। मकबरे के आर्किटेक्ट का नाम मिराक मिर्जा गयास था जो कि एक फ़ारसी वास्तुकार थे। उसे हमीदा बेगम ने खासतौर से अफगानिस्तान से बुलाया था। मिर्जा गयास की मकबरे के निर्माण के बीच ही मृत्यु हो गयी थी। बाद का अधूरा कार्य उनके पुत्र मुहम्मद इब्न मिराक थियाउद्दीन ने किया था।

5. मकबरे की मुख्य इमारत को बनने में करीब 8 वर्ष का समय लगा था। मकबरे के निर्माण में उस वक्त 15 लाख रूपये का खर्च आया था।

6. हुमायूँ का मकबरा लाल बलुआ पत्थर से बना हुआ है। यह फ़ारसी स्थापत्यकला से निर्मित इमारत है।

7. हुमायूँ का मकबरा (Humayun Ka Maqbara) बाग में बीचोबीच बने चबूतरे पर स्थित है। बाग का आकार चतुर्भुज की आकृति में है।

8. हुमायूँ के मकबरे की ऊंचाई 154 फ़ीट के करीब है। इस मकबरे की चौड़ाई 299 फ़ीट है। मकबरे का आधार आयताकार है और इसपर बनी इमारत वर्गाकार है।

हुमायूँ का मकबरा Humayun Ka Maqbara In Hindi –

Humayun Tomb History In Hindi हुमायूँ का मकबरा –

9. मकबरे के नीचे के आयताकार भाग में कई मेहराब बने हुए है। इस चबूतरे की ऊंचाई 7 फ़ीट है।

10. यह मकबरा चार बाग शैली में बना हुआ है। इसका आशय यह है कि बाग चार वर्गाकार भागों में है। इन बागों के बीच में पानी की नहरें बनी हुई है। इनकी डिज़ाइन जन्नत के बाग में बहने वाली नहरों से प्रेरित है।

11. बाग के चारों और चारदीवारी बनी हुई है। अंदर प्रवेश के लिए विशाल दरवाजा है। बाग के अंदर फव्वारे भी लगे हुए है। हुमायूँ का मकबरा करीब 30 एकड़ में फैला हुआ है।

12. इस मकबरे में दो विशाल गुम्बद है। मकबरे के दोनों गुम्बद संगमरमर के बने हुए है। गुम्बद के शीर्ष पर तांबे का कलश भी है।

13. इमारत का मुख्य कक्ष गुम्बद के ठीक नीचे है। यह कक्ष अष्टभुजाकार है। इसमें हुमायूँ की कब्र बनी हुई है।

14. बाग के परिसर में अरब सराय भवन भी बने हुए है जो हमीदा बानो बेगम ने कारीगरों के लिए बनवाये थे।

15. हुमायूँ का मकबरा (Humayun Tomb) नाम से आपको यह लगता होगा कि इस मकबरे में केवल हुमायूँ की कब्र होगी लेकिन ऐसा नही है। इस मकबरे में हुमायूँ के अलावा दारा शिकोह, हमीदा बानो बेगम की कब्र भी है। हुमायूँ का मकबरा को मुग़लो का कब्रिस्तान भी कहा जाता है। मकबरा परिसर में करीब 150 कब्रे मौजूद है जो मुग़ल वारिसों की है। कब्रें पीले या काले संगमरमर से बनी हुई है।

Humayun Tomb Information In Hindi –

16. अंतिम मुग़ल बादशाह बहादुर शाह जफर 1857 की क्रांति में अंग्रेजो से बचने के लिए अपने पुत्रों के साथ इसी मकबरे में छिपे थे।

17. हुमायूँ का मकबरा यूनेस्को की विश्व धरोहरों में शामिल है। हर साल लाखों देशी विदेशी सैलानी हुमायूँ का मकबरा देखने के लिए आते है।

18. हुमायूँ के मकबरे के पास सूफी संत निजामुद्दीन औलिया की कब्र भी मौजूद है।

19. ब्रिटिश गवर्नर लार्ड कर्जन के समयकाल में हुमायूँ का मकबरा का जीर्णोद्धार किया गया था।

अन्य पोस्ट्स – 

Note – इस पोस्ट Humayun Tomb History In Hindi में हुमायूँ का मकबरा (Humayun Ka Maqbara) के बारे में जानकारी कैसी लगी। यह पोस्ट “Humayun Ka Maqbara In Hindi” पसंद आयी हो तो इसे फेसबुक और ट्विटर पर शेयर भी करे।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *