सियार एक कपटी,मक्कार और धूर्त जानवर – Knowledge and Information about Jackal In Hindi

jackal in hindi
अगर एक कपटी और धूर्त जानवर की बात आती है तो हमारे दिमाग मे सियार (Jackal) की छवि बनती है। इसको गीदड़ भी कहा जाता है। यह एक आदमखोर जानवर होता है।

सियार के बारे में जानकारी  Facts about jackal In Hindi

  • यह जानवर दिखने में बिल्कुल कुत्ते की शक्ल का होता है लेकिन बहुत चालाक Clever और तेज Fast होता है और हां ताकतवर भी बहुत होता है।
  • यह कद में कुत्ते से थोड़ा छोटा होता है।
  • इस स्वार्थी जानवर का रंग मटमैला होता है और यह सर्वभक्षी Omnibus होता है।
  • सर्दियों के दिनों में सियार Jackal को बोलते हुए सुना जा सकता है।
  • इस जानवर में ठंड सहने की अदभुत क्षमता होती है।

सियार Jackal ज्यादातर झुंडों Group में रहना पसंद करते है और अपने शिकार पर हमला एक साथ मिलजुलकर करते है। अगर कोई अकेला सियार किन्ही शिकारी जानवरो के हत्थे चढ़ जाए तो वह एक विशेष प्रकार की आवाज “खी खी” करता है। इस आवाज को सुनकर साथी सियार उसकी मदद को आ जाते है। तो यू कह सकते है कि इनमें एकता Unity की भावना होती है।

सियारो Jackal के झुंड में एक बूढ़ा सियार होता है जो उस झुंड का सर्वेसर्वा और मुखिया होता है। झुंड के बाकी सियार उस की आज्ञा का पालन करते है। अगर कोई सियार मुखिया की किसी बात को नही मानता है तो बाकी के सियार उस पर आक्रमण करके उसको मार देते है। यह कड़ा अनुशासन होता है जिसका सियार कड़ाई से पालन करते है।

सियार के बारे में आपको जानना चाहिए – Information about Jackal In Hindi

  • Jackal स्वतंत्र विचरण करने वाला प्राणी होता है परंतु बच्चे के जन्म के समय मांद बनाकर रहता है जिससे उसके बच्चे की सुरक्षा होती है।
  • सियार की आवाज बड़ी भद्दी और कर्कश होती है।
  • Jackal आसमान की तरफ देखकर चिल्लाता है।
  • जानवरो और मनुष्यों के बच्चो के रोने की आवाज पहचानने में सियार माहिर होता है। यह इन बच्चो की आवाज को सुनकर इनको उठाकर ले जाता है। यह नरभक्षी होता है।
  • सियार के पंजे गद्देदार होते है जिससे चलते समय आवाज नही होती है और ये सतर्कता के साथ अपने शिकार पर हमला कर देते है।
  • ये बड़े फुर्तीले होते है और बहुत तेज गति से भागने में सक्षम होते है।
  • इनके सूंघने की शक्ति कुत्ते जैसी तेज होती है।
  • जब कोई सियार अपने झुंड से बिछड़ जाता है तो वह दूसरे सियारो के पंजे के निशान को देखकर उन्हें ढूंढ लेता है।
  • सियार की औसत आयु 15 से 20 वर्ष होती है।

 

तो दोस्तो आपको सियार पर मेरा यह लेख Jackal in hindi कैसा लगा ,हमे जरूर बताइयेगा। और हमे subscribe करना मत भूलना …..

You May Also Like

About the Author: Knowledge Dabba

Hindi Knowledge About Science, Animals, History, Biography, Motivational Story.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *