मुगल साम्राज्य का इतिहास History Of Mughal Empire In Hindi

History Of Mughal Empire In Hindi मुगल साम्राज्य का इतिहास –

यह आर्टिकल मुगल साम्राज्य का इतिहास History Of Mughal Empire In Hindi और मुगल वंशावली  के बारे में है। भारत पर करीब 300 सालो तक मुगलों का शासन रहा था। मुगल साम्राज्य का काल वर्ष 1526 में मुगल बादशाह बाबर से शुरू हुआ था। 18 वी शताब्दी में अंग्रेजो के आने पर मुगल साम्राज्य का पतन शुरू हुआ था। बहादुर शाह जफर भारत के अंतिम मुगल बादशाह थे। मुगल साम्राज्य भारत, पाकिस्तान, बंग्लादेश, अफगानिस्तान तक फैला हुआ था।

History Of Mughal Empire In Hindi
मुगल साम्राज्य का इतिहास

मुगल वंशावली और मुगल बादशाहों की सूची History Of Mughal In Hindi –

मुगल साम्राज्य का इतिहास पलट कर देखे तो यह भारतीय इतिहास का एक बड़ा साम्राज्य था। यह लगभग पूरे भारतीय महाद्वीप में फैला हुआ था। मुगल साम्राज्य की शुरुआत बादशाह बाबर से हुई थी। इससे पहले भारत पर लोदी राजवँश का शासन था। बाबर मूलतः तुर्की का था। बाबर का पूरा नाम “जहिर उद दिन मुहम्मद बाबर” था। बाबर ने भारत पर कुल 5 बार आक्रमण किया था। बाबर ने इब्राहीम लोदी को पानीपत में हराया था और वर्ष 1526 में बाबर दिल्ली की गद्दी पर बैठा। बाबर ने लगभग पूरे उत्तर भारत को अपने कब्जे में ले लिया था।

बाबर के बाद उसके पुत्र मुहम्मद हुमायूँ ने मुगल साम्राज्य Mughal Empire पर राज किया था। इनका पूरा नाम नसीरुद्दीन मोहम्मद हुमायूँ था। हुमायूँ महत्वाकांक्षी था जिसने मुगल साम्राज्य को विस्तार दिया। बादशाह हुमायूँ का एक शेर शाह सूरी नामक सेनापति था जिसने हुमायूँ को दोखा देकर कन्नौज के युद्ध मे हराया था। शेर शाह सूरी ने हुमायूँ को हराकर मुगल साम्राज्य के काफी हिस्से पर कब्जा कर लिया था। लेकिन हुमायूँ ने शेर शाह के पुत्र इस्लाम शाह को हराकर सूरी वंश का अंत किया। History Of Mughal Empire In Hindi

हुमायूँ की मृत्यु के बाद बादशाह अकबर केवल 14 वर्ष की उम्र में मुगल साम्राज्य के बादशाह बने। बादशाह अकबर ने 1556 में साम्राज्य की गद्दी को संभाला था। अकबर का पूरा नाम “जलालुद्दीन मोहम्मद अकबर” था। अकबर ने मुगल सल्तनत को पूरे देश मे फैलाया था। 1605 ईसवी तक बादशाह अकबर का भारत पर शासन था। मुगल बादशाहों में सबसे ज्यादा ताकतवर अकबर को माना जाता है। बादशाह अकबर को महान राजा कहा जाता है क्योंकि अकबर ने एक शक्तिशाली साम्राज्य स्थापित किया था। वह एक बुद्धिमान और कुशल प्रशासक था। अकबर धर्मनिरपेक्ष राजा था जिसके राज्य में हर धर्म का मानने वाला खुश था।

मुगल साम्राज्य का इतिहास History Of Mughal Empire In Hindi –

बादशाह अकबर के बाद मुगल साम्राज्य को उनके पुत्र जहाँगीर ने चलाया था। 1627 ईसवी तक बादशाह जहाँगीर ने दिल्ली की गद्दी पर राज किया था। जहाँगीर का पूरा नाम “नूरुद्दीन मोहम्मद जहाँगीर” था। 1627 में जहाँगीर की मृत्यु के बाद शाहजहां दिल्ली सल्तनत के बादशाह बने थे। इनका पूरा नाम “शहाबुद्दीन मोहम्मद शाहजहां” था। शाहजहां के काल को भारत का स्वर्णिम काल कहा जाता है। मुगल बादशाह शाहजहां ने अपने काल मे कई ऐतिहासिक इमारतों का निर्माण करवाया था। शाहजहाँ ने अपनी पत्नी मुमताज की याद में ताजमहल का निर्माण भी करवाया था। History Of Mughal In Hindi

शाहजहाँ के बाद उनके पुत्र औरंगजेब ने शासन किया था। मुगल साम्राज्य का सबसे ज्यादा विस्तार औरंगजेब ने किया था। औरंगजेब का पूरा नाम “मोइनुद्दीन मोहम्मद औरंगजेब आलमगीर” था। औरंगजेब के काल में ही अंग्रेजो ने भारत मे ईस्ट इंडिया कम्पनी के रूप में कारोबार शुरू कर दिया था। औरंगजेब के बाद के मुगल बादशाहों का कार्यकाल ज्यादा लम्बा नही था।

1707 में औरंगजेब की मृत्यु के बाद बहादुर शाह जफर उर्फ शाह आलम ने गद्दी को संभाला था। इनके बाद “जहांदार शाह, फरुखसियर, रफी उल दर्जात, शाहजहाँ ll, निकुसियर, मोहम्मद इब्राहिम, रोशन शाह उर्फ मोहम्मद शाह, अहमद शाह बहादुर, आलमगीर ll, शाहजहाँ lll, शाह आलम 11, बहादुर शाह जफर ll” अलग अलग समय तक मुगल साम्राज्य के बादशाह रहे थे। भारत के अंतिम मुगल बादशाह बहादुर शाह जफर द्वितीय थे जिन्होंने 1857 की क्रांति में भाग लिया था।

Muglo Ka Itihas – Mugal Kal History In Hindi

मुगल साम्राज्य Mughal Empire के दौरान हिन्द और फ़ारसी संस्क्रति का सामंजस्य रहा था। मुगलों ने भारत मे शासन के दौरान कई किले, मकबरे, महल बनवाये थे जो एक अनूठी वास्तुकला के नमूने है। लाल किला, शाहजहाँ का बनवाया ताजमहल, जामा मस्जिद इनमे से प्रमुख है। मुगल अन्य बाहरी शासकों की तरह लूटकर नही गए थे। वो भारत पर शासन करने आये और यही के होके रह गए। Muglo Ka Itihas

मुगल साम्राज्य के पतन के कई कारण थे। इनमे से प्रमुख कारण औरंगजेब के बाद किसी भी शक्तिशाली राजा का नही होना था। औरंगजेब के बाद के बादशाहों से इतनी बड़ी सल्तनत सम्भली नही गयी। औरंगजेब के उत्तराधिकारी अयोग्य थे जिनके कारण मुगल साम्राज्य का पतन शुरू हुआ था। अंग्रेजो के भारत मे बढ़ते प्रभुत्व से भी मुगल सल्तनत टूटती चली गयी। निरन्तर बाहरी और आंतरिक आक्रमणों से मुगल साम्राज्य खोखला हो गया था। मुगल साम्राज्य मौर्य साम्राज्य के समान ही शक्तिशाली था। मुगलों ने पूरे भारत पर शासन किया था।

Note:- मुगल साम्राज्य का इतिहास History Of Mughal Empire In Hindi और मुगल वंशावली Mughal Vansh History In Hindi पर यह आर्टिकल Mugalo Ka Itihas आपको कैसा लगा। यह पोस्ट “Mugal Kal History In HIndi” आपको अच्छी लगी हो तो इसे मुगल काल का इतिहास शेयर करे। “History Of Mughal In Hindi”

यह भी पढ़िए – 

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *