Jasmine Flower Information In Hindi चमेली का फूल

Jasmine Flower Information In Hindi

इस लेख Jasmine Flower Information In Hindi में चमेली का फूल के बारे में जानकारी दी गयी है। चमेली का फूल (Chameli Flower In Hindi) सुंदर और खुशबूदार होता है। इस फूल की खुशबू आसपास के वातावरण को आनन्दमय बना देती है। बागों में फूलों के बीच चमेली का अपना महत्व है।

चमेली का फूल एक बेल पर लगता है। चमेली को अंग्रेजी में “Jasmine” कहते है। फूल हर किसी को प्यारे है। फूलों को देखकर मन प्रफुल्लित हो जाता है। तो आइये दोस्तों, चमेली के फूल (Jasmine Flower) के बारे में रोचक बाते जानने का प्रयास करते है।

चमेली के फूल की जानकारी – Jasmine Flower Information In Hindi

1. चमेली (Jasmine) की पूरी दुनिया में 200 से ज्यादा प्रजातियां पायी जाती है। यह बेल गर्म प्रदेशो में मिलती है। इस पुष्प की उत्पत्ति हिमालय पर्वत पर मानी गयी है।

2. जैस्मिन का फूल दक्षिण एशिया का मूल निवासी है। बाद में अरबो के द्वारा यह यूरोप पहुंचा था। अफ्रीका में भी चमेली का फूल मिलता है।

3. चमेली फूल का रंग सफेद होता है। इस फूल में 5 पंखुड़ियां होती है। फूल की साइज 1 इंच के आसपास होती है। फूल के बीच मे पुंकेसर होता है। वैसे कुछ प्रजाति की जैस्मिन फूल का रंग हल्का पीला होता है। इसकी शाखा भी हल्के हरे रंग की होती है।

4. चमेली फूल गुच्छे में पौधे पर लगता है। एक गुच्छे में कम से कम तीन फूल होते है। इस बेल की लम्बाई करीब 18 फ़ीट तक जाती है। अन्य पौधों या दीवार का सहारा लेकर यह बेल 35 फ़ीट तक हो जाती है।

5. चमेली के फूल में नर और मादा दोनों होते है। इस फूल में स्वपरागण नही होता है। परागण के लिए तितलियां, मधुमक्खी जिम्मेदार होती है।

6. चमेली का फूल (Jasmine Flower) सर्दियों में झड़ता है। कुछ प्रजातियां सारभर फूल देती है। गर्मियों में इस पौधे पर फूल लगते है।

7. चमेली का फूल मोगरा, जूही की ही प्रजाति का है। मोगरा का फूल भी सुगन्धित जैस्मिन प्रजाति का है।

Chameli Flower Info In Hindi (चमेली की जानकारी)

8. रात की रानी का फूल भी जैस्मिन का एक प्रकार है। रात की रानी फूल रात को ही खिलता है और खुशबू देता है।

9. चमेली (Jasmine) के फूलों और पत्तियों को सुखाकर चाय भी बनाई जाती है जिसके कई आर्युवेदिक फायदे है।

10. चमेली फूल पौधे पर ना लगकर बेल पर लगता है। इस बेल की पत्तियां हरे रंग की होती है। बेल झाड़ी पर लगती है। चमेली की बेल किसी दूसरे पौधे पर भी चढ़ जाती है। इस पौधे को बढ़ने के लिए सहारा चाहिए।

11. चमेली के पौधे का हर एक भाग उपयोगी है। इसके फूल, जड़, पत्तियां सभी आर्युवेद में इस्तेमाल की जाती है।

12. चमेली एक सुगन्धित पुष्प है। इसलिए इसके रस से कई उत्पाद बंनाये जाते है। चमेली के फूल से इत्र बनाया जाता है। इसका बनाया इत्र पूरी दुनिया मे फेमस है। इसका तेल भी निकाला जाता है जो बालों को सुंदर और मजबूत करता है।

13. चमेली के फूल का अर्क कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में उपयोग किया जाता है। सौंदर्य उत्पादों में चमेली फूल का रस इस्तेमाल करते है।

14. चमेली के फूलों को भगवान के चरणों में भी अर्पित किया जाता है। चमेली के फूलों से माला भी बनाते है। सजावट में भी इन फूलों का प्रयोग किया जाता है। शादी समारोह में भी जैस्मिन फूलों का उपयोग है।

चमेली फूल के बारे में (Jasmine Flower In Hindi)

15. चमेली के फूलों (Jasmine Flower) की खेती करके लाखों रुपये कमाए जा सकते है। साउथ इंडिया में इन फूलों की व्यापक खेती की जाती है।

16. भारत सहित कुछ एशियाई देशों में महिलाएं चमेली या मोगरा का फूल अपने बालों में गजरा बनाकर लगाती है। जैस्मिन फूल सुंदरता का प्रतीक है।

17. जैस्मिन या चमेली का फूल 15 से 20 वर्ष तक रहता है, इसके बाद यह फूल देना बंद कर देता है।

18. जैस्मिन फूल हवाई द्वीप, फिलीपींस, पाकिस्तान और इंडोनेशिया का राष्ट्रीय पुष्प भी है।

Jasmine Flower Information In Hindi के इस पोस्ट में चमेली का फूल (Chameli Flower In Hindi) की जानकारी आपको कैसी लगी। यह पोस्ट “Jasmine Flower In Hindi” अच्छी लगी हो तो इसे शेयर भी करे।

Frequently Asked Questions About Jasmine Flower:-

Q.1 चमेली का फूल कैसा होता है?

Ans. यह बेल प्रजाति का फूल है जो झाडी पर लगता है। 5 की संख्या में पंखुड़ियां होती है जो चमेली फूल की पहचान है। यह एक खुशबूदार फूल है।

Q.2 चमेली फूल का रंग कैसा होता है?

Ans. सफ़ेद रंग

Q.3 चमेली के फूल का वैज्ञानिक नाम क्या है?

Ans. Jasminum

Q.4 जैस्मीन (Jasmine) फूल को हिंदी में क्या कहते है?

Ans. चमेली

यह भी पढ़े –

About the Author: Knowledge Dabba

नॉलेज डब्बा ब्लॉग टीम आपको विज्ञान, जीव जंतु, इतिहास, तकनीक, जीवनी, निबंध इत्यादि विषयों पर हिंदी में उपयोगी जानकारी देती है। हमारा पूरा प्रयास है की आपको उपरोक्त विषयों के बारे में विस्तारपूर्वक सही ज्ञान मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *