भारत की खोज-वास्को डी गामा का इतिहास Vasco Da Gama History In Hindi

यह पोस्ट Vasco Da Gama History In Hindi भारत की खोज किसने की थी (Bharat Ki Khoj Kisne Ki Thi) और वास्को डी गामा का इतिहास के बारे में है। स्कूल में हमे पढ़ाया जाता है कि वास्को डी गामा ने भारत की खोज की थी। वैसे यह पूर्ण सत्य नही है। वास्को डी गामा ने भारत के समुद्री मार्गो की खोज की थी। इसे समझने के लिए वास्को डी गामा की जीवनी और वास्कोडिगामा भारत कब आया का इतिहास जानना पड़ेगा।

Vasco Da Gama History In Hindi

वास्को डी गामा का इतिहास Vasco Da Gama History In Hindi

यूरोप के लोग पूरी दुनिया में व्यापार करना चाहते थे। भारत में व्यापार करने के लिए उन्हें समुद्री मार्गो का पता नही था। उस समय अरब के लोग भारत के रास्तों को जानते थे लेकिन उन्होंने युरोप के लोगो को मार्गो के बारे में नही बताया। वास्को डी गामा पहले शख्श थे जिन्होंने भारत के समुद्री मार्गो को खोज निकाला था। कोलम्बस भी भारत को खोजने गए थे लेकिन अमेरिका जा पहुचे।

वास्को डी गामा एक पुर्तग़ालिक नागरिक था जो पेशे से एक नाविक था। इनका जन्म 1460 ईसवी में पुर्तगाल के साईनस में माना जाता हैं।

उस समय में अरब के लोग यूरोप में मसाले बेचा करते थे जो वो भारत से लाते थे। यूरोप में इन मसालों की मांग बहुत ज्यादा थी। इसलिए यूरोप के लोग भारत जाकर मसाले लेना चाहते थे लेकिन उनके लिए भारत जाने का रास्ता दुर्गम भरा था। उन्हें भारत जाने के लिए ईरान, अफगानिस्तान होकर जाना पड़ता था जो काफी खर्चीला और कठिन रास्ता था। उन्हें ऐसे  मार्ग की आवश्यकता थी जो भारत कम समय में ले जाये। ऐसा मार्ग केवल समुद्र के जरिये ही सम्भव था।

भारत की खोज किसने की थी Bharat Ki Khoj Kisne Ki Thi –

वास्कोडीगामा (Vasco Da Gama) ने भारत के इन रास्तों की खोज करने की ठानी और इस ऐतिहासिक सफर पर निकल पड़े। वर्ष 8 जुलाई, 1497 में वास्को डी गामा अपने साथियों के साथ भारत की खोज के लिए रवाना हुआ। उसके जहाजी बेड़े में 4 जहाज और 170 के करीब आदमियों का दल था। सबसे बड़े जहाज सेंट ग्रेबियाल पर वह खुद था। सबसे पहले वो अफ्रीका के अंतिम छोर “कैप ऑफ गुड होम” नामक स्थान पर पहुंचा। उसके बाद वह अफ्रीका के ही एक राज्य मोसम्बा आया, जहां के राजा ने उसकी मदद की और उसे एक अरब नाविक दिया जो भारत का रास्ता जानता था।

वास्कोडिगामा भारत कब आया Vasco Da Gama History In Hindi –

वास्को डी गामा (Vasco Da Gama) अफ्रीका महाद्वीप का चक्कर लगाकर भारत के कालीकट बन्दरगाह, केरल पर पहुंचा था। 20 मई, 1498 की तारीख थी, जब वास्कोडिगामा भारत के कालीकट बन्दरगाह पर पहुंचा। भारत की खोज का यह सफर करीब 10 महीनों का रहा।

भारत आकर वास्को डी गामा ने स्थानीय राज्य के राजा से व्यापार का समझौता किया। उसने कई प्रकार के मसाले खरीदे। भारत से पुर्तगाल आने के दौरान समुद्री तूफान से उसके जहाजी बेड़े को नुकसान पहुँचा और उसके दल के कई लोग मारे गए। पुर्तगाल लौटने पर उसका भव्य स्वागत किया गया। अगली बार भारत आने पर उसने कालीकट के राज्य पर आक्रमण कर दिया और कत्लेआम, लूटपाट की।

वास्को डी गामा (Vasco Da Gama) की खोज ने यूरोपीय देशों के लिए भारत के व्यापारिक रास्तो को खोल दिया था। पुर्तगालियों के बाद ब्रिटिश भी इसी रास्ते से भारत आये थे और उन्होंने भारत को गुलाम बना दिया था।

वास्को डी गामा ने तीन बार भारत का सफर किया। तीसरे सफर में वर्ष 23 दिसम्बर, 1524 को उनकी मृत्यु हो गयी। कोच्चि में वास्कोडिगामा की कब्र भी मौजूद है।

यह भी पढ़े – 

टेलीविज़न का आविष्कार किसने किया

Note – वास्को डी गामा का इतिहास Vasco Da Gama History In Hindi की इस पोस्ट में भारत की खोज किसने की थी (Bharat Ki Khoj Kisne Ki Thi) और वास्कोडिगामा भारत कब आया था की जानकारी कैसी लगी। यह पोस्ट “Vasco Da Gama In Hindi” अच्छी लगी हो तो इसे शेयर भी करे।

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *