क्रिकेट के नियम और जानकारी (Information About Cricket In Hindi)

क्रिकेट के बारे में जानकारी Information About Cricket In Hindi

दोस्तो क्रिकेट भारत के गली मोहल्लों तक मे खेले जाने वाला खेल है। यह लेख Information About Cricket In Hindi क्रिकेट के नियम (Cricket Game Rules) की जानकारी पर है। किसी भी खेल को खेलने के कुछ नियम होते है। इस पोस्ट में क्रिकेट खेलने के नियमों की सक्षिप्त में बात करेंगे।

क्रिकेट का विश्व और भारत का इतिहास आपने नॉलेज डब्बा ब्लॉग के पोस्ट में पढ़ा ही होगा? अगर आपने नहीं पढ़ा है तो अभी पढ़ लीजिये –

Information About Cricket In Hindi
Rules Of Cricket In Hindi

क्रिकेट के अनिवार्य नियम Rules Of Cricket Game In Hindi

Cricket के नियमों को बनाने वाली संस्था आईसीसी है। ICC के तत्वाधान में ही क्रिकेट पूरे विश्व में खेला जाता है। क्रिकेट एक आउटडोर खेल है जो एक बड़े मैदान में खेला जाता है। क्रिकेट खेलने के लिए बैट, गेंद, स्टंप की आवश्यकता होती है।

क्रिकेट में दो टीमें आपस में खेलती है और दोनों में से एक टीम विजेता रहती है। प्रत्येक टीम में 11 खिलाड़ी होते है। इन खिलाड़ियों में एक कप्तान, एक विकेटकीपर और एक उपकप्तान होता है। क्रिकेट में खिलाड़ी तीन प्रकार के होते है। एक वो जो केवल बल्लेबाज होते है। दूसरे वो जो गेंदबाज होते है और तीसरे प्रकार के खिलाड़ी बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों करते है। इस प्रकार के खिलाड़ी को क्रिकेट की भाषा मे ऑलराउंडर कहा जाता है।

क्रिकेट टेस्ट और वनडे दो प्रकार का होता है। टेस्ट क्रिकेट में चार पारियां होती है। प्रत्येक पारी 90 ओवर और एक दिन की होती है। प्रत्येक टीम 2 पारी खेलती है। वनडे क्रिकेट के फॉरमेट में 50 ओवर का खेल होता है। वनडे में कुल 2 पारिया होती है और दोनों टीमें 1-1 पारी खेलती है।

आजकल क्रिकेट (Cricket) का एक नया फॉर्मेट टी 20 भी चल रहा है। इस फॉर्मेट में 20 ओवर का खेल होता है। आईसीसी इस फॉरमेट में विश्वकप भी आयोजित करवाती रहती है। भारत में हर साल होने वाला आईपीएल भी इसी फॉरमेट में होता है। किसी भी टीम को पहले बल्लेबाजी या गेंदबाजी करनी है। इसका फैसला टॉस से होता है, जो टीम टॉस जीतती है वो ही ल्लेबाजी या गेंदबाजी करने फैसला लेती है।

पहली पारी में एक टीम जब बल्लेबाजी करती है तो दूसरी टीम फील्डिंग और गेंदबाजी करती है। दूसरी पारी में फील्डिंग करने वाली टीम बल्लेबाजी करती है। क्रिकेट का 1 ओवर 6 बॉल का होता है। वनडे में एक गेंदबाज अधिकतम 10 ओवर कर सकता है जबकि टी ट्वेंटी में अधिकतम 4 ओवर करने का नियम है।

क्रिकेट में अम्पायर कितने होते है?

खेल के निर्णय लेने के लिए अम्पायर होता है। क्रिकेट में दो अम्पायर होते है जो क्रिकेट के मैदान पर मौजूद होते है। एक तीसरा अम्पायर भी होता है जिसे थर्ड अंपायर कहते है। जब मैदानी अंपायर निर्णय लेने में असमर्थ होता है, तब थर्ड अंपायर निर्णय लेता है।

पहली पारी में बल्लेबाजी करने वाली टीम रनों का टारगेट सेट करती है। दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने वाली टीम उस टारगेट को प्राप्त करने की कोशिश करती है। बल्लेबाजी करने वाली टीम का उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा रन बनाना होता है।

गेंदबाजी करने वाली टीम का उद्देश्य ज्यादा से ज्यादा विकेट लेना और विरोधी टीम को कम स्कोर पर रोकना होता है। किसी भी टीम के 10 विकेट आउट हो जाने पर उसकी पारी समाप्त मानी जाती है।

यह भी पढ़े –

क्रिकेट में बल्लेबाजी, रन, आउट, और गेंदबाजी के नियम Cricket Sport Information In Hindi

Cricket के मैदान में एक पिच होता है जिसके दोनों छोर पर स्टंप होते है। एक छौर पर एक बल्लेबाज और स्टंप के पीछे विकेटकीपर रहता है। दूसरे छौर पर दूसरा बल्लेबाज और अंपायर रहता है। इसी छोर से गेंदबाज गेंद भी डालता है। मैदान पर दूसरा अंपायर स्क्वायर लेग की तरफ खड़ा होता है।

क्रिकेट में रन बनाने के कई तरीके होते है। रन बल्लेबाज दौड़कर लेता है या फिर चौका, छक्का लगाकर लेता है। दौड़कर लेने वाले रन 1, 2, 3 होते है। जब गेंद मैदान में टप्पा खाकर बाउंड्री को पार कर जाती है, तब यह चौका (4 रन) होता है। जब गेंद बिना टप्पा खाये सीधे ही मैदान के बाहर आकर गिरती है, तब यह छक्का (6 रन) होता है। बॉल बल्ले से ना लगकर बल्लेबाज के ही लग जाती है, तब भी बल्लेबाज भागकर रन ले सकता है। इसे लेग बाय के रन कहते है।

किसी भी बल्लेबाज को आउट करने के कुछ नियम है। अगर गेंदबाज किसी बल्लेबाज के स्टंप की गिल्लियां गिरा देता है तो वह बल्लेबाज आउट माना जाता है। इस आउट को बोल्ड करना कहते है।

बल्लेबाज शॉट मारे और गेंद किसी फील्डर के हाथों में बिना टप्पा खाये आ जाये तो भी वह आउट हो जाता है। इस प्रकार के आउट को कैच कहते है। इसके अलावा रन आउट या एलपीडब्लू से भी किसी बल्लेबाज को आउट किया जा सकता है।

अगर बल्लेबाज जानबूझकर या गलती से भी स्टंप में जाती हुई गेंद को हाथ से पकड़कर रोक लेता है, तब भी वो आउट माना जायेगा। इसे हिट विकेट कहते है। विकेटकीपर बल्लेबाज को स्टंप करके भी आउट कर सकता है। बल्लेबाज का पैर क्रीज से बाहर निकलने पर विकेटकीपर स्टंप को गिरा देता है।

किसी भी खिलाड़ी को आउट करने के बाद अपील करनी जरूरी होती है। बिना अपील के अंपायर बल्लेबाज को आउट नही देता है। किसी भी टीम का जब विकट गिर जाता है तो दूसरे खिलाड़ी को 3 मिनट के भीतर क्रीज में आना होता है।

क्रिकेट में नो बॉल, वाइड बॉल और डकवर्थ लुइस नियम क्या है?

गेंदबाज के द्वारा कभी कभी गलत बॉल भी फेंकी जा सकती है। जब गेंदबाज तय नियम के विरुद्ध जाकर गेंद डालता है, तब यह नो बॉल होती है। जब गेंदबाज का पांव क्रीज से बाहर निकल जाता है, तब भी नो बॉल कहलाती है। बॉल बल्लेबाज की ऊँचाई से ऊपर जाए या फील्डर गलत पोजीशन पर हो, तब भी यह नो बॉल होती है।

गेंदबाज के द्वारा नो बॉल डालने पर बल्लेबाज को फ्री हिट मिलती है। फ्री हिट में बल्लेबाज केवल रन आउट हो सकता है। एक वाइड बॉल होती है जिसमे गेंद बल्लेबाज से इतनी दूर फेंकी जाती है कि वो खेल नही पाता है। नो बॉल और वाइड बॉल डालने पर विरोधी टीम के स्कोर में 1 रन एक्स्ट्रा जुड़ जाता है।

इन नियमों के अलावा भी क्रिकेट में कई और रोचक नियम होते है। एक डकवर्थ लुइस नियम होता है जो बारिश आने से बाधित हुए मैच को पूरा करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

दोस्तों, क्रिकेट के नियम की जानकारी (Rules Of Cricket In Hindi) और “क्रिकेट के बारे में जानकारी” पर यह पोस्ट Information About Cricket In Hindi आपको कैसी लगी? आपको दी गयी जानकारी पसंद आयी हो तो इसे दूसरों के साथ शेयर भी करे।

अन्य महत्वपूर्ण पोस्ट्स –

About the Author: Knowledge Dabba

नॉलेज डब्बा ब्लॉग टीम आपको विज्ञान, जीव जंतु, इतिहास, तकनीक, जीवनी, निबंध इत्यादि विषयों पर हिंदी में उपयोगी जानकारी देती है। हमारा पूरा प्रयास है की आपको उपरोक्त विषयों के बारे में विस्तारपूर्वक सही ज्ञान मिले।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *