ऊर्जा क्या है? प्रकार व स्रोत | What Is Energy In Hindi

ऊर्जा क्या है? (What Is Energy In Hindi) ऊर्जा के प्रकार (Types Of Energy) व ऊर्जा के स्रोत क्या है? (Source Of Energy) इत्यादि प्रश्नों के उत्तर संक्षिप्त में देने का प्रयास इस लेख में किया गया है।  ब्रह्मांड में सबकुछ ऊर्जा ही है। हम मनुष्य भी ऊर्जा का ही रूप है।

ऊर्जा (Energy) एक रूप से दूसरे रूप में बदलती है। ऊर्जा को ना ही उत्पन्न किया जा सकता है और ना ही नष्ट कर सकते है। तो आइये दोस्तों, Energy क्या है? पढ़ते है।

What Is Energy In Hindi Information

ऊर्जा क्या होती है – What Is Energy In Hindi

किसी भी वस्तु या पिंड की कार्य करने की क्षमता को ऊर्जा (Energy) कहते है। ऊर्जा हर जगह और हर चीज में है। चाहे वो पिंड स्थिर हो या गतिमान। सूर्य की ऊर्जा के कारण धरती पर जीवन मौजूद है। सूर्य की प्रकाश ऊर्जा रासायनिक ऊर्जा में बदलकर पेड़ पौधों को जीवन देती है।

बिजली संयंत्र में टर्बाइन (Turbine) चलाकर उस पर पानी गिराते है। इससे पानी की गतिज ऊर्जा के कारण टर्बाइन की शाफ़्ट से लगे पंखे घूमते है। इस कार्य के कारण मोटर में विद्युत ऊर्जा पैदा होती है। पानी की गतिज ऊर्जा का रूपांतरण विद्युत ऊर्जा में हुआ। हम स्थिर खड़े है, तो इस समय भी हममें ऊर्जा है, जब हम चलते है, तब भी हममें ऊर्जा है।

“कार्य = ऊर्जा” कभी भी नही होती है। इसका अर्थ यह है की 100℅ ऊर्जा को कार्य में परिवर्तित नही किया जा सकता है। ऊर्जा की इकाई “जूल” है। इसे J से डेनोट करते है। ऊर्जा एक अदिश राशि है।

ऊर्जा के प्रकार क्या है – Types Of Energy In Hindi

ऊर्जा (Energy In Hindi) मुख्यत दो प्रकार की होती है –

1. गतिज ऊर्जा (Kinetic Energy)

किसी पिंड की गति के कारण उत्पन्न ऊर्जा को गतिज ऊर्जा (Kinetic Energy) कहते है। वस्तु पर बाह्य बल लगाकर उसे गति दी जाती है।

उदाहरण के तौर पर बंदूक से निकली गोली में गतिज ऊर्जा होती है। बारिश की बूंदे धरती आती है, तो उनमें गतिज ऊर्जा होती है। सड़क पर दौड़ती हुई गाड़ी में भी गतिज ऊर्जा होती है।

2. स्थितिज ऊर्जा (Potential Energy)

जब कोई वस्तु या पिंड विराम अवस्था में होता है, तो उसमें स्थितिज ऊर्जा (Potential Energy) होती है। बांध बनाकर रोका गया पानी स्थितिज ऊर्जा रखता है।

Potential Energy को Kinetic Energy में परिवर्तित किया जा सकता है। जैसे कोई साइकिल विराम अवस्था में है तो उसमें स्थितिज ऊर्जा है, उस साइकिल को चलाने पर उसमें गतिज ऊर्जा आ जाती है। बादल में पानी होता है और उस पानी में स्थितिज ऊर्जा है लेकिन बारिश होने पर यह स्थितिज ऊर्जा गतिज में बदल जाती है।

ऊर्जा (Energy) को एक रूप से दूसरे रूप में परिवर्तित किया जा सकता है। इसे ऊर्जा संरक्षण का नियम भी कहते है।

ऊर्जा के अन्य प्रकार क्या है?

1. यांत्रिक ऊर्जा (Mechanical Energy) – किसी वस्तु या पिंड में उसकी विराम अवस्था से गतिमान होने पर यांत्रिक ऊर्जा बनती है। स्थितिज और गतिज ऊर्जा का योग यांत्रिक ऊर्जा (Mechanical Energy) कहलाती है। उदाहरण के तौर पर किसी मशीन के कार्य करने पर यांत्रिक ऊर्जा पैदा होती है।

2. सोलर ऊर्जा (Solar Energy) – ऊर्जा का यह रूप सूर्य के प्रकाश से मिलता है।

3. परमाणु ऊर्जा (Atomic Energy) – नाभिकीय संलयन और विघटन के कारण परमाणु ऊर्जा उत्पन्न होती है। उनकी रासायनिक एनर्जी एटॉमिक एनर्जी में चेंज होती है।

4. रासायनिक ऊर्जा (Chemical Energy) – अणुओं के मध्य Chemical Bond होता है जिससे उनमे रासायनिक ऊर्जा होती है।

5. विद्युत ऊर्जा (Electric Energy) – विद्युत ऊर्जा का उदाहरण हमारे घरों में आने वाली लाइट है।

6. ऊष्मा ऊर्जा (Heat Energy) – ताप के कारण ऊष्मा पैदा होती है।

7. प्रकाश ऊर्जा (Light Energy) – सूर्य के प्रकाश में मौजूद ऊर्जा को प्रकाश ऊर्जा कहते है।

ऊर्जा के स्रोत क्या है? (Source Of Energy In Hindi)

पृथ्वी पर ऊर्जा (Energy In Hindi) के दो मुख्य स्रोत है –

1. नवीकरणीय स्रोत (Renewable Source)

2. अनवीनीकरण स्रोत (Nonrenewable Source)

  • नवीकरणीय स्रोत दुनिया में कभी भी खत्म नही होते है। ये असीमित है। जैसे कि सूर्य ऊर्जा, बायोमास, पवन ऊर्जा इत्यादि।
  • अनवीनीकरण स्रोत दुनिया में सीमित है। इनका नवीनीकरण नही हो सकता है। जैसे कि पेट्रोलियम, कोयला इत्यादि।
  • सोलर ऊर्जा (Solar Energy) ऊर्जा का संरक्षण भी जरूरी है। पृथ्वी पर ऊर्जा का मुख्य स्रोत सूर्य है।
  • कोयला, प्राकृतिक गैस और पेट्रोलियम भी ऊर्जा के स्रोत है।
  • पानी भी ऊर्जा का एक स्रोत है।

ऊर्जा (Energy) की आवश्यकता हर जगह है। चाहे विद्युत ऊर्जा हो या यांत्रिक ऊर्जा, ऊर्जा हर जगह उपयोग होती है। विद्युत ऊर्जा के कारण मशीनरी चलती है। हमारे घर पर बिजली आती है जिससे टीवी, कूलर, फ्रिज जैसे विद्युत उपकरण कार्य करते है। गाड़ी चलाने के लिए पेट्रोल, हवाई जहाज के लिए ईंधन ऊर्जा से ही आता है। यहां तक कि आप कोई खेल खेलते है, तब भी आपको एनर्जी की आवश्यकता होती है।

Note – ऊर्जा क्या है? What Is Energy In Hindi, ऊर्जा के स्रोत क्या है (Source Of Energy), ऊर्जा के प्रकार (Types Of Energy) पर यह आर्टिकल आपको कैसा लगा? यह पोस्ट “Kinetic And Potential Energy In Hindi Information” अच्छी लगी हो तो इसे शेयर भी करे।

यह भी पढ़े – 

About the Author: Knowledge Dabba

नॉलेज डब्बा ब्लॉग टीम आपको विज्ञान, जीव जंतु, इतिहास, तकनीक, जीवनी, निबंध इत्यादि विषयों पर हिंदी में उपयोगी जानकारी देती है। हमारा पूरा प्रयास है की आपको उपरोक्त विषयों के बारे में विस्तारपूर्वक सही ज्ञान मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *