कंप्यूटर के प्रकार पर जानकारी Types Of Computer In Hindi

कंप्यूटर के प्रकार Types Of Computer In Hindi

यह आर्टिकल कंप्यूटर के प्रकार Types Of Computer In Hindi पर है। आज के समय में काफी तरह के कंप्यूटर चलन में है। कंप्यूटर एक कमरे जितना बड़ा भी होता है और आपके हाथ में मोबाइल भी एक Computer ही है। कंप्यूटर गति और क्षमता के आधार पर विभाजित किये गए है। कार्यप्रणाली के आधार पर भी Computer को बांटा गया है।

कंप्यूटर के आकार, क्षमता, गति और कार्यप्रणाली में समय समय पर बदलाव आया है। तो आइए कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं Computer Ke Prakar In Hindi जानने का प्रयास करते है।

Types Of Computer In Hindi

कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं Computer Types In Hindi –

कार्यप्रणाली या कंप्यूटर के कार्य करने के आधार पर कंप्यूटर मुख्यतः तीन प्रकार के होते है।

1. एनालॉग कंप्यूटर (Analogue Computer) – इस प्रकार का Computer मापन के सिद्धांतों पर कार्य करता है। ताप, धारा, वोल्टेज, दाब, गति इत्यादि को मापने के लिये Analogue Computer का उपयोग किया जाता है। जैसे तापमान को मापने के लिए थर्मामीटर काम में आता है। यह एक प्रकार से केवल मापन ही करता है। एनालॉग कंप्यूटर तुलना करके अभियांत्रिकी में मापन करते है। अभियांत्रिकी में एनालॉग कंप्यूटर मापन का कार्य करते है।

2. डिजिटल कंप्यूटर (Digital Computer) – इस प्रकार का Computer आजकल व्यापक प्रयोग में आते है। जोड़, बाकी, गुणा, भाग जैसी गणनाएं Digital Computer करता है। यह अंको की गणना करता है। डिजिटल कंप्यूटर 0,1 बाइनरी नम्बर्स पर कार्य करते है। ऑफिस सबन्धी कार्य हो, मनोरंजन हो या व्यापार हो डिजिटल कंप्यूटर उपयोग में आता है।

3. हाइब्रिड कंप्यूटर (Hybrid Computer) – यह कंप्यूटर एनालॉग और डिजिटल का कॉम्बिनेशन होता है। Hybrid Computer पहले किसी का मापन करता है और उसके बाद उसे डिजिटल फॉर्म में परिवर्तित कर देता है। एनालॉग डाटा को डिजिटल डाटा में चेंज करता है।

Types Of Computer In Hindi Based On Size and Capacity –

आकार, क्षमता और गति के आधार पर Computer 4 प्रकार के होते है। (Types Of Computer In Hindi)

1. सुपर कंप्यूटर (Super Computer) – सुपर कंप्यूटर सबसे शक्तिशाली कंप्यूटर है। इस कंप्यूटर में असीमित मैमोरी होती है। इन कंप्यूटर में एक से ज्यादा CPU होते है जिससे इनकी प्रोसेसिंग स्पीड बहुत ज्यादा होती है। कॉम्प्लेक्स कैलकुलेशन करने में भी Super Computer का इस्तेमाल किया जाता है। सुपर कंप्यूटर की गति “Flops” (Floating Point Operations Per Second) में मापी जाती है।

यह आकार में एक बड़े कमरे जितना होता है। इस Computer पर एक से ज्यादा ऑपरेटर एक साथ कार्य करते है। Super Computer पर एक बड़ी टीम कार्य करती है। इन कंप्यूटर का Maintenance और Production महंगा होता है। सुपर कंप्यूटर को वातानुकूलित कमरे में रखा जाता है जिससे हीट को कम किया जा सके। Super Computer का उपयोग अंतरिक्ष विज्ञान में किया जाता है। रॉकेट लॉन्चिंग, मौसम पूर्वानुमान में सुपर कंप्यूटर उपयोग में लिया जाता है। दुनिया का पहला सुपर कंप्यूटर “CDC 6600” था। भारत का पहला सुपर कंप्यूटर का नाम “परम” है।

2. मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computer) – इस प्रकार के कंप्यूटर सुपर कंप्यूटर से कम शक्तिशाली होते है। इनकी भी क्षमता और गति ज्यादा होती है और आकार में भी बड़े होते है। Mainframe Computer भी तेज गति से कार्य करते है। लाखों गीगाबाइट का डाटा इसमें स्टोर किया जा सकता है। मेनफ्रेम पर एक साथ कई ऑपरेटर कार्य कर सकते है क्योंकि यह मल्टी यूजर होता है।

इनका उपयोग बैंकिंग क्षेत्र में अत्यधिक किया जाता है। फेसबुक, रिलायंस जैसी बड़ी बिज़नेस कंपनियां अपने डाटा के मैनेजमेंट के लिए Mainframe Computer का उपयोग करती है।

Computer Ke Prakar In Hindi कंप्यूटर के प्रकार –

3. मिनी कंप्यूटर (Mini Computer) – इस प्रकार के कंप्यूटर गति और आकार के आधार पर तीसरे नम्बर पर आते है। Mini Computer मेनफ्रेम से कम शक्तिशाली होते है। इन कंप्यूटर्स में एक या एक से ज्यादा CPU होते है। Computer संचालन में एक या एक से ज्यादा ऑपरेटर कार्य कर सकते है। इस प्रकार के कंप्यूटर छोटे उद्योगों में उपयोग किये जाते है।

4. माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computer) – माइक्रो कंप्यूटर को आमतौर पर “Desktop” भी कहते है। ये सबसे कम शक्तिशाली होते है। इनमें सिंगल CPU होता है। Micro Computer सीमित क्षमता के कंप्यूटर है। इनमें मैमोरी भी सीमित होती है। इन कंप्यूटर्स पर एक बार में केवल एक ऑपरेटर कार्य करता है।

Micro Computer में लगे हुए प्रोसेसर को “माइक्रो प्रोसेसर” भी कहते है। माइक्रो कंप्यूटर आकार में बहुत छोटे होते है। लैपटॉप भी इसी प्रकार के कंप्यूटर में आते है। Micro Computer व्यक्तिगत रूप में उपयोग किये जाते है, इसलिए इनको “Personal Computer” भी कहते है। माइक्रो कंप्यूटर का उपयोग ऑफिस के कार्यो, मनोरंजन, इंटरनेट, एजुकेशन में किया जाता है। ये अन्य कंप्यूटर्स से अपेक्षाकृत अधिक सस्ते होते है।

कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं Computer Ke Prakar In Hindi –

Micro Computer भी तीन प्रकार के होते है (Types Of Computer In Hindi) – डेस्कटॉप (Desktop), मोबाइल (Mobile) और लैपटॉप (Laptop)

  • Desktop Computer आजकल बहुत प्रचलन में है। यह एक पर्सनल कंप्यूटर है जो व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। ये कंप्यूटर एक डेस्क तक सीमित होते है जिनमें मॉनिटर, कीबोर्ड, माउस और CPU होते है।
  • Mobile भी एक तरह का कंप्यूटर ही है। यह स्मार्टफोन कहलाता है। इस कंप्यूटर में ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्राइड होता है। ये सबसे छोटे कंप्यूटर होते है।
  • Laptop एक पोर्टेबल कंप्यूटर है। इसको कही पर भी ले जाकर इस्तेमाल कर सकते है।

उद्देश्य के आधार पर Computer दो प्रकार के होते है। पहले प्रकार के General Purpose Computer होते है जो सामान्य कार्यो में उपयोग होते है। दूसरे प्रकार के Special Purpose Computer होते है जो विशेष कार्य में इस्तेमाल किये जाते है।

Note – कंप्यूटर के प्रकार Types Of Computer In Hindi पर यह आर्टिकल कैसा लगा। यह पोस्ट कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं “Computer Ke Prakar In Hindi” पसंद आयी हो तो इसे शेयर भी करे।

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *