Chanakya In Hindi चाणक्य की जीवनी, इतिहास और कहानी

इस लेख Biography Of Chanakya In Hindi में महान राजनीतिज्ञ और अर्थशास्त्र के जनक चाणक्य की जीवनी और चाणक्य की नीतियों (Chanakya History) का वर्णन किया गया है। चाणक्य की नीतियां आज के समय में भी उतनी ही प्रासंगिक है जितनी उनके समय में थी।

चाणक्य को कुशाग्र बुद्धि के लिए जाना जाता है। उनके लिखे ग्रन्थो में “अर्थशास्त्र” मुख्यतः है। कुटिल वंश का होने की वजह से उनको “कौटिल्य” भी कहा जाता है। भारत के महान राजा चन्द्रगुप्त मौर्य के गुरु के रूप में भी चाणक्य प्रसिद्ध है।

Biography Of Chanakya In Hindi

चाणक्य की जीवनी – Biography Of Chanakya In Hindi

चाणक्य (Chanakya) का जन्म 375 ईसा पूर्व का माना जाता है। चाणक्य के जन्म स्थान को लेकर इतिहासकारो में काफी मतभेद है। कुछ इतिहासकार चाणक्य का जन्म दक्षिण भारत का मानते है। कुछ पंजाब का और कुछ केरल राज्य का मानते है। उत्तर भारत के तक्षशिला में जन्म मानने वाले भी कुछ इतिहासकार है।

राजा निडर और बलवान होना चाहिए – चाणक्य

चाणक्य का जिक्र विष्णुपुराण, बौद्ध ग्रन्थ, जैन ग्रन्थो में मिलता है। चाणक्य के पिता का नाम चणक था जो एक गरीब ब्राह्मण थे। पिता के नाम पर उनको चाणक्य कहा गया। चाणक्य का असली नाम “विष्णुगुप्त” माना जाता है।

महान चाणक्य की शिक्षा उस समय के शिक्षा के केंद्र तक्षशिला में हुई थी। गहन अध्ययन के पश्यात उन्होंने कूटनीति और राजनीति की शिक्षा ग्रहण की। महान चाणक्य ने अर्थशास्त्र में भी ज्ञान अर्जित किया था। तक्षशिला उनका निवास स्थान था जहां वो शिक्षक का कार्य करते थे।

मौर्य साम्राज्य की स्थापना में चाणक्य का योगदान Chanakya Story In Hindi

मौर्य साम्राज्य की स्थापना में चाणक्य (Chanakya) का अहम योगदान था। भारत के पाटलिपुत्र में उस समय क्रूर साम्राज्य नन्दवंश का शासन था। चाणक्य ने नन्दवंश के राजा महानंदी को हराकर मौर्य साम्राज्य की नींव रखी थी। उन्ही के मार्गदर्शन में चन्द्रगुप्त मौर्य ने सम्पूर्ण भारत पर विजय प्राप्त की थी।

चाणक्य ने चन्द्रगुप्त को मगध का राजा क्यों बनाया? इसके पीछे एक कहानी है। एक बार की बात है, राजा महानंद के यहां यज्ञ था जिसमें चाणक्य भी सम्मिलित थे। चाणक्य रंग में काले थे जिससे राजा नंद ने चाणक्य को देखकर उन्हें बेइज्जत करके बाहर निकाल दिया। तब चाणक्य ने राजा महानन्द को शासन से हटाने की प्रतिज्ञा ली थी।

चाणक्य इसके बाद चन्द्रगुप्त के गुरु के पद पर रहे और उन्हें शिक्षा दी। चन्द्रगुप्त के साथ मिलकर चाणक्य ने राजा महानन्द को हरा दिया। चाणक्य (Chanakya) ने चन्द्रगुप्त के साथ मिलकर विश्व विजेता सिकंदर को भी भारत आने से रोका था।

चाणक्य की नीतियां अर्थशास्त्र (Chanakya Ki Niti Kya Hai)

चाणक्य ने “अर्थशास्त्र” नामक पुस्तक लिखी थी जिसमे उन्होंने अर्थशास्त्र की राजतंत्र में भूमिका को बताया था। चाणक्य ने भारतीय समाज को चार वर्गों में बांटा था। चाणक्य उच्च कोटि के विद्वान थे जिनकी नीतियों को आज भी कई यूनिवर्सिटी में पढ़ाया जाता है। चाणक्य के द्वारा बनाई गई नीतियों को “चाणक्य नीति” कहा जाता है।

राजा और प्रजा के बीच पिता और पुत्र जैसा सबन्ध होना चाहिए – चाणक्य

महान चाणक्य ने राज्य को 7 भागो में बांटा था और उन्हें शरीर के अंगों की संज्ञा दी थी। राजा, मंत्री, जनपद, दुर्ग, राजकोष, सेना और मित्र । चाणक्य ने अर्थशास्त्र में गुप्तचर नीति को भी परिभाषित किया है। चाणक्य का मानना था कि प्रजा के हित मे ही राजा का हित है। उनका राजतंत्र में गहन विश्वास था। शत्रु को पराजित करने की उनकी नीति साम, दाम, दंड और भेद आज भी प्रचलित है।

चाणक्य का इतिहास – Chanakya History In Hindi

चाणक्य (Chanakya) मौर्य साम्राज्य के बड़े विद्वान और मंत्री थे लेकिन उनका जीवन यापन बहुत सरल था। वो एक कुटिया में जीवन निर्वाह करते थे। चाणक्य स्वभाव से क्रोधी और हठी थे। उनकी मजबूत जिद्द के कारण ही मौर्य साम्राज्य का उदय हुआ।

भारत देश उस समय छोटे राज्यों में बंटा हुआ था। चाणक्य ने चन्द्रगुप्त की सहायता से सम्पूर्ण भारत को एक करके अखंड भारत का निर्माण किया था। चाणक्य एक महान राजनीतिज्ञ थे जिन्होंने अपनी नीतियों से चन्द्रगुप्त को भारत जिताया था। चाणक्य की मृत्यु 283 ईसा पूर्व हुई थी।

FAQ:-

Q.1 चाणक्य का असली नाम क्या था?

Ans. विष्णुगुप्त

Q.2 कौटिल्य कौन था?

Ans. चाणक्य

Q.3 चाणक्य का शिष्य कौन था?

Ans. चन्द्रगुप्त मौर्य

Q.4 अर्थशास्त्र ग्रंथ के लेखक कौन थे?

Ans. चाणक्य

Q.5 चाणक्य का जन्म कहां हुआ था?

Ans. विद्वानों में चाणक्य के जन्म स्थान पर मतभेद है। वैसे कुछ तक्षशिला तो कुछ दक्षिण भारत के केरल पर सहमत है।

नोट – चाणक्य पर यह पोस्ट Biography Of Chanakya In Hindi आपको कैसी लगी? चाणक्य की जीवनी, चाणक्य की कहानी (Chanakya Story) और चाणक्य का इतिहास (Chanakya History In Hindi) की जानकारी पर आपके विचारो का कमेंट बॉक्स में स्वागत है। यह पोस्ट “Chanakya Ki Jivani In Hindi” अच्छी लगी हो तो इसे शेयर भी करे।

यह भी पढ़िए –

About the Author: Knowledge Dabba

नॉलेज डब्बा ब्लॉग टीम आपको विज्ञान, जीव जंतु, इतिहास, तकनीक, जीवनी, निबंध इत्यादि विषयों पर हिंदी में उपयोगी जानकारी देती है। हमारा पूरा प्रयास है की आपको उपरोक्त विषयों के बारे में विस्तारपूर्वक सही ज्ञान मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *