दशहरा का महत्व पर निबंध | Essay On Dussehra In Hindi

इस लेख Information & Essay On Dussehra In Hindi में हिन्दू धर्म के महत्वपूर्ण त्यौहार दशहरा पर निबंध, कहानी और महत्व के बारे में बताया गया है। इस त्यौहार के पीछे जुड़ी मान्यतायें रामायण पावन ग्रन्थ से आती है। यह उत्सव बुराई पर अच्छाई की जीत का है जिसे विजयदशमी भी कहा जाता है।

दशहरा या विजयदशमी का त्यौहार पूरे भारतवर्ष में बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। आगे पोस्ट “Dussehra Or Vijayadashami Par Nibandh In HIndi For Class 6, 7, 8, 9, 10” में दशहरा क्यों मनाया जाता है? और महत्व पर चर्चा की गई है।Essay On Dussehra In Hindi

दशहरा पर निबंध – Essay On Dussehra In Hindi

दशहरा के पर्व को विजयदशमी भी कहते है क्यूंकि इसी दिन भगवान राम को रावण पर विजय मिली थी। यह त्यौहार दीवाली के 20 दिन पहले आता है। दशहरा को अश्विन माह के शुक्ल पक्ष में मनाया जाता है। दशहरा के पीछे की धार्मिक मान्यता भगवान राम से जुड़ी हुई है। रामायण ग्रन्थ के अनुसार भगवान राम ने दुष्ट रावण का वध करके समस्त संसार पर उपकार किया था। यह दिन बुराई के प्रतीक रावण पर अच्छाई के प्रतीक भगवान राम की जीत का है।

दशहरा क्यों मनाया जाता है?

असुर राजा रावण ने माता सीता का अपहरण कर लिया था। इसलिये भगवान राम ने लंका जाकर लंकेश रावण का वध किया था। भगवान राम ने रावण को मारने से पहले देवी दुर्गा की उपासना की थी। एक और कथा इस त्यौहार से जुड़ी हुई है जिसके अनुसार देवी दुर्गा ने महिषासुर नामक असुर का वध किया था।

दशहरा के पहले 9 दिनों तक देवी दुर्गा के नौ रूपो की पूजा की जाती है। इसको नवरात्र कहा जाता है। नवरात्रा के अवसर पर गुजरात मे डांडिया और गरबा का नृत्य खेला जाता है। आजकल लगभग पूरे उत्तर भारत मे डांडिया का खेल प्रसिद्ध है। 10 वे दिन विजयदशमी का त्यौहार मनाया जाता है।

दशहरा का महत्व क्या है? Information About Dussehra Importance In Hindi

दशहरा त्यौहार के दिन भगवान राम, सीता, लक्ष्मण और हनुमान जी की शोभायात्रा हर्षोल्लास के साथ पुरे भारतवर्ष में निकाली जाती है। यह यात्रा अपने अंतिम पड़ाव में रामलीला मैदान आती है। रामलीला मैदान में रामायण कथा का मंचन किया जाता है। इस मंचन में राम, लक्ष्मण, सीता, हनुमान के किरदारों का वास्तविक कलाकार अभिनय करते है।

इसी मैदान में असुर लंकाधिपति रावण, मेघनाथ और कुम्भकर्ण के विशाल पुतले लगाए जाते है। इन पुतलों में पटाखे भरे होते है। रामायण मंचन के अंत मे तीनो पुतलों का दहन किया जाता है। रावण दहन के बाद आतिशबाजी होती है।

विजयदशमी के दिन भारत में कई जगहों पर मेले का आयोजन भी किया जाता है। इस दिन खासकर बंगाल, उड़ीसा और असम के इलाकों में मां दुर्गा की प्रतिमा का विसर्जन होता है। एक बड़े जुलूस के रूप में भक्तगण देवी दुर्गा की प्रतिमा को सरोवर तक लाकर विसर्जित करते है।

भारतवर्ष में दशहरा त्यौहार को पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है लेकिन मैसूर शहर में मनाये जाने वाला दशहरा अपने आप में बहुत मशहूर है। इस दिन मैसूर के महल को भव्यता के साथ सजाया जाता है। महल में द्वीपो की पंक्तियां लगाई जाती है। पूरे शहर में हाथियों को सुसज्जित करके उनका जुलूस निकाला जाता है। दशहरा का त्यौहार बुराई पर अच्छे की जीत का प्रतीक है।

दशहरा पर निबंध (Essay On Dussehra In Hindi) में दशहरा से जुडी मान्यताओं “Importance Of Dussehra” और महत्व की जानकारी आपको कैसी लगी? अगर “Dussehra (Vijayadashami) Par Nibandh In Hindi” पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे शेयर भी करे।

यह भी पढ़े –

About the Author: Knowledge Dabba

नॉलेज डब्बा ब्लॉग टीम आपको विज्ञान, जीव जंतु, इतिहास, तकनीक, जीवनी, निबंध इत्यादि विषयों पर हिंदी में उपयोगी जानकारी देती है। हमारा पूरा प्रयास है की आपको उपरोक्त विषयों के बारे में विस्तारपूर्वक सही ज्ञान मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published.