Sugarcane In Hindi | गन्ना की जानकारी और फायदे

इस लेख Information About Sugarcane In Hindi में गन्ना रस के फायदे (Sugarcane Juice Benefits) और जानकारी दी गयी है। गन्ना का स्वाद मीठा होता है। गन्ने के पौधे का तना खाने के काम आता है। इसकी मिठास इसके तने के रस में ही होती है। गन्ने का रस जितना स्वादिष्ट होता है, उतना ही स्वास्थवर्धक भी होता है। गन्ना का रस निकालकर पिया जाता है। यह थकान निवारक है जो शरीर में स्फूर्ति और ऊर्जा का संचार करता है।

गन्ने से शक्कर भी बनाई जाती है। तो आइए दोस्तो गन्ने के रस के फायदे Benefits Of Sugarcane Juice In Hindi और इसकी जानकारी पर रोशनी डालने का प्रयास करते है।

Information About Sugarcane In Hindi

गन्ना की जानकारी – Sugarcane Information In Hindi

दोस्तो, आपने गन्ने का ज्यूस तो पिया ही होगा। यह शक्कर सा मीठा और ठंडा होता है। खासकर गर्मियों में इसको पीने का आनन्द ही कुछ और है। गन्ने (Sugarcane) की खेती पूरे भारतवर्ष में की जाती है। इसको पैदा करने का मुख्य मकसद शक्कर बनाना है। गन्ना का रस से गुड़ का उत्पादन भी किया जाता है। गन्ना का उपयोग दिवाली में लक्ष्मी पूजन के दौरान किया जाता है।

इतिहास में झांके तो गन्ने का सर्वप्रथम उत्पादन “पपाया न्यू गिनी” में हुआ था। भारत गन्ना उत्पादन में विश्व में दूसरे स्थान पर आता है। भारत में गन्ना कृषि के मुख्य राज्य उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु है। वैसे तो पूरे भारत मे इसकी खेती होती है। इसकी फसल किसी भी मौसम में ली जा सकती है।

गन्ने का पौधा आकार में लम्बा होता है। करीब 30 फ़ीट तक इसकी लम्बाई चली जाती है। इसके तने की मोटाई कम होती है। रस इसी तने से निकाला जाता है। तने के ऊपर छिलका होता है जिसके नीचे रेशेदार सफेद रंग की गुदा होती है। इसी गुदा में मीठा रस भरा होता है। गन्ना के पौधे की हरे रंग की पत्तियां भी होती है।

गन्ना कैसे खाते है?

वैसे दोस्तो गन्ना खाना इतना आसान नही है। अगर आपके पास गन्ने का रस निकालने की मशीन है तो सही है लेकिन अगर नही है तो आपके दांत मजबूत होने चाहिये। गन्ना के तने का ज्यूस निकालकर पिया जाता है।

गन्ने के छिलके को छीलकर उसकी गुदा से रस निकाला जाता है। गन्ने का रस हमेशा ताजा ही पीना सही रहता है। गन्ना के रस में नींबू और सेंधा नमक मिलाकर पीने से यह ज्यादा स्वादिष्ट और फायदा करता है।

पोषक तत्वों के नाम

गन्ने में शर्करा भरपूर मात्रा में होती है। इसमें सबसे ज्यादा पानी की मात्रा होती है। यह कार्बोहाइड्रेट का रिच सोर्स है। इसमे कई सारे मिनरल भी होते है। कैल्शियम, आयरन, पोटैशियम, फॉस्फोरस जैसे तत्व इसमे मौजूद होते है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट भी होते है। इसमें विटामिन A और B भी होता है। इसके रस में फाइबर भी होता है।

गन्ने के रस के फायदे – Benefits Of Sugarcane Juice In Hindi

चिलचिलाती गर्मी में तेज धूप से आपका सर चकराने लगता है और थकान आपको आगोश में लेने लगती है। इस वक्त एक ग्लास गन्ने का ज्यूस आपकी थकान दूर कर देता है। गन्ने का रस के काफी फायदे (Benefits Of Sugarcane Juice In Hindi) है।

1. थकान महसूस होने पर गन्ने का रस पीना चाहिये जिससे आपको तरोताजगी मिलती है। इससे शरीर को एनर्जी मिलती है और गर्मी से भी राहत मिलती है। पानी की जगह गन्ना रस पीने से प्यास बुझाने में मदद होती है। इसका कारण गन्ने के रस में कार्बोहाइड्रेट, आयरन, पोटैशियम, प्रोटीन जैसे न्यूट्रिशन होते है। यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

2. पीलिया से पीड़ित मरीजों को डॉक्टर गन्ने का रस पीने की सलाह देता है। गन्ना रस पीलिया में फायदेमंद होता है। गन्ने के ताजा रस में नींबू का रस मिलाकर सेवन करना ज्यादा लाभकारी है।

3. बुखार होने की स्थिति में गन्ने का रस का सेवन करना चाहिए। ताजा गन्ना ज्यूस पीने से बुखार जल्द उतर जाता है।

4. गन्ने (Sugarcane) का मशीन से रस ना निकालकर उसको दांतो के जरिये छीलकर खाना चाहिए। इससे दांतो में मजबूती आती है और दांतों की दुर्गंध दूर होती है।

5. पेट में गैस की शिकायत होने पर एसिडिटी की समस्या हो जाती है। इससे शरीर में जलन होती है। गन्ने का रस शरीर को ठंडक पहुंचाता है।

6. गन्ने में मौजूद शुगर प्राकृतिक होती है। गन्ने का रस पीने से वजन बढ़ता है।

7. गन्ने में फाइबर होता है जिससे पेट सबन्धी समस्याएं दूर होती है। कब्ज को दूर करके पाचन को मजबूत करता है।

8. गन्ना के रस का सेवन नियमित करने से त्वचा का रंग निखरता है। चेहरे से दाग और मुहांसे दूर होते है।

9. गुर्दे में अगर पथरी है तो गन्ने का रस पीना चाहिए। इसके नियमित सेवन से पथरी गलकर निकल जाती है।

10. गन्ने में प्राकृतिक मिठास होती है जो शरीर में शुगर का लेवल नही बढ़ाती है। मधुमेह के रोगियों के लिए गन्ना सही रहता है।

गन्ने का रस के नुकसान – Sugarcane Side Effects In Hindi

गन्ना (Sugarcane In Hindi) का ज्यूस वेसे तो फायदेमंद है लेकिन इसका असन्तुलित सेवन हानिकारक है।

1. गन्ने का रस रोजाना केवल 2 गिलास पीना ही सेहत के लिए अच्छा है। इससे ज्यादा ना पिये। पाचन पर बुरा असर पड़ सकता है।

2. अगर आप तेज धूप से गुजर कर आये है और आपको पसीना आ रहा है तो तुरंत गन्ने का रस का सेवन ना करे। इससे चक्कर और उल्टी आ सकती है।

3. गन्ने के रस में बर्फ मिलाकर ना पिये। इससे सर्दी जुकाम होने की संभावना रहती है।

4. असन्तुलित और इसका बहुत ज्यादा सेवन करने से मधुमेह हो सकता है। मधुमेह के रोगियों को इसका सेवन कम करना चाहिए।

5. गन्ने का ज्यूस ताजा ही पीना चाहिए। ज्यादा समय का फ्रिज में रखा हुआ ज्यूस ना पिये। यह शरीर को हानि पहुंचा सकता है।

गन्ना की जानकारी (Sugarcane Information In Hindi) पर यह आर्टिकल आपको कैसा लगा? गन्ने के रस के फायदे (Benefits Of Sugarcane Juice In Hindi), नुकसान और गन्ना कैसे खाते है? पर आपके विचारो का कमेंट बॉक्स में स्वागत है। यह पोस्ट “Information About Sugarcane Juice In Hindi” अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक पर शेयर भी करे।

यह भी पढ़े –

About the Author: Knowledge Dabba

नॉलेज डब्बा ब्लॉग टीम आपको विज्ञान, जीव जंतु, इतिहास, तकनीक, जीवनी, निबंध इत्यादि विषयों पर हिंदी में उपयोगी जानकारी देती है। हमारा पूरा प्रयास है की आपको उपरोक्त विषयों के बारे में विस्तारपूर्वक सही ज्ञान मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *