हवामहल की कहानी, जानकारी व इतिहास Hawa Mahal History In Hindi

हवामहल की जानकारी और इतिहास Hawa Mahal History In Hindi

Hawa Mahal History In Hindi

ऐतिहासिक घरोहर हवामहल का इतिहास Hawa Mahal History In Hindi बड़ा ही रोचक है। राजस्थान के जयपुर शहर के सिटी प्लेस में मौजूद यह इमारत किसी अजूबे से कम नही है। यह खूबसूरत इमारत राजाओ की शानो शौकत को बयां करती है। हवा महल लाल गुलाबी बलुआ पत्थर से निर्मित है। तो आइए हवामहल के बारे में Hawa Mahal Information In Hindi रोचक बातें जानते है।

हवामहल की रोचक जानकारी Hawa Mahal Information In Hindi

1. हवामहल (Hawa Mahal) का निर्माण आमेर के महाराजा “सवाई प्रताप सिंह” ने करवाया था। हवामहल के निर्माण का मकसद महिलाओं के लिए था। महिलाएं महल के झरोखों से उत्सवों का आनन्द ले पाती थी।

2. गर्मियों में राजपूत महिलाएं इसी महल में आती थी। यह महल विशेषत राजसी स्त्रीयों के लिए बनाया गया था। यहां कठपुतली और शतरंज के खेल हुआ करते थे।

3. हवा महल में कितनी खिड़किया है – हवामहल इमारत 5 मंजिल की बनी हुई है। हवामहल में कुल 953 खिड़कियां है जो हवा के झरोखे की तरह है। इसी कारण से इसे हवामहल कहा जाता है।

4. हवामहल की खिड़कियों पर गुम्बदनुमा बनावट हो रखी है। महल की खिड़कियों से ठंडी हवा आती रहती है।

5. हवामहल Hawa Mahal की पांचों मंजिलो पर मंदिर का निर्माण हो रखा है। पाँचवी मंजिल पर स्थित हवा मंदिर के नाम पर ही इस इमारत का नाम पड़ा है। अन्य मंजिलो पर विचित्र मंदिर, प्रकाश मंदिर, रतन मंदिर और पहली मंजिल पर शरद मंदिर बना हुआ है।

6. हवामहल की पहली दो मंजिलो पर आंगन बना हुआ है। आंगन में पानी के फव्वारे भी लगे हुए है जो इसके राजसी वैभव को बढ़ाते है।

7. हवामहल का निर्माण 1799 ईस्वी में आर्किटेक्ट “लाल चंद उस्ताद” ने किया था। महल पूरा “लाल गुलाबी बलुआ पत्थर” और चुने से निर्मित है। यह महल भगवान श्रीकृष्ण के मुकुट के अनुरूप बना हुआ है।

8. हवामहल मुग़ल और राजपुताना शैली का मिश्रण है। बाहर से यह एक मधुमक्खी छाते के समान दिखाई प्रतीत होता है।

हवामहल की कहानी Hawa Mahal Story In Hindi –

9. हवामहल Hawa Mahal एक पांच मंजिला इमारत है जो पिरामिड की शेप में बनी हुई है। इस महल की ऊंचाई 15 मीटर है। इस महल की ऊपरी मंजिल की चौड़ाई केवल 1.5 फ़ीट है।

10. इस हवादार महल की कोई नींव नही है। यह बिना नींव का दुनिया मे सबसे बड़ा महल है।

11. हवामहल बेहतरीन कारीगरी का नमूना है। हवामहल की दीवारों पर फूल पत्तियों की नक्काशी बनी हुई है। खम्बों और झरोखों पर मुग़ल और राजपूत शैली की झलक मिल जाती है।

12. इसमें प्रवेश लेने के लिए दरवाजा आगे की तरफ ना होकर पीछे की तरफ है। अंदर जाने के लिए सिटी पैलेस से होकर जाना पड़ता है।

13. हवामहल Hawa Mahal में ऊपरी मंजिलो पर जाने के लिए कोई भी सीढ़ी नही है। चढ़ाई के लिए ढलान नुमा रैम्प बना हुआ है।

हवामहल (Hawa Mahal In Hindi) जयपुर शहर में बड़ी चौपड़ पर स्थित सिटी पैलेस का ही एक हिस्सा है। कभी जयपुर आना हो तो हवामहल देखना मत भूलना।

यह भी पढ़े –

Note – हवा महल का इतिहास Hawa Mahal History In Hindi, हवा महल की कहानी और हवामहल की जानकारी Hawa Mahal Information In Hindi पर यह आर्टिकल कैसा लगा। यह पोस्ट Hawa Mahal In Hindi पसंद आयी हो तो इसे शेयर भी करे। “हवा महल में कितनी खिड़किया है” इस सवाल का जवाब भी आपको मालूम जो गया होगा।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *