कंप्यूटर मेमोरी क्या है | What Is Computer Memory In Hindi

इस लेख What Is Computer Memory In Hindi कंप्यूटर मेमोरी क्या है? मेमोरी की इकाई और प्रकार के बारे में जानकारी है। Computer Memory में डाटा या इन्फॉर्मेशन का Storage रहता है। कंप्यूटर में Memory बहुत महत्वपूर्ण होती है क्यूंकि इसमें ऑपरेटिंग सिस्टम Install रहता है। Computer Memory में रैम, रोम, हार्डडिस्क प्रमुख होती है। मेमोरी केवल कंप्यूटर तक ही सीमित नही है, आपके स्मार्टफोन में भी Memory की आवश्यकता रहती है।

डाटा या सूचना को एकत्र करके स्टोर करना बेहद ही महत्वपूर्ण है, इसलिए “Memory” आवश्यक है। आपके मोबाइल में इंटरनल Internal Memory या SD Card होता है जिसमे डाटा स्टोर किया जाता है। मेमोरी का भंडारण हार्डवेयर डिवाइस मे किया जाता है।

डाटा को प्रोसेस करने के बाद Memory में स्टोर किया जाता है। इस पोस्ट में आगे Computer Memory क्या है? मेमोरी के प्रकार और मेमोरी के कार्य के बारे में चर्चा करेंगे।

What Is Computer Memory In Hindi

कंप्यूटर मेमोरी क्या है – What Is Computer Memory In Hindi

मेमोरी एक तरह की स्मृति होती है जिसमें Computer डाटा या इनफार्मेशन का अस्थायी या स्थायी रूप से Storage किया जाता है। कंप्यूटर मेमोरी में डाटा का स्टोरेज “बिट” में होता है। डाटा कंप्यूटर में बाइनरी नंबर में स्टोर किया जाता है। बाइनरी नम्बर 0 और 1 होते है। इन बाइनरी नम्बर को बिट भी कहते है। 0, 1 को कंप्यूटर में ऑन और ऑफ भी कहते है।

Computer Memory की क्षमता अलग अलग होती है। यह क्षमता 80 GB, 160 GB, 260 GB, 500 GB, 1000 GB इत्यादि Size में होती है। मेमोरी की सबसे छोटी इकाई “बिट” है।

मेमोरी की इकाई (Memory Unit Information)

1.  4 बिट         –         1 निबल
2.  8 बिट         –         1 बाइट
3.  1024 बाइट –  1 किलोबाइट (KB)
4.  1024 KB   –   1 मेगाबाइट (MB)
5.  1024 MB  –   1 गीगाबाइट (GB)
6.  1024 GB  –    1 टेराबाइट (TB)
7.  1024 TB  –    1 पेटाबाइट (PT)

कंप्यूटर में मौजूद स्टोरेज डिवाइस में डाटा का भंडारण डिवाइस में स्थित Cells में होता है। प्रत्येक मेमोरी सेल की एक यूनिक लोकेशन रहती है। तो दोस्तों, अब आप जान गए की Computer Memory क्या है? और मेमोरी की इकाई क्या होती है? आगे कंप्यूटर मेमोरी के प्रकार दिए गए है।

कंप्यूटर मेमोरी के प्रकार Computer Memory Types In Hindi

Computer Memory मुख्यतः दो प्रकार की होती है।

A. प्राथमिक मेमोरी (Primary Memory)

B. सेकंडरी मेमोरी (Secondary Memory)

A. प्राथमिक मेमोरी (Primary Memory)

इसको Computer की मुख्य Memory भी कहते है। रैम और रोम इस प्रकार की मेमोरी में आती है। कंप्यूटर में मल्टीटास्किंग जैसी प्रक्रिया Primary Memory से ही होती है। यह मेमोरी डाटा या इन्फॉर्मेशन को अस्थायी रूप से सुरक्षित रखती है। इस मेमोरी में मौजूद डाटा कंप्यूटर Power Off होने की स्थिति में मिट जाता है।

प्राइमरी मेमोरी दो प्रकार की होती है –

  • रैम (RAM)
  • रोम (ROM)

1. रैम (RAM)

रैम एक प्राथमिक मेमोरी है जो अस्थिर होती है। RAM का पूरा नाम “Random Access Memory” है। RAM एक अस्थायी मेमोरी है जो डाटा का अस्थायी रूप से स्टोरेज करती है। इसको वोलेटाइल मेमोरी भी कहते है। डाटा इनपुट होने के पश्चात रैम में स्टोर रहता है। रैम 1 GB, 2 GB, 4 GB इत्यादि क्षमता में आती है। मदरबोर्ड पर RAM इनस्टॉल करने का स्लॉट होता है। रैम की क्षमता को कभी भी बढ़ा या घटा सकते है।

रैम भी दो प्रकार की होती है – स्थैतिक रैम और डायनामिक रैम।

2. रोम (ROM)

ROM का पूरा नाम “Read Only Memory” है। यह एक नॉन वोलेटाइल मेमोरी है। इसमें कंप्यूटर के स्थायी प्रोग्राम इनस्टॉल होते है। इस प्रकार की Memory की इन्फॉर्मेशन को नष्ट नही किया जा सकता है। ROM को केवल पढ़ा जा सकता है।

ROM Memory तीन प्रकार की होती है –

PROM, EPROM और EEPROM। PROM से डेटा को नही मिटाया जा सकता है। EPROM से डाटा पराबैंगनी किरणों के द्वारा मिटाया जा सकता है। EEPROM में डाटा को विद्युत की मदद से मिटा सकते है।

B. सेकंडरी मेमोरी (Secondary Memory)

यह एक स्थायी Memory है। इसमें हार्डडिस्क, पैन ड्राइव, मेमोरी कार्ड, ऑप्टिकल डिस्क आती है। वीडियो, ऑडियो, टेक्स्ट जैसी फाइल्स का Secondary Memory स्थायी भंडारण करती है। इस मेमोरी में डाटा तब तक रहता है जब तक उसे आप डिलीट नही कर देते है।

इन दोनों प्रकार की मेमोरी के अलावा भी एक केश मेमोरी होती है। इसका कार्य CPU की स्पीड को बढ़ाना है। यह Memory प्राथमिक मेमोरी से भी तेज होती है।

मेमोरी की विशेषताएं (Computer Memory Functions In Hindi)

1. Computer Memory का मुख्य कार्य डाटा या सूचना को स्टोर करना होता है।

2. मेमोरी कंप्यूटर के डाटा को स्थायी या अस्थायी रूप से स्टोर करती है।

3. कंप्यूटर में मौजूद Memory हार्डडिस्क में ऑपरेटिंग सिस्टम को इनस्टॉल किया जाता है। बिना हार्डडिस्क के विंडो Computer में Install करना नामुमकिन है।

4. कंप्यूटर में मौजूद वेब ब्राउज़र, एंटीवायरस, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस जैसी कई एप्लिकेशन को Computer Memory में ही स्टोर करते है।

5. वीडियो, ऑडियो, गेम्स जैसे मनोरंजन की फाइल्स को स्थायी रूप से Computer Memory में संग्रहित कर सकते है। जरूरत पड़ने पर इन फाइल्स को पैन ड्राइव या ऑप्टिकल डिस्क की मदद से कही पर भी लाया जा सकता है।

6. Computer में विभिन्न प्रकार के प्रोग्राम्स को एक साथ रन करने के लिए RAM आवश्यक होती है। मल्टीटास्किंग की क्रिया बिना रैम के सम्भव नही है।

कंप्यूटर मेमोरी क्या है? (What Is Computer Memory In Hindi) और मेमोरी के कार्य और कंप्यूटर मेमोरी के प्रकार (Computer Memory Types In Hindi) पर इस पोस्ट में जानकारी अहम है। Computer Memory क्या है? और इसके बारे में जानकारी “Computer Memory Information” इस पोस्ट में आपको समझ आ गयी होगी। इस लेख को शेयर भी करे।

यह भी पढ़े –

About the Author: Knowledge Dabba

नॉलेज डब्बा ब्लॉग टीम आपको विज्ञान, जीव जंतु, इतिहास, तकनीक, जीवनी, निबंध इत्यादि विषयों पर हिंदी में उपयोगी जानकारी देती है। हमारा पूरा प्रयास है की आपको उपरोक्त विषयों के बारे में विस्तारपूर्वक सही ज्ञान मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *