गरीबी से अमीरी तक का सफ़र Motivational Success Story Of Arokiaswamy Velumani In Hindi

Motivational Success Story In Hindi

इस दुनिया मे असम्भव कुछ भी नही
हम वो सब कर सकते है जो हम सोच सकते है।

थायरोकेयर टेक्नोलॉजी Thyrocare Technology के संस्थापक और सीईओ अरोकियास्‍वामी वेलुमनी Arokiaswamy Velumani ने भी अपनी जिंदगी में ठान लिया कि असम्भव कुछ भी नही है। इनकी सफलता की कहानी भी ऐसी ही है। गरीबी में पले बढ़े वेलुमनी जी ने अपनी मेहनत के बल पर थायरोकेयर जैसी कंपनी खड़ी कर दी। आज इनकी कम्पनी का टर्नओवर करोड़ो का है। तो आइए दोस्तो Arokiaswamy Velumani की सफलता की कहानी को जानते है।
motivational success story in hindi

Motivational Success Story In Hindi – Arokiaswamy Velumani Story In Hindi

Arokiaswamy Velumani का जन्म तमिलनाडु के कोयंबटूर के एक गांव में गरीब परिवार में हुआ था और उनके पिता एक किसान थे उनके परिवार को बहुत मुश्किल से दो वक़्त की रोटी नसीब होती थी।

वेलुमनी
पढाई के लिए 6 किलोमीटर दूर पैदल चलकर स्‍कूल जाते थे। Velumani के घरवाले उन्हें पढ़ाई छोड़कर घर चलाने के लिए कुछ काम करने के लिए कहते थे लेकिन वेलुमनी कुछ अलग करना चाहते थे।

घर में पैसों की बहुत ज्यादा तंगी थी कि जब वेलुमनी ने Chemistry से Graduation किया, तो कॉलेज का एक ग्रुप फोटो खरीदने के लिए उनके पास दो रुपए तक नहीं थे। सोचिये दोस्तो इतनी तंगी होने के वावजूद उन्होंने अपनी पढ़ाई जैसे तैसे जारी रखी और सँघर्ष को अपना दोस्त बना लिया। Motivational Success Story In Hindi
Graduation करने के बाद उन्‍होंने 60 से भी ज्यादा कंपनियों में नौकरी के लिए इंटरव्‍यू दिया लेकिन हर जगह उन्हें असफलता मिली ।
इतनी असफलताओं के वावजूद वेलुमनी जी ने हार नही मानी और संघर्ष Struggle करते रहे जब तक कि उन्हें पहला Job नही मिल गया।आखिरकार हालात ने करवट बदली और उन्हें एक Capsule बनाने वाली कंपनी में नौकरी मिल गयी । इस कंपनी में उनकी सैलेरी 150 रुपये थी लेकिन कुछ समय बाद उन्‍होंने यह नौकरी छोड़ दी और मुम्बई चले गए नई उम्मीद के साथ।

Motivational Success Story Of Arokiaswamy Velumani In Hindi

मुम्बई पहुचने के बाद कई दिनों तक वो बिना नौकरी के रहे लेकिन वो कहते है ना कि सँघर्ष के बाद सफलता जरूर मिलती है। उन्‍हें भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर (बीएआरसी) में गजेटेड ऑफिसर की नौकरी मिल गई।
इसी दौरान उनकी शादी भी हो गई । उनकी पत्नी की बैंक में सरकारी नौकरी थी। Motivational Success Story In Hindi
वेलुमनी जी को भाभा एटोमिक रिसर्च सेंटर में सभी तरह की सुविधाएं मिलते थी और यह आराम की नौकरी थी लेकिन एक कहावत है दोस्तो “Comfort Zone Is Danger Zone” होता है। इसका मतलब यह है की जहाँ आपको कुछ नया चुनौतीपूर्ण कार्य करने को नही मिले तो आपका वहां से निकलना ही बेहतर होता है।

Motivational Success Story In Hindi

वेलुमनी जी ने भी यही किया और एक दिन यह जॉब छोड़ दी। जब उन्‍होंने अपनी पत्‍नी को अपने जॉब छोड़ने  और नया बिजनेस शुरू करने के बारे में बताया तो उनकी पत्‍नी ने भी उनका साथ देने के लिए अपनी नौकरी छोड़ दी। इसके बाद वेलुमनी जी ने 150 स्‍क्‍वायर फुट का गैराज किराए पर लिया और 1 लाख का निवेश करके एक रसायन लैब शुरू की और आज यह लैब 4 लाख स्‍क्‍वायर फुट में फैली हुई है।
 
वेलुमनी जी ने बाद में कंपनी को थायरोकेयर टेक्‍नॉलोजी (Thyrocare Technology) के नाम से रजिस्टर करवाया और रजिस्टर होने के पहले ही दिन कम्पनी ने 35 करोड़ का कारोबार किया। आज कंपनी के भारत में लगभग 1200 आउटलेट है और यह कंपनी पूरे भारत मे 2000 से भी ज्यादा शहरो में काम कर रही है। यह कम्पनी थायराइड टेस्टिंग Thyroid Testing का कार्य करती है।
कल तक 150 रुपये में नौकरी करने वाला यह शख्श आज अरबो रुपये का मालिक है। वेलुमनी जी को यह सफलता उनके संघर्ष से मिली है क्यों कि उन्होंने कभी हार नही मानी।
इसलिये ही तो कहते है दोस्तो की

दुनिया मे असम्भव कुछ भी नही , हम वो सब कर सकते है जो हम सोच सकते है।

दोस्तो आपको यह Motivational Success Story In Hindi Of Common Man Velumani केसी लगी, हमे जरूर बताना ।

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *