शरद ऋतु पर निबंध हिंदी में Essay On Winter Season In Hindi

Essay On Winter Season In Hindi

यह आर्टिकल Essay On Winter Season In Hindi शरद ऋतु या शीत ऋतु पर निबंध के बारे में है। सर्दियों का मौसम नवम्बर से फरवरी के बीच में आता है। नवम्बर में कम सर्दी पड़ती है और दिसम्बर में सर्दी अपने चरम पर होती है। इस मौसम को शरद ऋतु या शीत ऋतु भी कहते है। वर्षा ऋतु के बाद शरद ऋतु का आगमन होता है।

शरद ऋतु पर निबंध (Sharad Ritu Par Nibandh) अक्सर बच्चों को स्कूल में लिखने के लिए देते है। शीत ऋतु पर निबंध (Winter Season Information In Hindi) में शरद या शीत ऋतु का महत्व, इसका कारण, सर्दियों में आने वाले प्रमुख त्योहारों की बात करेंगे।

शरद ऋतु पर निबंध Essay On Winter Season In Hindi –

सर्दियों का मौसम (Winter Season In Hindi) ठंड का मौसम होता है। इस मौसम में सूर्य देवता की तपिश कम हो जाती है। शरीर में सर्दी के मारे ठिठुरन होती है। गर्मियों में चलने वाले पंखे, कूलर बंद हो जाते है। रात को ठंड से बचने के लिए रजाइयां निकाल ली जाती है। दिन में भी सर्द हवाओं से बचने के लिए ऊनी वस्त्र स्वेटर, कोट पहने जाते है। अक्सर शरद ऋतु में कड़कड़ाती ठंड से बचाव के लिए आग जलाकर तपते है।

सर्दियों का औसत तापमान दिन में 15 से 20 डिग्री के आसपास रहता है लेकिन रात में गिरकर 0 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है। दिसम्बर और जनवरी का महीना भयंकर सर्दी का होता है। कई दिनों तक सूर्य देवता के भी दर्शन नही होते है। धुंध या कोहरे की आगोश में सूर्य छिप जाता है। इन महीनों में अक्सर शीतलहर चलती है। उत्तर भारत में ठंड ज्यादा पड़ती है। भारत के जम्मू कश्मीर, शिमला में बर्फबारी भी होती है।

शरद ऋतु Winter Season में कई बार वर्षा भी होती है जिसे मावट कहते है। इस बारिश में बर्फ के ओले गिरते है। पहाड़ी इलाको में बर्फ की चादर बिछ जाती है। कई लोग बर्फीले मौसम में शिमला, मनाली घूमने भी जाते है। सर्दियों में दिन छोटे और राते लम्बी होती है।

गर्मी के बाद सर्दी क्यों आती है? पृथ्वी अपनी कक्षा में सूर्य की परिक्रमा करती है। इसके साथ ही धरती अपने अक्ष पर झुकी हुई भी है। पृथ्वी के अपने अक्ष पर झुके होने के कारण ही ऋतु परिवर्तन होता है। जब पृथ्वी उत्तरी गोलार्द्ध में चक्कर लगाती है तो यहां शीत ऋतु रहती है।

शरद ऋतु का महत्व पर निबंध Sharad Ritu Par Nibandh –

शीत ऋतु (Winter Season) में गाजर, मटर, मूली, सेब, नारंगी जैसे फल आते है। शरद ऋतु में गेंहू, चना की फसल बोई जाती है। वैसे सर्दियों में खानपान ठीक रहता है। चाय की चुस्की का मजा सर्दियों में ही आता है। सर्दियों में पृथ्वी का धरातल फूलों की खूबसूरती में ढक जाता है।

शरद ऋतु में कई त्यौहार आते है। ईसाइयों का प्रमुख त्यौहार क्रिसमस 25 दिसम्बर को सर्दी में आता है। नववर्ष की शुरुआत सर्दियों के मौसम में ही होती है। मकर सक्रांति में पतंगबाजी का आनन्द शरद ऋतु में ही होता है। पोंगल और लोहड़ी के पावन पर्व शरद ऋतु में ही आते है। गणतंत्र दिवस भी सर्दियों में आता है।

सर्दियों में कोहरे के कारण ट्रैफिक की समस्या होती है। कभी कभी कोहरे की वजह से दुर्घटना भी हो जाती है। सर्दी का मानव स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड़ता है। सर्दी खांसी जुकाम जैसे रोग अक्सर लोगो को हो जाते है। सर्दियों में बसे, ट्रेनें और हवाई उड़ाने लेट या रद्द हो जाती है। सर्दियों में हर कार्य देरी से होता है। ठंड के प्रकोप के कारण स्कूलों में छुट्टियां भी रखी जाती है। शरद ऋतु में पक्षु पक्षियों का भी ध्यान रखना चाहिए।

शीत ऋतु पर निबंध Sheet Ritu Par Nibandh –

सर्दियों (Winter Season) में गरीब परिवारों को बहुत दिक्कत का सामना करना पड़ता है। उनके पास ऊनी वस्त्र नही होते है। रहने को छत नही होती है। कई लोग फूटपाथ पर सोते है जिससे ठंड उन्हें चपेट में लेती है। हमें ऐसे लोगो की मदद करनी चाहिए। उनके लिए गर्म कपड़ों की व्यवस्था करनी चाहिए जिससे उन्हें ठंड से निजात मिल सके।

प्रत्येक ऋतु का अपना विशेष महत्व है। शरद ऋतु का भी जीवन में विशेष महत्व है। चिलचिलाती गर्मी से निजात देने के लिए वर्षा ऋतु आती है। वर्षा ऋतु के बाद शरद ऋतु का आगमन होता है जो वातावरण में शीतलता का संचार कर देती है। निबंध लेखन में शरद ऋतु पर निबंध Essay On Winter Season In Hindi आपके लिए महत्वपूर्ण है।

यह भी पढ़े – 

Note – शरद ऋतु पर निबंध Essay On Winter Season In Hindi के इस आर्टिकल में शीत ऋतु का महत्व कैसा लगा। शीत ऋतु पर निबंध “Sheet Ritu Par Nibandh” आपके लिए उपयोगी साबित होगा, ऐसा हम आशा करते है। यह पोस्ट Winter Season Information In Hindi अच्छी लगी हो तो इसे शेयर भी करे।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *