भूकंप की जानकारी Information About Earthquake In Hindi

Information About Earthquake In Hindi भूकंप की जानकारी

भूकंप आने पर हमें तेज झटके महसूस होते है और जान और माल का बहुत नुकसान होता है।Information About Earthquake In Hindi भूकंप की जानकारी के इस आर्टिकल में भूकम्प की बात करेंगे। भूकंप एक प्राकृतिक आपदा है जिसके आने का पूर्वानुमान नही होता है।

Essay On Earthquake In Hindi भूकंप पर निबंध

Information About earthquake in hindi
Information About Earthquake In Hindi
What Is Earthquake In Hindi – हमारी धरती इनर कोर, मेंटल और आउटर कोर से बनी हुई है। मेंटल एक मोटी परत है जिन्हें टैकटोनिक प्लेट कहते है। ये टैकटोनिक प्लेट्स अपनी जगह से खिसकती रहती है। अगर ये प्लेट्स आपस में टकरा जाए तो तेज गति की तरंगें उत्पन्न होती है जिससे तेज कम्पन होता है और भूकंप आता है।
  • पृथ्वी की आंतरिक संरचना का अध्ययन करने के लिए इस आर्टिकल को पढे – Earth Information In Hindi

1. ज्वालामुखी के फटने पर भी भूकम्प के झटके आते है। जब हिरोशिमा और नागासाकी पर अमेरिका ने अणु बम गिराया था तब भी भूकम्प आया था। जब भी परमाणु परीक्षण होता है तब भूकम्प आता है।

2. भूकम्प Earthquake से भयंकर तबाही होती है जिससे इमारतें गिर पड़ती है। भूकम्प से जान और माल की हानि होती है।

 

भूकम्प की त्रीवता मापने के लिए एक यंत्र होता है जिसे रिक्टर स्केल कहते है। इस स्केल में 1 से 9 तक होता है। इस स्केल की खोज चार्ल्स रिक्टर ने की थी।
3. भूकंप के दौरान निकली ऊर्जा बहुत ज्यादा मात्रा में होती है जैसे 8 रिक्टर के भूकम्प में 60 लाख टन के बराबर ऊर्जा निकलती है।
4. भूकम्प की तीव्रता का पता भूकम्प Earthquake के केंद्र से निकली तरंगों से लगाया जाता है। इसी तरंग से भूकम्प का कम्पन उत्पन्न होता है। भूकम्प जिस जगह आता है वहा उसकी त्रीवता सबसे ज्यादा होती है और भूकंप क्षेत्र से दूर जाने पर भूकम्प की त्रीवता कम होती जाती है।
5. अगर भूकंप धरती की ज्यादा गहराई में आते है तो भूकम्प के झटके कम महसूस होते है लेकिन अगर यही भूकम्प पृथ्वी की सतह के थोड़े नीचे ही आता है तो ज्यादा तीव्रता का भूकंप होता है जिससे जान माल का काफी नुकसान होता है। भूकंप का पूर्वानुमान लगाना नामुमकिन है जिससे इसके आने पर भयंकर तबाही होती है।

Essay On Earthquake In Hindi भूकंप पर निबंध

6. भारत मे भूकंप Earthquake संभावित क्षेत्रों को चार जोन में बांटा गया है। जोन 2, जोन 3, जोन 4 और जोन 5 में बांटा गया है जिसमे से जोन 5 सबसे खतरनाक जोन है। जोन 5 में जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश के हिस्से जोन 5 में आते है और दिल्ली एनसीआर का इलाका जोन 4 में है। जोन 2 में भारत का दक्षिणी इलाका आता है जबकि जोन 3 में मध्य भारत आते है।
7. भारत के गुजरात राज्य मे 2001 में भीषण भूकम्प आ चुका है जिसमे हजारो लोग मारे गए थे। इंडोनेशिया, श्रीलंका, मलेशिया के समुद्र में आये भूकम्प से कई सौ मीटर की लहर उठी थी जिसे सुनामी कहा गया था।
8. प्रशांत महासागरीय बेल्ट भूकंप के लिहाज से सबसे ज्यादा संवेदनशील है और यहां भूकम्प ज्वालामुखी, पर्वतीय क्षेत्रों में ज्यादा आते है। इस बेल्ट में जापान, फिलीपींस, केलिफोर्निया, चिली, अलास्का जैसे क्षेत्र आते है।
9. दुनिया मे जापान देश मे सबसे ज्यादा भूकम्प Earthquake आते है जिससे जापान को भूकम्पो का देश भी कहा जाता है। जापान देश मे हर साल 1500 से ज्यादा भूकम्प आते है। जापान में भूकम्प आने का मुख्य कारण वहां ज्वालामुखी की उपस्थिति है। जापान में भूकंप से बचाव के लिए मकान लकड़ी से बनाये जाते है।
 
10. केलिफोर्निया में मकान बनाते समय एक बिल्डिंग कोड फॉलो किया जाता है जिसके अनुसार ही मकान बनता है जिससे भूकम्प के समय जान माल का नुकसान कम होता है। भूकंप का अध्ययन विज्ञान की जिस शाखा में किया जाता है उसे Seismology कहते है।
भूकंप की जानकारी Information About Earthquake In Hindi पर जानकारी आपको कैसी लगी और अच्छी लगी हो तो इसे “Essay On Earthquake In Hindi” शेयर करे।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *