जल ही जीवन है पर निबंध Essay On Water In Hindi

 जल ही जीवन है पर निबंध Essay On Water In Hindi

जल ही जीवन है

बहुत ही साधारण से शब्दों में बहुत बड़ी बात कही गयी है। इस पोस्ट में जल ही जीवन है पर निबंध Essay On Water In Hindi धरती पर मौजूद सभी प्राणियों के लिए जल ही जीवन है। जल Water प्रकृति का अनमोल उपहार है जिसका मोल चुका पाना सम्भव नही है। पानी के बिना कोई प्राणी जीवित नही रह पाता है। पूरे ब्रह्माण्ड में अब तक खोजे गए ग्रहों में अपनी धरती ही एकमात्र ग्रह है जिस पर पानी की मौजूदगी है इसलिये धरती पर जीवन सम्भव हो पाया है।

essay on water in hindi
Jal Hi Jeevan Hai Essay In Hindi

Information About Water In Hindi

How Water Come To Earth In Hindi –  एक थ्योरी यह भी कहती है कि धरती पर जल धरती की शुरुआत से ही है। 4.56 अरब सालो पहले धरती पर पानी आया था। जब पृथ्वी का जन्म हुआ था तब पृथ्वी बहुत गर्म थी लेकिन कालांतर में यह ठंडी हुई और इस पर पानी ठहरा।

दूसरी थ्योरी के अनुसार खगोल विज्ञानी रोबेर्तो हार्डी के अनुसार धरती पर पानी क्षुद्र ग्रहों से आया है। क्षुद्र ग्रह वेसे तो ठोस होते है लेकिन इन पर पानी मौजूद होता है। हमारी आकाशगंगा में कई क्षुद्र ग्रह है जिनमे पानी मौजूद है। हमारे सौरमंडल में भी कई क्षुद्र ग्रह है जिन पर पानी की मौजूदगी है। किसी क्षुद्र ग्रह की टक्कर धरती से हुई होगी जिससे पानी धरती पर आया होगा। Essay On Water In Hindi

सौरमंडल गैसीय फॉर्म में रहा होगा जब ऑक्सिजन के परमाणु हाइड्रोजन से टकराये तब पानी का निर्माण हुआ लेकिन धरती की सतह बहुत गर्म थी और पृथ्वी पर वायुमंडल भी नही था। इसलिये पानी वाष्प के रूप में अंतरिक्ष मे उड़ गया। सूर्य से दूर के क्षुद्र ग्रहों पर पानी बचा रह गया क्योंकि क्षुद्र ग्रह ठंडे थे।

Jal Hi Jeevan Hai Essay In Hindi

1. पेड़ और पौधो की उत्पत्ति के लिए जल ही जिम्मेदार होता है।

2. धरती पर पानी Water तीन रूपो में विद्यमान है – ठोस, तरल और गैस। पानी की तरल अवस्था को जल, ठोस अवस्था को बर्फ और गैस अवस्था को वाष्प कहते है।

3. पानी का अणु सूत्र H2O है जिसमे H हाइड्रोजन के 2 परमाणु है और O ऑक्सीजन का 1 परमाणु है। हाइड्रोजन बन्ध के कारण जल के अणु आपस में मिलते है।

4. जल एक सावत्रिक विलायक है। जल पारदर्शी होता है जिससे जलीय पौधे इसमे आसानी से पल पाते है।5. पानी के बिना जीवन की कल्पना भी नही की जा सकती है। पानी से ही जीवन की शुरुआत मानी जाती है।

6. हमारी धरती पर 71 फीसदी भूभाग में पानी है। धरती का ज्यादातर जल महासागरों और नदियों में मौजूद है लेकिन यह पानी पीने लायक नही है। यह पानी खारा है और पीने योग्य बिल्कुल भी नही है। धरती पर मीठा जल बहुत कम है और हमे इसका जरूरत के अनुसार उपयोग करना चाहिए।

7. पानी एक चक्र cycle की तहत हम तक पहुचता है। पानी समुद्र से आता है वापस नदियों की सहायता से समुद्र में चला जाता है।

Pani Ka Mahatva Essay In Hindi

8. समुद्र से पानी वाष्प बनकर (वाष्पीकरण) बादलो के रूप में धरती के भू भाग पर बारिश के रूप में बरसता है।9. अत्यधिक बारिश से बाढ़ का खतरा रहता है और कम बारिश से अकाल का खतरा रहता है।

10. मनुष्य के शारीरिक पाचन तंत्र के लिए पानी आवश्यक है और शरीर का तापमान नियंत्रण भी पानी की वजह से होता है।

11. वर्षा के बिना खेती नही हो पाती है जिससे खाद्यान्य की पैदावार नही हो पाती है।

12.  पीने का पानी शुद्ध होना चाहिए क्योंकि अशुद्ध पानी सेहत के लिए ठीक नही होता है। इसलिये दोस्तो पानी को दूषित नही करना चाहिये क्योंकि पीने लायक पानी सीमित है और धरती के नीचे का पानी भी कम हो रहा है। धरती का जलस्तर कम हो रहा है। जल प्रदूषण आज के युग की व्यापक समस्या है। इसके प्रति हमे जागरूक होना होगा।

13. दुनिया के कई देश जलसंकट से गुजर रहे है। पानी का इस्तेमाल उतना ही करना चाहिए जितना आवश्यक है। आवश्यकता से अधिक पानी बर्बाद करना गलत है।

14. और मेरे प्यारे दोस्तों दुनिया का केवल 1 फीसदी पानी ही पीने योग्य है।

जल ही जीवन है पर निबंध Essay On Water In Hindi पर जानकारी कैसी लगी और अच्छी लगी होतो शेयर जरूर करे।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *