क्रिकेट का रोचक इतिहास | History Of Cricket In Hindi

यह आर्टिकल History Of Cricket In Hindi क्रिकेट का इतिहास के बारे में है। दोस्तो आप क्रिकेट खेल के बारे में तो जानते ही होंगे या फिर आपने यह खेल बचपन में खेला जरूर होगा। आपमें से कई तो अभी भी क्रिकेट जरूर खेलते होंगे। यह खेल वेसे तो लगभग पूरी दुनिया मे खेला जाता है लेकिन साउथ एशिया में यह चरम सीमा तक लोकप्रिय है।

क्रिकेट भारत का एक लोकप्रिय खेल है। फुटबाल खेल के बाद सबसे ज्यादा लोकप्रिय खेल क्रिकेट को माना जाता है। क्रिकेट का इतिहास के बारे में गूगल पर सर्च करके आप इस पोस्ट History Of Cricket In Hindi को पढ़ रहे है तो आपको क्रिकेट में बारे में जानने का शौक होगा।

History Of Cricket In Hindi

क्रिकेट का इतिहास – History Of Cricket In Hindi

क्रिकेट (Cricket) का इतिहास रोचकता से भरा हुआ है। 16 वी सदी में यह खेल अस्तित्व में आया था। तब इस खेल को “क्रेक्केट” कहा जाता था। यह खेल शुरुआत में ऊन के गोलों को गेंद बनाकर और लकड़ी के डंडे को बेट बनाकर खेला जाता था। इस खेल का जन्मस्थान ग्रेट ब्रिटेन को माना जाता है। अंग्रेज लोग क्रिकेट को शौकिया तौर पर खेला करते थे।

इस खेल के लोकप्रिय होने के पीछे ग्रेट ब्रिटेन के औपनिवेशिक देशो को माना जाता है। ब्रिटेन की सरकार का दुनिया के जिस भी देश पर शासन रहा, वहां पर यह खेल ज्यादा लोकप्रिय हुआ। ब्रिटेन के बाहर यह खेल उत्तरी अमेरिका, वेस्टइंडीज, ऑस्ट्रेलिया, भारत में बहुत जल्द प्रसिद्ध हो गया था।

वर्ष 1990 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट संस्था का गठन किया गया जिसका नाम “इम्पीरियल क्रिकेट कॉन्फ्रेंस” रखा गया था। 1981 में इस क्रिकेट संस्था का नाम बदलकर “इंटरनेशनल क्रिकेट कॉउन्सिल” (ICC) रखा गया। विश्व क्रिकेट इसी संस्था के तत्वावधान में खेला जाता है। पहला अंतराष्ट्रीय क्रिकेट मैच वर्ष 1844 में कनाडा और यूनाइटेड स्टेट्स के बीच खेला गया था। ब्रिटिश उपनिवेश वर्जिनिया में पहला अंतराष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेला गया था। क्रिकेट खेले जाने का लिखित उल्लेख 18 वी सदी का है।

भारत में क्रिकेट का इतिहास – Indian Cricket History In Hindi

भारत में भी क्रिकेट का खेल अंग्रेज ही लाये थे। भारत भी उस समय अंग्रेजो के शासन के अधीन था। सबसे पहले भारत में वर्ष 1721 में ईस्ट इंडिया कम्पनी के नाविकों के द्वारा बड़ौदा के पास क्रिकेट खेला गया था। धीरे धीरे यह खेल पूरे भारत में लोकप्रिय हो गया। भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश में क्रिकेट के इतना ज्यादा लोकप्रिय होने की वजह भी ब्रिटेन का शासन था। भारत मे क्रिकेट क्लब की भी शुरुआत हुई और बहुत जल्द प्रथम श्रेणी का टेस्ट मैच वर्ष 1864 में चेन्नई में खेला गया।

दोस्तों, आपको शायद पता नही होगा कि भारत के पहले क्रिकेटर का नाम क्या था? आपने रणजी ट्रॉफी के बारे में तो सुना ही होगा जो हर साल खेली जाती है। रणजी ट्रॉफी जिस शख्श के नाम पर खेली जाती है, उनका नाम रणजीत सिंह था। रणजीत सिंह भारत के पहले क्रिकेटर थे। रणजीत सिंह ने अपना पहला मैच इंग्लैंड की तरफ से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 1896 में खेला था।

बतौर टीम भारत ने अपना पहला मैच सी. के. नायडू जी की कप्तानी में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था। परन्तु यह मैच भारत हार गया था। भारत को पहली जीत आजादी के बाद 1952 में इंग्लैंड के खिलाफ ही हासिल हुई। धीरे धीरे क्रिकेट भारत मे लोकप्रिय होता गया। सुनील गावस्कर, कपिल देव जैसे महान क्रिकेटर हुए जिन्होंने भारत को जीत का स्वाद चखाना शुरू किया।

क्रिकेट में भारत का योगदान

साल 1983 में भारत ने लगातार 2 बार की विश्व विजेता वेस्टइंडीज को हराकर वर्ल्डकप अपने नाम किया। इस बड़ी जीत के बाद तो भारत में क्रिकेट का सैलाब आ गया। क्रिकेट भारत में हर जगह लोकप्रिय हो गया। गली मोहल्लों तक में क्रिकेट खेला जाने लगा। भारत में क्रिकेट बीसीसीआई के तत्वावधान में खेला जाता है।

क्रिकेट (Cricket) को लोकप्रियता के चरम पर पहुचाने का श्रेय क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर को जाता है। सचिन तेंदुलकर का भारतीय क्रिकेट में आगमन विश्व क्रिकेट में एक नया अध्याय था। सचिन तेंदुलकर के साथ ही राहुल द्रविड़ और सौरव गांगुली जैसे महान क्रिकेटर हुए जिन्होंने भारत की क्रिकेट टीम को बुलन्दी पर पहुचाया।

भारत ने 2011 का विश्वकप भी अपने नाम किया। भारत की सरजमीं पर हुए इस वर्ल्डकप को जीतने का श्रेय भारतीय टीम के तत्कालीन महान कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को जाता है। धोनी भारतीय टीम के आज तक के सबसे सफल कप्तान साबित हुए थे। वर्तमान में विराट कोहली भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान है।

भारत ने दो बार विश्वकप जितने के अलावा एक बार टी 20 का विश्वकप, आई सी सी चैम्पियन्स ट्रॉफी भी जीती है। भारत में घरेलू क्रिकेट भी बहुत ज्यादा खेला जाता है। दिलीप ट्रॉफी, रणजी ट्रॉफी, ईरानी ट्रॉफी, विजय हजारे ट्रॉफी जैसे प्रमुख टूर्नामेंट भारतीय घरेलू क्रिकेट में खेले जाते है। घरेलू मैचों को प्रथम श्रेणी के मैच भी कहते है।

विश्व क्रिकेट के महान खिलाडी

विश्व क्रिकेट के महान खिलाड़ियों की बात करे तो इनमे डॉन ब्रेडमैन का नाम सबसे ऊपर आता है। ऑस्ट्रेलिया के सर डॉन ब्रेडमैन एक महान खिलाड़ी थे। इनके अलावा विव रिचर्ड, सचीन तेंदुलकर, ब्रायन लारा, शेन वॉर्न, मुथैया मुरलीधरन, वसीम अकरम, सुनील गावस्कर, राहुल द्रविड़, एलन बॉर्डर जैसे कई महान खिलाड़ियों ने भी क्रिकेट का गौरव बढ़ाया।

पहले क्रिकेट के एक ओवर में 4 गेंदे हुआ करती थी। बाद में इसको 5 गेंद और फिर 8 गेंद किया गया था। एक ओवर में 6 गेंद का नियम सन 1947 में लागू किया गया था। क्रिकेट के तीन फॉर्मेट टेस्ट, वनडे, टी 20 होते है। क्रिकेट में काफी सारे नियम होते है जिनकी जानकारी निचे दी गई पोस्ट में है।

क्रिकेट विश्वकप और टेस्ट क्रिकेट टीम्स

अंतराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत वर्ष 1877 में हुई थी। वर्तमान में अंतराष्ट्रीय टेस्ट मैच खेलने वाली टीमें – भारत, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, वेस्टइंडीज, पाकिस्तान, श्रीलंका, दक्षिण अफ्रीका, न्यूज़ीलैंड, बांग्लादेश, आयरलैंड, अफगानिस्तान और जिम्बाब्वे है।

विश्व क्रिकेट का पहला वनडे विश्वकप 1975 में खेला गया था जिसकी विजेता वेस्टइंडीज टीम थी।1979 में भी यह ट्रॉफी वेस्टइंडीज ने ही जीती थी। 1983 में वर्ल्डकप को भारत ने अपने नाम किया था। 1987 में ऑस्ट्रेलिया और 1992 में पाकिस्तान टीम ने विश्वकप जीता था। 1996 में श्रीलंका ने वर्ल्डकप जीतकर सबको चकित कर दिया था। 1999, 2003 और 2007 का विश्वकप ऑस्ट्रेलिया ने जीता था।

2011 में भारत ने धोनी की अगुवाई में विश्वकप का खिताब अपने नाम किया। वर्ष 2015 में ऑस्ट्रेलिया ने पांचवी बार विश्वकप जीता था।

अन्य खेलों का इतिहास

Note:- क्रिकेट का इतिहास History Of Cricket In Hindi और भारत में क्रिकेट का इतिहास “Indian Cricket History In Hindi” Post आपको कैसा लगा? यह पोस्ट Information And History Of Cricket In Hindi अच्छी लगी हो तो फेसबुक और ट्विटर पर शेयर जरूर करे।

About the Author: Knowledge Dabba

नॉलेज डब्बा ब्लॉग टीम आपको विज्ञान, जीव जंतु, इतिहास, तकनीक, जीवनी, निबंध इत्यादि विषयों पर हिंदी में उपयोगी जानकारी देती है। हमारा पूरा प्रयास है की आपको उपरोक्त विषयों के बारे में विस्तारपूर्वक सही ज्ञान मिले।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *