घोंघे के बारे में जानकारी Information About Snail In Hindi

Information about Snail In Hindi घोंघा के बारे में जानकारी

घोंघा Snail In Hindi एक मोलस्क प्राणी है जिसका शरीर मुलायम होता है। यह जमीन और पानी दोनों जगह पाया जाता है। जमीन पर पेड़ और पोधो पर पाया जाता है। यह समुद्र और तालाबो में भी मिलता है। घोंघा पूरी दुनिया मे पाये जाना वाले जीव है।

snail in hindi

1. घोंघा Snail के मुलायम शरीर के ऊपर एक कठोर आवरण होता है जिसे शेल कहते है। जब घोंघा को खतरा महसूस होता है तो वह अपने मुलायम शरीर को शेल में सिमट लेता है।

2. घोंघा एक रात्रिचर प्राणी है जो रात में विचरण करता है। धूप में यह अपने शरीर को खोल से बाहर नही निकालता है।

3. घोंघे के चलने की गति बहुत कम होती है। यह दुनिया के धीमी गति वाले जीवों में आते है।

4. घोंघा के शरीर के खोल का आकार अलग अलग होता है। यह सर्पिल, सपाट, गोलाकार हो सकता है।

5. घोंघा Snail के मुंह मे एक जीभ होती है जिससे वो खाने को पीसकर खाता है। इस जीभ को रेडूला कहते है। घोंघा के मुंह में जीभ के अलावा हजारो सूक्ष्म दांत होते है। इसी वजह से खेत की फसल को घोंघा नष्ट कर देते है।

6. घोंघा का जीवनकाल 5 से 10 वर्ष होता है।

घोंघे के बारे में जानकारी Snail In Hindi

7. घोंघा के सिर पर दो जोड़ी एंटीना जैसे अंग होते है जिन्हें Tentacle कहते है। बड़े जोड़े Tentacle पर घोंघे की आंख होती है। Tentacle का दूसरा जोड़ा पहले से छोटा होता है। इस पर किसी भी प्रकार की गंघ को महसूस करने के लिए ग्रन्थि होती है।

8. घोंघा का मुख्य भोजन पत्तियां और फूल होते है।

9. घोंघा Snail रेंगकर चलता है, इसके पैर होते है लेकिन ये सपाट होते है। घोंघा के पैर पर एक ग्रंथि होती है जो द्रव पर्दाथ का स्राव करती है। इससे घोंघा के लिए नीचे की तरफ फिसलन हो जाती है। इसकी वजह से घोंघा चाकू की धार पर भी चल सकता है और वो भी बिना घायल हुए।

10. घोंघे नर और मादा दोनों ही होता है। यह नर श्रुक्राणुओ और मादा अंडाणुओं का उत्पादन एक साथ करता है। लेकिन घोंगा को निषेचन के लिए साथी घोंघे की आवश्यकता होती है।

11. घोंघा Snail के शिकारी जानवर भी होते है जिनसे इन्हें खतरा होता है। इन शिकारी जानवरो में सांप, पक्षी, मेंढक होते है जो इन्हें खा जाते है।

12. 1976 में एक अफ्रीकी घोंघा मिला था जो 15 इंच लम्बा और वजन में करीब 1000 ग्राम था। इस घोंघा को जे गेरोनिमो नाम दिया गया था।

13. जमीनी घोंघा के अलावा पानी मे रहने वाले घोंघे भी होते है जो नदियों और तालाबो में मिलते है। ये घोंघे रंग में काले भूरे होते है।

14. पानी वाले घोंघे सांस लेने के लिए सतह पर आते रहते है। वेसे कुछ पानी वाले घोंघा के गिल्स होते है जिससे वो पानी के अंदर भी आसानी से सांस ले पाते है।

Note:- Information About Snail In Hindi घोंघे के बारे में जानकारी Essay On Snail In Hindi को शेयर करे और इस पोस्ट Snail In Hindi पर कमेंट करे।

यह पोस्ट भी पढ़िए –

घोडा की रोचक जानकारी

गिलहरी के बारे में जानकारी

मच्छर के बारे में जानकारी

मेंढक के बारे में जानकारी

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *