जीएसटी क्या है व प्रकार What Is GST In Hindi

What Is GST In Hindi

यह पोस्ट What Is GST In Hindi जीएसटी क्या है (GST Kya Hai) और जीएसटी के प्रकार (Types Of GST In Hindi) के बारे में जानकारी पर है। भारत सरकार कई तरह के Taxes को खत्म करके “वन टैक्स वन नेशन” का फॉर्मूला लायी है। इस प्रकार के टैक्स को “GST” कहते है। इसे अप्रत्यक्ष कर सुधार भी कह सकते है। जीएसटी पूरे देश में लागू कर सेवा है। जीएसटी के बारे में जानने के लिए इस पोस्ट “GST Information In Hindi” को आगे पढ़ें।

जीएसटी क्या है What Is GST In Hindi

GST की फुल फॉर्म “Goods And Services Tax” है। इस कर सेवा को 1 जुलाई, 2017 में लागू किया गया था। GST आने से पहले भारत में कई तरह के Tax लगते थे। जीएसटी आने से सभी तरह के टैक्स खत्म हो गए और केवल एक ही Tax रह गया है। GST वस्तुओं की बिक्री और कई तरह की सर्विसेज पर लगता है। GST की सबसे बड़ी खासियत इसका वन टैक्स वन नेशन होना है। इसका अर्थ यह है कि देश में हर जगह टैक्स समान होगा। किसी भी वस्तु या सर्विस पर लगने वाला Tax पूरे देश में समान है।

जैसे आप X कंपनी की कार देश के किसी भी राज्य से खरीदो, उस कार की कीमत एक समान होगी। GST से पहले प्रत्येक राज्य के टैक्स सिस्टम अलग अलग थे लेकिन जीएसटी की वजह से सब जगह टैक्स एक जैसे हो गए है। पहले प्रत्येक राज्य में कार की कीमत में अंतर होता था लेकिन अब ऐसा नही है।

जीएसटी को समझने के लिए पहले Tax क्या है? इसपर बात करते है। बाजार में मिलने वाले किसी भी प्रोडक्ट पर टैक्स लगता है। प्रोडक्ट की MRP में यह टैक्स Include होता है। प्रोडक्ट के बनने से लेकर उसके बाजार में आने तक उस पर 17 तरह के टैक्स लगते थे।

जीएसटी के बारे में जानकारी GST Kya Hai –

उदाहरण के तौर पर आप मार्केट से बिस्किट का एक पैकेट खरीदी करते हो तो इस बिस्किट के पैकेट पर भी Tax लगता है। कम्पनी बिस्किट बनाने के लिए कच्चा माल लाती है, तो इस कच्चे माल पर भी Tax लगता है। प्रोडक्ट के अलावा कई तरह की सर्विसेज पर भी Tax लगता है। जैसे मूवी टिकट खरीदने पर टैक्स लगता है। व्यापारी और उपभोक्ताओं को वस्तुओं व सर्विसेस पर लगने वाले टैक्सेज को भरना अनिवार्य होता है।

Product या Service पर पहले एक्साइज ड्यूटी, सेल टैक्स जैसे कई प्रकार के Tax लगते थे। वर्तमान में सभी तरह के टैक्स को खत्म किया जा चुका है और केवल GST रह गयी है। वस्तुओं पर राज्य और केंद्र सरकार के टैक्सेज लगते थे लेकिन अब केवल GST लगता है।

GST कॉउंसिल ने Tax की दरों को 5 स्लैब में बांटा है। जीरो, 5%, 12%, 18% और 28 %। जीएसटी में कई वस्तुओं पर 0 टैक्स लगता है जिनमें खाने पीने की अंडा, चिकन, अनाज जैसे उत्पाद आते है। पेट्रोल और शराब जीएसटी के दायरे में नही आते है। ज्यादातर जरूरी वस्तुओं को 12 % और 18 % स्लैब में रखा गया है। लक्सरी आइटम 28 % स्लैब में है। जिन व्यापारियों का सालाना टर्नओवर 20 लाख से कम है, उन्हें GST से बाहर रखा है।

GST कौन देता है Goods And Service Tax in Hindi –

निर्माता से उपभोक्ता तक वस्तु पहुचने की एक Cycle होती है। निर्माता प्रोडक्ट बनाता है और उसे डिस्ट्रीब्यूटर को देता है। डिस्ट्रीब्यूटर प्रोडक्ट को होलसेलर को देता है। होलसेलर से प्रोडक्ट रिटेलर के पास जाता है। अंत में उपभोक्ता रिटेलर से प्रोडक्ट खरीदता है। इस पूरी Cycle में उपभोक्ता जीएसटी नही भरता है। उपभोक्ता के पास प्रोडक्ट GST के साथ ही आता है। उत्पादक, डिस्ट्रीब्यूटर, होलसेलर इत्यादि सभी GST देते है।

जीएसटी के प्रकार Types Of GST In Hindi –

भारत में जीएसटी चार प्रकार की है।

  1. CGST (Central Goods And Services Tax) – इस टैक्स को केंद्र सरकार वसूलती है।
  2. SGST (State Goods And Services Tax) – राज्य सरकार इस टैक्स को वसूलती है।
  3. IGST (Integrated Goods And Services Tax) – यह केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों लेती है।
  4. UGST (Union Goods And Services Tax) – केंद्र शासित प्रदेशों में यह GST कार्य करती है।

GST Ki Jankari – GST Information In Hindi –

GST भरना आसान कार्य है लेकिन पहले जीएसटी समझना जरूरी है। सबसे पहले व्यापारी को जीएसटी लेनी पड़ती है। जीएसटी लेने की प्रकिया बहुत सिम्पल है। GST रेजिस्ट्रेशन करने के लिए इस वेबसाइट पर जाए – www.gst.gov.in
इसके बाद एक आसान सा फॉर्म भरे। बहुत जल्दी आपके पास GSTIN नंबर आ जायेगा।

GST के आने से कुछ वस्तुएं और सेवाएं सस्ती हो गयी है तो कुछ बहुत ज्यादा महंगी हो गयी है। पहले कुछ सेवाओ और वस्तुओं पर बिल्कुल भी टैक्स नही लगता था लेकिन अब उन सेवाओ और वस्तु पर टैक्स लगता है। GST के आने से टैक्स सिस्टम में पारदर्शिता आ गयी है। लेकिन GST की जटिलता अभी भी बनी हुई है।

सर्विस टैक्स पहले 14.5 % के आसपास था लेकिन GST में यह 18 % है। इससे साफ है कि सर्विसेज महंगी हुई है। वैसे जीएसटी का सबसे बड़ा फायदा यह है कि व्यापार करना आसान हो गया है। सरकार को GST से बहुत फायदा है क्योंकि इससे कर चोरी रुकी है। जीएसटी में अभी सुधार की जरूरत है।

यह भी पढ़े –

Note – इस पोस्ट What Is GST In Hindi में जीएसटी क्या है (GST Kya Hai) व जीएसटी के प्रकार (Types Of GST In Hindi) पर जानकारी कैसी लगी। यह पोस्ट “GST Information In Hindi” अच्छी लगी हो तो इसे शेयर भी करे।

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *