ओलंपिक खेलों का इतिहास और जानकारी History Of Olympics In Hindi

ओलंपिक Olympic में पदक जीतने का हर एक खिलाड़ी का सपना होता है। खेलो की इस महा प्रतियोगिता के बारे में इस आर्टिकल History Of Olympics In Hindi में जानेंगे। ओलंपिक को खेलो का महाकुंभ कहा जाता है जिसमे दुनिया के तमाम देश भाग लेते है।  इन खेलों का आयोजन हर 4 साल में एक बार होता है। यह एक ऐसा आयोजन होता है जिसमे अलग अलग तरह के खेलों की स्पर्धाएं होती है।

history of olympics in hindi
History Of Olympics In Hindi

History Of Olympics In Hindi ओलंपिक का इतिहास

ओलंपिक खेल प्राचीन यूनान के ओलंपिया शहर में 776 ईसा पूर्व हुआ करते थे जो ज्यूस देवता के सम्मान में आयोजित होते थे। बाद में रोम के सम्राट थियोडोसिस ने इन खेलों पर रोक लगा दी थी। आधुनिक ओलंपिक खेल प्रतियोगिता का आरंभ यूनान के एथेंस शहर में 1896 ईसवी को हुआ था। फ्रांस के बैरो पियरे डी कुबर्तिन नामक व्यक्ति को इन खेलों के पुनः आयोजन का श्रेय दिया जाता है। पहले ओलंपिक में महिलाओं की हिस्सेदारी नही थी लेकिन अगले पेरिस ओलंपिक में महिलाओं ने भी भाग लिया था।

1950 के दशक के दौरान अमेरिका और रूस की आपसी प्रतिस्पर्धा के कारण ओलम्पिक पूरी दुनिया मे लोकप्रिय हो गए थे। ओलंपिक खेल हर एक देश के लिए श्रेष्ठता साबित करने का जरिया बन गया। साल 1980 में अमेरिका और उसके मित्र राष्ट्रों ने ओलंपिक का बहिष्कार किया था और 1984 में रूस ने इन खेलों में भाग नही लिया था।

Olympic Khel Hindi Essay –

ओलम्पिक के खेलों में अमेरिका, रूस और चीन का बोलबाला रहा है। सबसे ज्यादा पदक इन्ही देशो ने जीते है अंतराष्ट्रीय ओलंपिक समिति की स्थापना 1894 ईसवी में हुई थी। इस समिति का मुख्यालय स्विट्जरलैंड में है। इसी समिति के द्वारा ओलंपिक खेलों का संचालन होता है। अंतराष्ट्रीय ओलंपिक समिति में 1 अध्यक्ष, 3 उपाध्यक्ष और 7 कार्यकारी सदस्य होते है।

1913 को ओलंपिक का ध्वज बनाया गया था। इस ध्वज को सर्वप्रथम एंटवर्प ओलंपिक में फहराया गया था। इस सफेद प्रष्टभूमि के ध्वज में 5 रिंग्स है जो घरती के 5 महाद्वीपो को दर्शाते हैं। नीला रिंग यूरोप महाद्वीप को दर्शाता है और  पीला रिंग एशिया को रिप्रेजेंट करता है। काला रंग का रिंग अफ्रीका, हरा रिंग ऑस्ट्रेलिया और लाल रिंग उत्तर और दक्षिणी अमेरिका को दर्शाता है।

ओलंपिक का मोटो यानके उद्देश्य क्या है?

लैटिन भाषा मे तीन शब्द है – Citius, Altius और Fortius इनका अर्थ क्रमशः तेज, ऊंचा और बलवान है।

ओलंपिक की मशाल फ्लेम –  ओलंपिक में मशाल प्रज्वलित करने की परंपरा की शुरुआत 1928 के एम्स्टर्डम ओलंपिक में हुई थी।

Olympic में विजेता खिलाड़ियों को तीन तरह के पदक दिए जाते है। पहले स्थान पर आने वाले खिलाड़ी को स्वर्ण पदक Gold Medal दिया जाता है। दूसरे स्थान पर रजत पदक Silver Medal और तीसरे स्थान पर कांस्य पदक Bronze Medal दिया जाता है। स्वर्ण पदक 6 ग्राम सोने से बना 60 मिलीमीटर परिधि और 3 मिलीमीटर मोटाई का पदक होता है जबकि रजत पदक चांदी का बना पदक होता है। कांस्य पदक कांसे का बना पदक होता है। History Of Olympics In Hindi

ओलंपिक खेलों में भारत का इतिहास – India In Olympics In Hindi

भारत ने वर्ष 1900 के पेरिस ओलम्पिक प्रतियोगिता में भाग लिया था, तब नॉर्मन पिट्चर्ड ने भारत की तरफ से दौड़ प्रतियोगिता में भाग लिया था और 2 रजत पदक जीते थे। India Olympic Medal List

  • वर्ष 1928 के अम्सडर्मन ओलम्पिक में भारत ने हॉकी खेल में अपना पहला स्वर्ण पदक जीता था। 1932, 1936 , 1948, 1952, 1956, 1964 और 1980 के ओलंपिक में भारत ने हॉकी के खेल में स्वर्ण पदक जीते। 1960 के रोम ओलम्पिक में भारत ने रजत पदक हॉकी में अपने नाम किया था और 1968, 1972 के ओलंपिक में कांस्य पदक भारत ने जीते थे। भारत ने हॉकी में अब तक 8 स्वर्ण, 1 रजत और 2 कांस्य पदक जीते है।
  • व्यक्तिगत स्पर्धा में पहला पदक 1952 के हेलसिंकी ओलंपिक में जीत था। केडी जाधव ने कुश्ती प्रतियोगिता में कांस्य पदक जीता था।
  • 1996 के अटलांटा ओलंपिक में लिएंडर पेस ने टेनिस में कांस्य पदक जीता था।
  • वर्ष 2000 के सिडनी ओलंपिक में कर्णम मल्लेश्वरी ने भारोत्तोलन में कांस्य जीता था।
  • 2004 के एन्थेन्स ओलंपिक में भारत की और से एकमात्र रजत पदक शूटिंग में राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने जीता था।
  • 2008 का बीजिंग ओलंपिक भारत के लिए बहुत खास रहा है क्योंकि इस ओलंपिक में भारत को पहला व्यक्तिगत स्वर्ण पदक मिला था। अभिनव बिंद्रा ने शूटिंग में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था।
  • 2012 के लन्दन ओलंपिक में भारत ने 2 रजत और 4 कांस्य पदक अपने नाम किये थे। विजय कुमार ने शूटिंग में और सुशील कुमार ने कुश्ती में रजत पदक जीता था। योगेश्वर दत्त ने कुश्ती में और गगन नारंग ने शूटिंग में कांस्य पदक जीतकर भारत का नाम रोशन किया था। मेरीकॉम ने बॉक्सिंग और साइना नेहवाल ने बैडमिंटन में कांस्य पदक जीता था।
  • 2016 के रियो ओलंपिक में भारत का प्रदर्शन निराशाजनक रहा और भारत ने केवल 2 पदक जीते। बैडमिंटन में पीवी सिंधू ने रजत पदक जीता और साक्षी मलिक ने कुश्ती में कांस्य पदक जीतकर भारत को पदक तालिका में स्थान दिलाया।

Olympic Games In Hindi ओलंपिक खेलो के बारे में जानकारी

1. ओलंपिक खेलों का टीवी पर प्रसारण 1960 के रोम ओलंपिक से हुआ था।

2. एक ही ओलम्पिक प्रतियोगिता में सर्वोधिक स्वर्ण पदक जीतने वाला खिलाड़ी माइकल फेल्प्स है जिन्होंने तैराकी की स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीते थे। फेल्प्स ने बीजिंग ओलंपिक में 8 स्वर्ण पदक अपने नाम किये थे।

3. ओलंपिक खेलों में खेलने वाली प्रथम भारतीय महिला का नाम मैरी लीला रो था।

4. रियो ओलिंपिक 2016 में 206 देशो ने भाग लिया था और इस ओलंपिक में 28 खेल शामिल थे जिसकी 306 स्पर्धाए थी।

5. ओलम्पिक खेल गर्मियों में खेले जाते है और वेसे सर्दियों में भी ओलंपिक खेले जाते है लेकिन ये इतने लोकप्रिय नही है।

6. ओलंपिक प्रतियोगिता में बॉक्सिंग, रेसिंग, कुश्ती, तैराकी, दौड़ जैसे बहुत सारे इवेंट होते है।

7. 1916, 1940 और 1944 के साल ओलंपिक का आयोजन नही हुआ था जिसका कारण प्रथम विश्वयुद्ध और द्वितीय विश्वयुद्ध था।

Note:- ओलंपिक खेलों की जानकारी और इतिहास के बारे में पढ़कर कैसा लगा और इस आर्टिकल History Of Olympics In Hindi से संबंधित कोई भी सवाल हो तो हमे बता सकते हो, अच्छा लगा हो तो इस पोस्ट Olympic Games In Hindi को शेयर करे।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *