महात्मा गांधी पर निबंध हिंदी में Essay On Mahatma Gandhi In Hindi

Essay On Mahatma Gandhi In Hindi
महात्मा गांधी पर निबंध

यह आर्टिकल Essay On Mahatma Gandhi In Hindi आजादी की लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले हमारे प्रिय महात्मा गांधी के बारे में है। महात्मा गांधी जी को प्यार से हम भारतवासी बापू कहते है। महात्मा गांधी जी की अगुवाई में ही स्वतन्त्रता की अंतिम लड़ाई लड़ी गई थी। अहिंसा के मार्ग पर चलकर ही गांधी जी ने आजादी की लड़ाई में हिस्सा लिया था।

मोहनदास करमचंद गांधी जी का नाम महात्मा गांधी उनके महान कार्यो के कारण पड़ा था। महात्मा गांधी जी के जीवन के बारे में पिछली पोस्ट में बात कर चुके है। यह पोस्ट उनके योगदान, आंदोलनों और वक्तव्यों के बारे में है। इसमें महात्मा गांधी पर निबंध (Mahatma Gandhi Par Nibandh) है।

Mahatma Gandhi In Hindi Essay महात्मा गांधी पर निबंध

अक्टूबर माह की 2 तारीख को महात्मा गांधी का जन्म दिवस मनाया जाता है। सत्य और अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी जी पेशे से एक वकील थे। किसी केस के सिलसिले में उनका अफ्रीका जाना हुआ था। यही उनके जीवन का टर्निंग प्वाइंट था। अफ्रीका मोहनदास करमचंद गांधी गए थे लेकिन लोटे तो वह एक आंदोलनकारी थे। अफ्रीका में महात्मा गांधी जी ने रंगभेद के खिलाफ आवाज बुलंद की थी।

अहिंसा परमो धर्म – महात्मा गांधी

Essay On Mahatma Gandhi In Hindi – अफ्रीका में महात्मा गांधी जी Mahatma Gandhi के जीवन का एक महत्वपूर्ण किस्सा घटित हुआ था। अफ्रीका यात्रा के दौरान गांधी जी रेलगाड़ी में सवार थे और उनके पास प्रथम श्रेणी का टिकट था। कुछ गोरे लोगो ने उन पर नस्लभेदी टिप्पणी की और उन्हें तृतीय श्रेणी के डिब्बे में जाने को कहा। गांधी जी नही माने तो उन्हें रेलगाड़ी से नीचे उतार दिया गया। इस घटना ने गांधीजी को सोचने पर मजबूर कर दिया और वो रंगभेद के खिलाफ मोर्चा खोलकर खड़े हो गए। महात्मा गांधी जी ने इस अन्यान्य के विरुद्ध सत्याग्रह किया था।

सामाजिक सोच और आर्थिक विकास के पक्षधर गांधी जी का जीवन आदर्श रहा है। उनको आजादी की जंग में अमूल्य योगदान के लिए भारतीय इतिहास में राष्ट्रपिता का दर्जा दिया गया है। महापुरुषों की अग्रिम पंक्ति में गांधी जी का नाम आता है। अहिंसावादी सोच के पुजारी गांधी जी के सभी आंदोलन अहिंसक थे।

महात्मा गांधी का निबंध Essay On Mahatma Gandhi In Hindi –

जीवन कभी भी सपाट नही होता है, जीवन मे उबड़ खाबड़ रास्ते की तरह कठिनाई आती है। महात्मा गांधी जी के जीवन में भी काफी कठिनाइयां आयी थी। अंग्रेजो ने उन्हें कई बार जेल में भी बन्द किया था। लेकिन बापू किसी से घबराए नही और उनसे अहिंसक लड़ते रहे।

कमजोर किसी को माफ नही कर सकते है,
माफ करना मजबूत लोगो की निशानी है। – महात्मा गांधी

महात्मा गांधी जी ने अपना पूरा जीवन देश को समर्पित किया था। उन्होंने ब्रिटिश सरकार के खिलाफ कई असाधारण आंदोलन चलाये थे। उनके द्वारा चलाये गए असहयोग आंदोलन, भारत छोड़ो आंदोलन, स्वदेशी आंदोलन, सविनय अवज्ञा आंदोलन प्रमुख थे। किसानों के लिए उनके द्वारा किया गया चम्पारण आंदोलन भी प्रमुख है।

महात्मा गांधी जी Mahatma Gandhi ने गरीबो के कल्याण के लिए भी बहुत कार्य किये थे। उनके शुरुआती आंदोलन रंगभेद और छुआछूत के खिलाफ थे। ब्रिटिश सरकार ने नमक के ऊपर कानून बनाया था। इसके विरोध में महात्मा गांधी जी ने दांडी जाकर नमक बनाया था। इस यात्रा को इतिहास में दांडी यात्रा के रूप में जाना जाता है। गांधी जी हिंदुओं और मुसलमानों की एकता के पक्षधर थे। उनका मानना था कि हिंदुस्तान तभी आगे बढ़ सकता है जब यह एकता बनी रहे।

एक आंख के बदले आंख तो पूरी दुनिया को अंधा बना देगा। – महात्मा गांधी

महात्मा गांधी का व्यक्तित्व कमाल का था। दिखने में एक साधारण व्यक्ति लेकिन कार्य में असाधारण अभिव्यक्ति। गांधी जी के शरीर पर कपड़े के तौर पर केवल एक धोती होती थी। इसी को वह अपने तन पर भी ढक लेते थे। इतना सहज और साधारण पहनावा गांधी जी महान व्यक्तित्व की निशानी था। महात्मा गांधी जी का प्रिय भजन “रघुपति राघव राजा …. राम सबको सम्मति दे भगवान” था।

Mahatma Gandhi Par Nibandh महात्मा गांधी पर निबंध –

गांधी जी स्वालम्बी स्वभाव वाले व्यक्ति थे। उन्होंने स्वदेशी आंदोलन के तहत विदेशी सामानों का बहिष्कार किया था। चरका चलाकर खादी का कपड़ा बुना था। इन्होंने खादी को बढ़ावा देने के लिए भारतीयों को काफी प्रेरित किया था। महात्मा गांधी शराब पीने के सख्त खिलाफ थे। इसलिये उनकी जयंती को शराब बेचने पर पाबंदी होती है।

पहले वो आपकी उपेक्षा करेंगे, फिर आप पर हंसेंगे। फिर आपसे लड़ेंगे और अंत में आपसे हार जाएंगे। – महात्मा गांधी

30 जनवरी को इस महान आत्मा की हत्या कर दी गयी थी। अपने अंतिम शब्द “हे राम” के साथ इस अहिंसा के पुजारी ने अंतिम सांस ली। इसी दिन को उनकी याद में शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है। महात्मा गांधी जी की समाधि दिल्ली में राजघाट पर बनी हुई है।

यह भी पढ़े –

नोट – महात्मा गाँधी पर निबंध Essay On Mahatma Gandhi In Hindi आपको कैसा लगा। यह पोस्ट Mahatma Gandhi In Hindi Essay अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक और ट्विटर पर शेयर भी करे। “Mahatma Gandhi Par Nibandh” के बारे में आपके विचारो का स्वागत है। Mahatma Gandhi Par Essay के बारे में टिप्पणी कमेंट बॉक्स में करें। “History Of Mahatma Gandhi In Hindi”

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *