अंजीर क्या है? फायदे की जानकारी | Fig Fruit In Hindi

इस लेख Fig Fruit In Hindi में अंजीर फल के बारे में जानकारी है और साथ में ही अंजीर खाने के फायदे (Fig Fruit Benefits) और नुकसान भी दिए गए है। अंजीर का फल स्वादिष्ट और स्वास्थवर्धक होता है। यह फल कई प्रकार की बीमारियों में शरीर को फायदा देता है। अंजीर में कई रोगों का उचित इलाज है। अंजीर के फल का स्वाद मीठा होता है। आगे लेख में अंजीर फल की विस्तृत जानकारी (Fig Information) दी गयी है।

Fig Fruit In Hindi

अंजीर का फल क्या है? जानकारी Fig Fruit In Hindi

अंजीर (Fig Fruit) की खेती सर्वप्रथम तुर्की में की गई थी। बाद के वर्षो में यह फल भारत आया। इसके बाद दुनिया में कई जगह अंजीर फल की खेती की जाने लगी। दुनिया में सबसे ज्यादा अंजीर की पैदावार अफगानिस्तान में होती है।

अंजीर का पौधा ना होकर पेड़ है जिसकी छाल सफेद चिकनी होती है। इस पेड़ की ऊंचाई 5 मीटर तक पहुँच जाती है। अंजीर के फल का रंग हल्का पीला या बैंगनी हो सकता है। इसके अंदर का गुदा सफेद रंग का होता है।

यह फल पूरे साल नही लगता है। इसलिए सूखे मेवे के रूप में इसका इस्तेमाल ज्यादातर किया जाता है। अंजीर के बीजों से तेल भी निकाला जाता है। कच्चे अंजीर फलों की सब्जी भी बनाई जाती है। अंजीर के फल को सूखे मेवे की तरह उपयोग में लिया जाता है।

अंजीर को रात में भिगोकर सुबह खाना बेहतर है। बादाम की तरह ही यह फायदा करता है। दूध में मिलाकर खाने में भी यह लाभकारी है। अंजीर फल की तासीर गर्म होती है।

पोषक तत्वों के नाम –

अंजीर के फल (Fig Fruit) में विटामिन्स और मिनरल्स प्रचुर मात्रा में होते है। दोस्तों अंजीर फल विटामिन ए और बी कॉम्प्लेक्स का अच्छा स्रोत है। अंजीर में प्रोटीन और पानी भी पाया जाता है। इसमें मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम, कैल्शियम और सोडियम जैसे मिनरल्स होते है। इस फल में फाइबर भी अच्छी खासी मात्रा में होता है।

अंजीर खाने के फायदे – Benefits Of Fig Fruit In Hindi

1. यह फल स्वस्थ शरीर के लिए लाभकारी होता है। कब्ज जैसी पेट की समस्या से निदान के लिए अंजीर का सेवन करना फायदेमंद है। इस फल में पाये जाने वाला फाइबर पाचन क्रिया को दुरुस्त करता है।

2. अंजीर ह्रदय के लिए बहुत गुणकारी फल है। अंजीर में ओमेगा 3 और 6 जैसे फैटी एसिड्स भी पाये जाते है। यह ब्लड प्रेशर को नियमित और नियंत्रित करता है। यह तनाव को कम करता है।

3. अंजीर के फल में कैल्शियम पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत करता है। इसका नियंत्रित सेवन करने से हड्डियों को ताकत मिलती है।

4. शारीरिक दुर्बलता को दूर करने के लिए अंजीर का सेवन सोंफ के साथ करना चाहिये। यह कमजोरी को दूर करके शक्ति का संचार करता है।

5. दमा के रोग में अंजीर का सेवन करना हितकारी होता है। अंजीर की पत्तियां भी दमा रोगियों के लिए फायदेमंद है।

6. अंजीर खाने से शरीर में रक्त की मात्रा बढ़ती है। इसका मुख्य कारण अंजीर में आयरन का पाया जाना है। यह खून बढाकर एनीमिया को दूर करता है।

7. अंजीर शरीर से खराब कोलेस्ट्रॉल को घटाता है। इसका सेवन करने से धमनियां सुरक्षित रहती है।

8. अंजीर का सेवन दूध के साथ करने पर मर्दाना कमजोरी दूर होती है। यह एक वीर्यवर्धक फल है।

9. अंजीर का फल सूखे मेवे के रूप में बाजार में मिलता है। इसलिए इसमें कैलोरी बहुत कम होती है। यह वजन को कम करके नियंत्रित करता है।

10. डायबिटीज के रोगी अंजीर के फल का सेवन कर सकते है। इसमें प्राकृतिक मिठास होती है जो बहुत कम होती है। फिर भी डॉक्टर की सलाह जरूर ले।

11. गले में जुकाम या सर्दी की वजह से दर्द होने लग जाता है। इस दर्द को अंजीर के सेवन से कम किया जा सकता है।

अंजीर के नुकसान (Anjeer Information)

1. अंजीर खाने से शरीर को नुकसान भी पहुंचता है। अंजीर का अनियंत्रित और अनियमित सेवन स्वास्थ्य की दृष्टि से हानिकारक है।

2. अंजीर में फाइबर होता है, इसलिये इसका ज्यादा मात्रा में सेवन दस्त की समस्या पैदा कर सकता है।

3. इसका अनियंत्रित और ज्यादा सेवन करने से पेट में दर्द और सूजन जैसी समस्या हो सकती है। इसलिए इसका सेवन हमेशा नियंत्रित मात्रा में ही करे।

4. अंजीर के बीजों का सेवन ना करे तो बेहतर है क्योंकि इनका सेवन करने से आंतों और लिवर को नुकसान होता है।

अंजीर के फायदे (Benefits Of Fig Fruit In Hindi) और इसकी जानकारी पर यह आर्टिकल Fig Fruit In Hindi कैसा लगा? यह पोस्ट “Anjeer Information” अच्छी लगी हो तो इसे शेयर भी करे।

FAQ:-

Q.1 अंजीर का सेवन कब और कैसे करे?

Ans. रात को पानी में भिगोकर सुबह खाना श्रेस्ठ है।

Q.2 अंजीर की तासीर क्या है?

Ans. गर्म

यह भी पढ़े – 

About the Author: Knowledge Dabba

नॉलेज डब्बा ब्लॉग टीम आपको विज्ञान, जीव जंतु, इतिहास, तकनीक, जीवनी, निबंध इत्यादि विषयों पर हिंदी में उपयोगी जानकारी देती है। हमारा पूरा प्रयास है की आपको उपरोक्त विषयों के बारे में विस्तारपूर्वक सही ज्ञान मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *