24 प्रमुख मसालों के नाम Spices Name In Hindi And English

यह पोस्ट Indian Spices Name In Hindi And English मसालों के नाम (Masalo Ke Naam Hindi Mein) पर आधारित है। मसाले खाना बनाने में उपयोग होते है। विभिन्न प्रकार के मसालों का प्रयोग करने से खाना स्वादिष्ट बनता है। मसाले कई प्रकार के होते है और इनका स्वाद भी अलग अलग होता है। तो आइए दोस्तो, भारतीय मसालों के नाम “Indian Spices Name In Hindi” और उनकी जानकारी इस आर्टिकल में जानने का प्रयास करते है।

Spices Name In Hindi And English

प्रमुख मसालों के नाम Spices Name In Hindi And English

1. धनिया (Coriander) – धनिया पीसकर उपयोग में लिया जाता है। सब्जी का मसाला या ग्रेवी तैयार करने में धनिया का इस्तेमाल किया जाता है। धनिया के बीज मसाले में प्रयोग किये जाते है। इसमें फाइबर और विटामिन मुख्यतः पाये जाते है।

2. हल्दी (Turmeric) – हल्दी पाउडर का इस्तेमाल सब्जी बनाने में बहुत समय से किया जा रहा है। यह पीले रंग का मसाला है। हल्दी पाउडर को चेहरे पर लगाने से निखार आता है।

3. काली मिर्च (Black Pepper) – यह स्वाद में तीखी होती है। काली मिर्च का सब्जी बनाने में इस्तेमाल होता है। उबले अंडे या आमलेट पर भी काली मिर्च लगाकर खाते है। इस मसाले में एंटीऑक्सीडेंट होते है। यह पाचन शक्ति को बढ़ाती है।

4. लाल मिर्च पाउडर (Red Chilly) – लाल मिर्च को पीसकर सब्जी की ग्रेवी बनाने में प्रयोग होती है। व्यंजन में तीखापन लाने के लिए लाल मिर्च का उपयोग होता है।

5. लौंग (Clove) – लौंग का उपयोग भी सब्जी बनाने में करते है। इस मसाले की खुशबू बेहतरीन होती है। सांस की बदबू और दांतों में दर्द होने पर लौंग फायदा देती है।

6. दालचीनी (Cinnamon) – दालचीनी पौधे की छाल होती है जिसकी खुशबू विशिष्ट होती है। इस मसाले में भरपूर एंटीऑक्सीडेंट पाये जाते है। पाचन शक्ति को बढ़ाने के लिए भी दालचीनी का इस्तेमाल किया जाता है।

7. सौंफ (Fennel) – यह मसाला हरे रंग का होता है। सौंफ में मुख्यतः विटामिन सी होता है। सौंफ का इस्तेमाल अचार बनाने में करते है। मिश्री के साथ सौंफ खायी जाती है।

8. हींग (Asafoetida) – हींग खाने से पेट सबन्धी रोग दूर होते है। कब्ज जैसी समस्याओं से निजात मिलती है। हींग का इस्तेमाल सब्जी बनाने में किया जाता है। हींग सफेद और लाल रंग दो प्रकार की होती है।

मसाले का नाम Masalo Ke Naam Hindi Mein –

9. लहसुन (Garlic) – लहसुन की गंध तेज और तीखी होती है। इसका उपयोग ग्रेवी बनाने में करते है। इसका पेस्ट आमतौर पर बनाया जाता है। दिल सबन्धी बीमारी में लहसुन अच्छा रहता है।

10. अदरक (Ginger) – अदरक का पेस्ट सब्जी बनाने में इस्तेमाल किया जाता है। अदरक को चाय में भी डाला जाता है। सर्दी जुकाम होने और अदरक का सेवन लाभदायक होता है।

11. मेथी (Fenugreek) – इसमें एंटीऑक्सीडेंट भरपूर होते है। मेथी का स्वाद कड़वा होता है। मेथी के उपयोग कई प्रकार के व्यंजन बनाने में होता है।

12. अजवाइन (Carom Seed) – अजवाइन का खाना बनाने में इस्तेमाल करने से स्वाद बढ़ जाता है। अजवाइन कब्ज जैसी पेट की समस्याओं में फायदेमंद होती है। इसमें फाइबर मौजूद होता है।

13. अमचूर (Mango Powder) – चटनी बनाने में अमचूर का प्रयोग ज्यादा होता है। कभी कभी सब्जी बनाने में भी अमचूर इस्तेमाल किया जाता है। इसका स्वाद खटास लिए होता है। आम को सुखाकर अमचूर पाउडर तैयार किया जाता है।

14. जीरा (Cumin) – जीरा पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद है। छाछ और रायते में जीरा डालकर पीने से स्वाद बढ़ जाता है। चावल और सब्जी बनाने में जीरा उपयोग करते है।

15. इलायची (Cardamom) – इलायची का रंग हरा होता है। चाय में भी इलायची डाली जाती है जिससे स्वाद अच्छा रहता है। उल्टी या जी मचलाने पर इलायची खाने से सही रहता है। इसके सेवन से पाचन तंत्र सही रहता है।

16. राई (Mustard Seed) – सरसों के बीज को राई कहते है। अचार या तड़का लगाने में राई का उपयोग होता है।

17. जावित्री (Mace) – यह मसाला हल्का लाल रंग का होता है। जावित्री में विटामिन, मिनरल्स पाये जाते है। पाचन क्रिया को दुरुस्त करने के लिए जावित्री का उपयोग किया जाता है।

भारतीय मसालों के नाम Indian Spices Name In Hindi –

18. मुलेठी (Liquorice) – मुलेठी का स्वाद मीठा होता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट भरपूर होते है। सर्दी खांसी से बचाव के लिए मुलेठी का उपयोग किया जाता है।

19. सोंठ (Dry Ginger) – सुखी हुई अदरक को ही सोंठ कहते है। पाचन क्रिया को सुचारू करने के लिए सोंठ फायदेमंद है। भोजन बनाने में भी सोंठ का प्रयोग किया जाता है।

20. जायफल (Nutmeg) – जायफल सर्दी खांसी जुकाम में लाभकारी है। इसका उपयोग भी व्यंजन बनाने में किया जाता है।

21. तेज पत्ता (Bey Leaf) – इन पत्तों का स्वाद और खुशबू आकर्षक होती है। कई प्रकार के खाने बनाने में तेज पत्ता इस्तेमाल होता है। चावल या मांस में तेज पत्ता उपयोग करते है। तेज पत्ता एंटीऑक्सीडेंट का खजाना है।

22. करी पत्ता (Curry Leaves) – यह मीठे नीम की पत्तियां है जो व्यंजनों में उपयोग की जाती है।

23. सेंधा नमक (Rock Salt) और काला नमक (Black Salt) – ये दोनों नमक के ही प्रकार है लेकिन साधारण नमक से ज्यादा फायदा करते है। यह स्वाद में खारा होते है।

24. अलसी (Flax Seed) – अलसी के बीजों का दिल सबन्धी बीमारियों में खासा फायदा है। अलसी का तेल जोड़ो के दर्द में लाभकारी है।

यह भी पढ़े –

Note – प्रमुख मसालों के नाम Spices Name In Hindi And English पर यह पोस्ट (Masalo Ke Naam Hindi Mein) आपको कैसी लगी। यह आर्टिकल “Indian Spices Name In Hindi” अच्छा लगा हो तो इसे शेयर भी करे।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *