प्लूटो बौना ग्रह (Pluto Planet In Hindi) Information Facts

Pluto Planet In Hindi

प्लूटो एक बौना ग्रह है। पहले यह सौरमण्डल का 9 वां ग्रह था लेकिन बाद कि खोजो ने प्लूटो को ग्रह की श्रेणी से बाहर कर दिया। यह सौरमण्डल का ठंडा जीवनरहित ग्रह है। Information About Pluto Planet In Hindi पोस्ट में प्लूटो बौना ग्रह के बारे में जानकारी जानने का प्रयास है।

प्लूटो बौना ग्रह की जानकारी Information About Pluto Planet In Hindi

1. प्लूटो पृथ्वी के चन्द्रमा से भी छोटा बौना ग्रह है। यह सौरमण्डल के बाहरी छोर पर स्थित है। इस ग्रह की त्रिज्या 1186 किलोमीटर है।

2. प्लूटो बौना ग्रह (Pluto Planet) की सूर्य से दूरी 587 करोड़ 40 लाख किलोमीटर है। इस ग्रह पर सूर्य की रोशनी पहुंचने में 6 घण्टे लग जाते है। यह सौरमंडल का आखिरी ग्रह माना जाता था लेकिन नई खोजो ने उसे बौने ग्रह की श्रेणी में ला दिया है।

3. सूर्य की परिक्रमा के दौरान प्लूटो की कक्षा वरुण ग्रह की कक्षा से टकराती है। यह ग्रह आकार में भी बहुत छोटा है। इसलिए प्लूटो को ग्रह की श्रेणी से अलग कर दिया गया है। वैसे प्लूटो की कक्षा एक निश्चित कोण पर होती है जिससे वरुण ग्रह और प्लूटो बौना ग्रह आपस मे कभी नही टकराते है।

4. प्लूटो को सूर्य के चारों तरफ एक चक्कर पूरा करने में 248 वर्ष लगते है। इसकी परिक्रमा के दौरान यह कभी सूर्य से वरुण ग्रह से भी ज्यादा निकट होता है तो कभी उससे भी दूर होता है। इसका कारण प्लूटो का पथ अंडाकार होना है। यह करीब 20 सालों तक सौरमंडल का आठवां और वरुण 9 वां ग्रह होता है।

5. प्लूटो सौरमण्डल का दूसरा सबसे बड़ा बौना ग्रह है। सूर्य से बहुत ज्यादा दूर होने की वजह से इस ग्रह पर अंधेरा रहता है। इस ग्रह का रंग सफेद, काला, नारंगी है।

6. प्लूटो ग्रह (Pluto Planet) पर पानी की मौजूदगी भी है। पानी बर्फ के रूप में इस बौने ग्रह पर है। प्लूटो ग्रह पर चट्टाने भी मौजूद है। प्लूटो बौना ग्रह पर बर्फ के बड़े पर्वत भी मौजूद है। इस ग्रह पर नाइट्रोजन, मीथेन और कार्बन डाइऑक्साइड मौजूद है। प्लूटो का गुरुत्वाकर्षण पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण का 7 फीसदी ही है।

यह भी पढ़े – 

बौना ग्रह प्लूटो के तथ्य

7. प्लूटो ग्रह (Pluto Planet) पर 1 दिन पृथ्वी के 6 दिनों के बराबर होता है। प्लूटो ग्रह की सतह का तापमान -225 डिग्री सैल्सियस है।

8. प्लूटो बौना ग्रह जब सूर्य से दूर होता है, तब वायुमंडल की गैसे इसके धरातल पर बर्फ के रूप में जम जाती है। सूर्य से नजदीक होने पर बर्फ पिघल जाती है और गैसे वायुमंडल में वापस चली जाती है। सूर्य से नजदीक होने पर ही इस ग्रह पर वायुमंडल होता है।

9. प्लूटो के 5 प्राकृतिक उपग्रह भी है। शेरान,हायड्रा, निक्स, कर्बेरोस, स्टिक्स ये 5 उपग्रह इस बौने ग्रह की परिक्रमा करते है। इनमे से शेरान प्लूटो का सबसे बड़ा उपग्रह है।

10. वरुण ग्रह के बाद एक “काइपर” नामक घेरा है जिसमें प्लूटो की तरह ही कई बौने ग्रह है। प्लूटो के अलावा भी एरिस, हउमेया, सिरिस कुछ बौने ग्रह है जो सौरमण्डल में खोजे गये है।

11. प्लूटो बौना ग्रह की खोज वैज्ञानिक “क्लाइड डब्यू टॉमबॉग” ने की थी। यह 1930 का वर्ष था जब इसको खोजा गया था। वर्ष 2006 तक इसे ग्रह ही माना गया लेकिन इसी वर्ष इसे ग्रह की श्रेणी से हटाकर बौने ग्रह का दर्जा दे दिया गया।

12. प्लूटो का नाम अंधेरे के रोम देवता “प्लूटो” पर रखा गया है। इसका नाम वेनेशिया बर्ने नामक एक लड़की ने रखा था।

बौने ग्रह प्लूटो पर मिशन Mission Of Pluto Planet In Hindi

इंसान ने प्लूटो बौना ग्रह (Pluto Planet) पर एक अंतरिक्ष मिशन भी किया है। न्यू होरीजॉन्स नामक अंतरिक्ष यान वर्ष 2015 में प्लूटो बौना ग्रह के पास से गुजरा था। इस ग्रह की कई तस्वीरें न्यू होरीजॉन्स यान ने ली थी।

सौरमंडल के ग्रहों की पोस्ट्स –

Note – प्लूटो बौना ग्रह Pluto Planet In Hindi की जानकारी कैसी लगी। प्लूटो की जानकारी Pluto Grah Ki Jankari पर आपके विचार कमेंट में जरूर बताना। यह पोस्ट Pluto Planet Information In Hindi अच्छी लगी हो तो इसे शेयर भी करे।

About the Author: Knowledge Dabba

नॉलेज डब्बा ब्लॉग टीम आपको विज्ञान, जीव जंतु, इतिहास, तकनीक, जीवनी, निबंध इत्यादि विषयों पर हिंदी में उपयोगी जानकारी देती है। हमारा पूरा प्रयास है की आपको उपरोक्त विषयों के बारे में विस्तारपूर्वक सही ज्ञान मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *