डाटा क्या है, प्रकार और डाटा प्रोसेसिंग What Is Data In Hindi

What Is Data In Hindi

डाटा क्या है और जानकारी What Is Data In Hindi

डाटा क्या है? What Is Data In Hindi दोस्तो अगर आप कंप्यूटर का उपयोग करते है तो “Data” शब्द आपने सुना ही होगा। Data कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण अंग है जिस पर सारा कार्य होता है। डाटा कंप्यूटर में इनपुट और आउटपुट किया जाता है। CPU का कार्य डाटा को प्रोसेस करना होता है। इस पोस्ट में कंप्यूटर डाटा क्या है (Data Kya Hai), डाटा प्रोसेसिंग और डाटा का प्रकार इस पोस्ट में जानने का प्रयास है।

किसी भी खिलाड़ी का कैरियर रिकॉर्ड, स्कूल में बच्चो की संख्या, भारत की आबादी, किसी का नाम, ये सभी Terms डाटा (Data) कहलाते है। डाटा को कंप्यूटर में मैनेज, कंट्रोल और प्रोसेस किया जाता है।

कंप्यूटर डाटा या सुचना क्या है Data Or Information Kya Hai –

Data को Information भी कहते है या यूं कहिये की Information ही “Data” है। इनपुट किये गए Processed Data को Information कहते है। Information यूजर के लिए Important होती है।

उदाहरण के तौर पर कोई न्यूज़ एंकर “न्यूज़” रीड करता है। यह न्यूज़ हमारे लिए Information है। जबकि न्यूज़ एंकर के लिए यह Processed Data है। रॉ डाटा (Raw Data) को Collect कर उस पर प्रोसेसिंग करके इन्फॉर्मेशन तैयार हुई है। आप डाटा या इन्फॉर्मेशन को इस तरह भी समझ सकते है – जैसे की आप हमारी पोस्ट “डाटा क्या है” (Data Kya Hai) Read कर रहे हो, तो यह पोस्ट आपके लिए इन्फॉर्मेशन है। हमनें Data को Processed करके आपके लिए यह Information तैयार की है।

Computer में मौजूद इमेज, वीडियो, ऑडिओ, टेक्स्ट, नंबर, डॉक्यूमेंट इत्यादि को Data कहते है। कीबोर्ड से डाटा को ही टाइप किया जाता है। A से Z के अल्फाबेट्स, 0 से 9 नम्बर, स्पेशल कैरेक्टर $,@,& ये सभी डाटा ही है। Data अव्यवस्थित तथ्य और आंकड़ो का संग्रह होता है जो केवल एक वैल्यू होती है। डाटा को कलेक्ट करना भी महत्वपूर्ण है। डाटा कंप्यूटर में इनपुट होने के बाद सॉफ्ट कॉपी में बदल जाता है।

डाटा की जानकारी Data Kya Hai –

कंप्यूटर में डाटा इनपुट करने से पहले वो Raw होता है। इस Raw Data को कंप्यूटर में इनपुट करने पर डाटा प्रोसेस होता है। Processed डाटा Information कहलाता है। Data कंप्यूटर में बाइनरी डिजिट 0,1 में स्टोर होता है। इन बाइनरी डिजिट को “बिट” कहते है। यह मशीनी लैंग्वेज होती है जिसे कंप्यूटर समझता है। डेटा को बाइनरी फॉर्म में बदलना Data Representation कहलाता है।

Data को कंप्यूटर में स्टोर करने के लिए हार्डडिस्क का उपयोग किया जाता है। इसके अलावा पेन ड्राइव, मैमोरी कार्ड का भी इस्तेमाल डाटा का स्टोरेज करने के लिए करते है। Computer Data को दो प्रकार से स्टोर करता है। एक तो Permanent Store होता है जिसमें Data को हार्डडिस्क या पैन ड्राइव में स्टोर किया जाता है। दूसरा Temporary Store होता है जिसमें डाटा रैम में Store होता है। डाटा को कंप्यूटर में फाइल्स के रूप में सुरक्षित किया जाता है। ये फाइल्स फ़ोल्डर्स में होती है।

कंप्यूटर डाटा का प्रकार Types Of Data In Hindi –

1. अल्फाबेट्स (Alphabets) – इंग्लिश में A to Z और हिंदी में क से ज्ञ। ये सभी Text डाटा कहलाता है। कीबोर्ड में ये सारे Alphabets होते है।

2. अंक (Number) – इस प्रकार के डाटा में 0 से 9 तक के अंक होते है। कीबोर्ड पर ये सारे अंक मौजूद होते है। इस डाटा पर गणितीय फॉर्मूले लगाकर उसे Process करते है।

3. अल्फानुमेरिक (Alpha Numeric) – कीबोर्ड में @,$,& जैसे चिन्ह अल्फा न्यूमेरिक डाटा होते है।

4. चित्र (Image) – JPEG, JPG, PNG जैसे फॉरमेट इमेज डाटा कहलाते है।

5. ऑडियो डाटा (Audio) एंड वीडियो डाटा (Video) – इस प्रकार के डाटा में ध्वनि आती है। म्यूजिक फाइल्स आती है। MP3, MP4, HD आदि फॉरमेट इस प्रकार के डाटा में आते है।

अगर आप कोई नाम जैसे कि Ram, Suresh, Pooja इत्यादि टाइप करते हो, तो यह भी डाटा की श्रेणी में ही आते है।

Data Processing क्या है –

Raw Data को CPU के द्वारा Process करके Information में कन्वर्ट करना ही डाटा प्रोसेसिंग (Data Processing) कहलाता है। कंप्यूटर में Input डाटा “Raw Data” कहलाता है। Output डाटा को Information कहते है। इसमें तीन क्रियाएं होती है –

A. Input Data, B. Data Processing, C. Output Data

A. Input प्रक्रिया में Data को कंप्यूटर में इनपुट किया जाता है। जैसे आप कीबोर्ड से अल्फाबेट्स को टाइप करके उन्हें Input करते हो –

Data इनपुट करने के लिए सबसे पहला स्टेप “Data Collection” होता है। इसमें Data को विभिन्न Sources से Collect किया जाता है। इनपुट करने से पहले Collected Data को वेरीफाई किया जाता है। इससे डाटा के Right या Wrong होने का पता चलता है। डाटा इनपुट करने पर वह कंप्यूटर में बाइनरी कॉड्स (0,1) में जाता है। इससे कंप्यूटर Data को Read कर पाता है। अब Data कंप्यूटर की मैमोरी में Store होता है।

B. Data Processing यह सबसे Important स्टेप है, इसी स्टेप से डाटा उपयोगी इंफॉर्मेशन में कन्वर्ट होता है। कंप्यूटर में यह कार्य CPU के द्वारा किया जाता है। Data Processing में होने वाली कुछ क्रियाएं –

सबसे पहला कार्य डाटा का क्लासिफिकेशन करना होता है। Data को ग्रुप में बांटा जाता है। इससे Data समझना और भी आसान हो जाता है। इसके बाद डेटा को Sort करते है- मुख्यतः “Ascending or Descending”। इसके बाद Data पर कैलकुलेशन का कार्य करते है। Data में अगर कही पर फॉर्मूला लगाने की जरूरत है तो वहां पर कैलकुलेशन की जाती है। प्रोसेसिंग में अंतिम चरण Data Summarized करना होता है।

C. Output Data – इस प्रक्रिया में Data को Information के रूप में आउटपुट दिया जाता है। प्रोसेसिंग के बाद प्राप्त डेटा को Information कहते है। Output को हार्डडिस्क में स्टोर भी किया जा सकता है। स्टोर की हुई इन्फॉर्मेशन को आप कभी भी वापस पढ़ सकते है।

डाटा क्या है Information Or Data Kya Hai –

Data से संबंधित बिग डेटा, डेटाबेस जैसी Terms काफी महत्वपूर्ण है। बिग डेटा का अर्थ है कि बहुत ज्यादा डेटा जिसको प्रोसेस करना डिफिकल्ट होता है। डाटा का व्यवस्थित संग्रह डेटाबेस कहलाता है।

आज के समय में Data का काफी उपयोग है। किसी भी देश के आर्थिक विकास के लिए डेटा महत्वपूर्ण होता है। देश की जनसंख्या के आंकड़े भी एक Data है। इसको Processed करके Data  देश की आर्थिक तरक्की में उपयोग लिया जाता है। फेसबुक और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर हम पोस्ट्स करते है। इन पोस्ट्स में Data ही होता है। किसी भी डिजिटल माध्यम में Data प्रोसेसिंग का ही कार्य होता है।

यह भी पढ़े –

Note – डाटा क्या है What Is Data In Hindi और डाटा के प्रकार Types Of Data In Hindi, Data Processing क्या है पर यह पोस्ट कैसी लगी। यह आर्टिकल Data Kya Hai अच्छा लगा हो तो इसे शेयर भी करे। What Is Information In Hindi Or Information Kya hai पर आपके विचार वगि प्रकट करे।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *